विविधता में एकता का आलौकिक स्वरूप -75वां वार्षिक Nirankari Sant Samagam

Nirankari Sant Samagam

 

Viral Sach : समदृष्टि के भाव को दर्शाते हुए 75वें वार्षिक Nirankari Sant Samagam का भव्य शुभारम्भ दिनांक 16 से 20 नवम्बर तक संत निरंकारी आध्यात्मिक स्थल समालखा ग्राउंड (हरियाणा) में आयोजित होने जा रहा है।

संत समागम की तैयारिया लगभग सम्पन्नता की ओर है। 75वां वार्षिक निरंकारी संत समागम स्वंय में ऐतिहासिक एंव अनूठा है क्योंकि इन दिव्य संत समागमों की अविरल श्रृंखलाओं ने सफलतापूर्वक अपने 74 वर्ष सम्पन्न कर लिये है।

विभिन्न त्यौहारों के इस समय में सभी श्रद्धालु भक्त अपने पारिवारिक दायित्वों को निभाते हुए संत समागम सेवाओं में अपना महत्वपूर्ण योगदान दे रहे हैं। सत्गुरु माता जी भी समागम स्थल की संपूर्ण गतिविधियों का अवलोकन कर रहे हैं और उनके पावन दर्शनों की प्राप्ति कर सभी भक्तजन स्वयं को धन्य महसूस कर रहे हैं।

अपने सत्गुरु के दिव्य दर्शनों की प्राप्ति से भक्तों में भी सेवा का और अधिक उत्साह देखने को मिल रहा है। आध्यात्म के इस आलौकिक स्वरूप को देखकर ऐसा प्रतीत हो रहा है मानो जैसे समागम सेवाओं में सम्मिलित होने वाला प्रत्येक भक्त दिव्यता के वातावरण में प्रतिपल भक्तिमय हो रहा हो।

इस वर्ष के 75वें वार्षिक निरंकारी संत समागम में भारत एंव दूर देशों से अधिक से अधिक संख्या में श्रद्धालु भक्त सम्मिलित होंगे। समागम स्थल पर सत्संग पंडाल के अतिरिक्त रिहायशी टेंट भी लगाए जा रहे हैं जहाँ बाहर से आने वाले श्रद्धालु भक्तों के लिए ठहरने तथा लंगर इत्यादि की उचित व्यवस्था होगी।

साथ ही अलग-अलग मैदानों में कुछ कैन्टीनों की भी सुविधाएं दी जायेंगी जिसमें जलपान इत्यादि वस्तुएं रियायती दरों पर उपलब्ध होंगी। इसके अतिरिक्त मैंदानों में स्वच्छता पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। साथ ही पार्किग, सुरक्षा इत्यादि की भी उचित व्यस्था की जा रही है ताकि आने वाले सभी भक्तों को किसी प्रकार की कोई असुविधा न हो।

सत्संग पंडाल के आसपास संत निरंकारी मण्डल के विभिन्न विभाग, समाज कल्याण विभाग इत्यादि के कार्यालय भी होंगे। प्रकाशन विभाग की ओर से अगल-अलग स्थानों पर स्टॉल लगाए जायेंगे। इसके अतिरिक्त मिशन के इतिहास एंव सम्पूर्ण समागम के स्वरूप को निरंकारी प्रदर्शनी के मुख्य आकर्षण के रूप में दर्शाया जायेगा।

इस दिव्य संत समागम में सम्मिलित होने वाले भक्तों के लिए भारतीय रेलवे द्वारा आध्यात्मिक स्थल समालखा के निकट भोड़वाल माजरी रेलवे स्टेशन पर लगभग सभी ट्रेनों के रूकने की अनुमति दी गयी है। इस सुविधा से रेलयात्रा करने वाले भक्तगण लाभान्वित हो सकेंगे।

इस दिव्य संत समागम का उद्देश्य मानवता एंव भाईचारे की भावना को दृ़ढ़ता प्रदान करना तथा ‘रूहानियत में इंसानियत’ के महत्व को दर्शाना है जो केवल ब्रह्मानुभूति से जुड़कर ही संभव है।

Translated by Google

Viral Sach: Showing the spirit of equanimity, the grand opening of the 75th annual Nirankari Sant Samagam is going to be held from November 16 to 20 at Samalkha Ground (Haryana), the Sant Nirankari spiritual place.

The preparations for the Sant Samagam are almost towards completion. The 75th Annual Nirankari Sant Samagam is historic and unique in itself as the continuous series of these divine Sant Samagams have successfully completed their 74 years.

In this time of various festivals, all the devout devotees are making their important contribution in the Sant Samagam services while fulfilling their family obligations. Satguru Mata ji is also observing the entire activities of the meeting place and all the devotees are feeling blessed after getting her holy darshan.

With the attainment of divine darshan of their Satguru, even more enthusiasm of service is being seen among the devotees. Seeing this supernatural form of spirituality, it seems as if every devotee attending the Samagam services is getting devotional every moment in the atmosphere of divinity.

In this year’s 75th Annual Nirankari Sant Samagam, maximum number of devotees from India and far away countries will participate. Apart from the satsang pandal, residential tents are also being set up at the meeting place where there will be proper arrangements for lodging and langar etc. for the devotees coming from outside.

Along with this, some canteen facilities will also be provided in different grounds in which refreshments etc. will be available at concessional rates. Apart from this, special attention is being paid to cleanliness in the plains. Along with this, proper arrangements are also being made for parking, security etc. so that all the devotees coming there do not face any kind of inconvenience.

There will also be offices of various departments of Sant Nirankari Mandal, Social Welfare Department etc. around the Satsang pandal. Stalls will be set up at different places by the Publications Department. Apart from this, the history of the mission and the nature of the entire gathering will be shown as the main attraction of the Nirankari exhibition.

Almost all trains have been allowed to stop at Bhodwal Majri railway station near Samalkha, the spiritual place by Indian Railways, for the devotees attending this divine saint gathering. Devotees traveling by rail will be benefited by this facility.

The purpose of this Divya Sant Samagam is to strengthen the spirit of humanity and brotherhood and to show the importance of ‘humanity in spirituality’ which is possible only by connecting with Brahman realization.

Follow us on Facebook 

Read More News 

Read Previous

PC Meena – 79 करोड़ रुपए की पकड़ी बिजली चोरी और 48 करोड़ रुपए वसूले

Read Next

नतमस्तक नेता मीडिया की डुगडुगी और Ram Rahim का डंका

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular