वर्ष 2021 में निकाले गए सफाई कर्मचारियों के समर्थन में उतरी आम आदमी पार्टी

वर्ष 2021 में निकाले गए सफाई कर्मचारियों के समर्थन में उतरी आम आदमी पार्टी

Viral Sach :-  गुरुग्राम नगर निगम से वर्ष 2021 में निकाले गए सफाई कर्मियों को वापस नौकरी पर लेने की मांग को लेकर आम आदमी पार्टी ने कर्मचारियों की आवाज उठाई है। इस मांग को लेकर मंगलवार को आप के नेताओं ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नाम नगर निगम आयुक्त मुकेश कुमार आहुजा को ज्ञापन सौंपा। आम आदमी पार्टी कार्यकर्ता अभय जैन एडवोकेट, भारतीय निगम कर्मचारी यूनियन हरियाणा के प्रदेश अध्यक्ष गौरव टांक, वाल्मीकि महासभा हरियाणा के अध्यक्ष चरण सिंह देवा प्रधान, धीरज यादव, सुशीला कटारिया, सुशांत दौलताबाद, मुकेश डागर द्वारा नगर निगम आयुक्त मुकेश कुमार आहुजा को सौंपे गए ज्ञापन में कहा गया है कि ये सफाई कर्मचारी पिछले करीब तीन साल से गुरुग्राम नगर निगम में ठेकेदार के माध्यम से सेवाएं दे रहे थे। सार्इं एंटरप्राइजेज नामक फर्म ने सफाई का ठेका ले रखा है। उसके अधीन ही ये सफाईकर्मी काम कर रहे थे। गत वर्ष यानी 15 जून 2021 को जोन-1 में उक्त फर्म को सफाई का ठेका दिया गया था। कर्मचारी अपने काम को पूरी जिम्मेदारी के साथ करते आ रहे थे। इसके कुछ समय बाद ठेकेदार ने बिना कोई कारण बताए सफाई कर्मचारियों को नौकरी से हटा दिया व उनकी सेवाएं समाप्त कर दी। इस बाबत सफाईकर्मियों ने 4 अक्टूबर 2021 को नगर निगम आयुक्त गुरुग्राम को अपना मांग पत्र दिया था, जिसमें उन्हें हटाए जाने के अलावा अन्य कई मांगें भी शामिल थीं।

13 अक्टूबर 2021 को गठित की गई थी कमेटी
उस समय निगमायुक्त मुकेश कुमार आहुजा द्वारा कर्मचारियों की मांग को जायज कानूनी व तर्क संगत मानते हुए आश्वासन दिया गया था कि 10 दिन में कमेटी गठित करके उनकी मांगों को पूरा कर दिया जाएगा। इसके बाद 13 अक्टूबर 2021 को संयुक्त आयुक्त नगर निगम गुरुग्राम ने एक कमेटी का गठन करके आश्वासन दिया कि प्रार्थियों की मांगों व समस्याओं का दो दिन में स्थायी हल निकाल दिया जाएगा। इसी दिन यानी 13 अक्टूबर 2021 से लेकर आज तक छह माह के अंतराल में कर्मचारियों की मांगों व समस्याओं का संबंधित विभाग, अधिकारियों ने कोई हल नहीं निकाला। ना ही उन्हें दुबारा से काम पर लिया गया। ऐसे में इन कर्मचारियों के परिवारों की आर्थिक स्थिति काफी खराब हो चकी है। परिवार का भरण-पोषण करना मुश्किल हो गया है। क्योंकि सभी काम उनके वेतन से ही होते थे। वर्तमान में सभी कर्मचारी बेरोजगार हैं। रोटी, कपड़े के मोहताज हो गए हैं।

सात दिन के भीतर नौकरी पर लेने की मांग
आप नेताओं ने निगमायुक्त मुकेश कुमार आहुजा को ज्ञापन देकर आग्रह किया है कि नगर निगम गुरुग्राम के अधिकारियों को आदेश जारी करके कर्मचारियों को 7 दिन के भीतर नौकरी पर लिया जाए। ऐसा नहीं किया जाता है तो फिर कर्मचारी मजबूरीवश निगमायुक्त कार्यालय और आवास पर संवैधानिक अधिकारियों व कानून का पालन करते हुए शांतिपूर्वक धरना-प्रदर्शन करेंगे। आप नेताओं को निगमायुक्त ने आश्वासन दिया कि वे इस विषय पर तुरंत कार्यवाही करेंगे और जल्द ही इन कर्मचारियों को काम पर वापस लिया जाएगा।

Leave your comment
Comment
Name
Email