5 किलो गेहूं, 5 किलो चावल से नहीं बचेगी लोगों की जान : पंकज डावर

5 किलो गेहूं, 5 किलो चावल से नहीं बचेगी लोगों की जान : पंकज डावर

गुरूग्राम, (मनप्रीत कौर) : कांग्रेस व्यापार सेल के चेयरमैन पंकज डावर ने हरियाणा सरकार से मांग की है कि लगातार निजी अस्पतालों में कोविड-19 पर मरीजों को लूटने का काम किया जा रहा है। हमारी मांग है कि सरकार कोविड-19 से पीड़ित लोगों को बचाने के लिए इस बीमारी का इलाज मुफ्त में करवाएं। कोई भी प्राइवेट अस्पताल हो या सरकारी अस्पताल। हर जगह इस बीमारी का इलाज मुफ्त में होना चाहिए। निजी अस्पतालों में जो भी खर्चा इलाज पर आए उस खर्चे को सरकार दे।

पंकज डावर ने कहा कि यह मांग और भी कई प्रदेश के लोग कर रहे हैं। हरियाणा में भी बहुत से ऐसे लोग रहते हैं जो इतना भी समर्थ नहीं है कि वह मौत होने के बाद संस्कार तक अपने खर्चे पर कर सकें। प्रशासन के पास ऐसे लोगों की लिस्ट भी है जिनके संस्कार का खर्चा अलग-अलग शहरों की निगम उठा रही है।

सरकार सिर्फ 5 किलो चावल और 5 किलो गेहूं पर लोगों का पेट भरना चाहती है, लेकिन इससे आम जनता को कोई भी संतुष्टि नहीं है। इस महामारी से लोगों को बचाने के लिए सरकार सख्त कदम नहीं उठा पा रही है। अब अगर सरकार जनता का थोड़ा भी भला करना चाहती है तो सभी वर्ग के लोगों का इलाज मुक्त करें। इससे निजी अस्पतालों में मरीजों के साथ हो रही लूट रुकेगी साथ ही ऐसे लोगों को भी इलाज मिल पाएगा जो लोग निजी अस्पतालों में अपने मरीजों को ले जाने मैं असमर्थ हैं। पंकज डावर ने कहा कि कोविड-19 से बचाव के नाम पर पूरे देश में लाखों करोड़ों रुपए खर्च किए जा रहे हैं।

लेकिन जनता के इलाज के नाम पर कोई खर्च नहीं हो रहा है, एक-एक शहर में तो सैकड़ों करोड़ रुपए सिर्फ सैनिटाइजेशन पर खर्च हो रहे हैं। हरियाणा सरकार के पास तो बजट भी है फिर लोगों का इलाज मुक्त क्यों नहीं किया जा रहा है।

ऐसा लगता है जैसे कि सरकार ने यहां निजी अस्पतालों को लूटने का ठेका दे रखा हो नहीं तो सरकार अब तक ऐसा कदम जरूर उठाई होती। उन्होंने सरकार में बैठे सभी मंत्रियों से भी निवेदन किया कि सभी लोग एकजुट होकर इस विषय पर विचार करें जिससे की आम इंसान की जान बचाई जा सके और उन्हें मुफ्त में इलाज मिल सके।

Leave your comment
Comment
Name
Email