Politics

BJP से आप का सवाल – क्या नागरिक अस्पताल से भी जरूरी था पार्टी कार्यालय?

BJP

Viral Sach – BJP – गुरुग्राम, आम आदमी पार्टी (आप) ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) से सवाल किया है कि गुरुग्राम में विकास कार्यों का ढिंढोरा पीटने वाली भाजपा बताए कि वह अपना विकास कर रही है या शहर का।

भाजपा ने यहां गुरुग्राम-जयपुर हाइवे-48 किनारे प्राइम लोकेशन पर अपना पांच मंजिला आलीशान कार्यालय तो बहुत कम समय में पूरा कर लिया, लेकिन आम जनता के लिए नागरिक अस्पताल पर भाजपा सरकार एक कदम भी पूरा नहीं चल पाई है।

आप कार्यकर्ता अभय जैन एडवोकेट और अशोक वर्मा एडवोकेट ने गुरुग्राम के नागरिक अस्पताल और भाजपा कार्यालय को लेकर कहा है कि यह तो जनता के साथ खिलवाड़ है। शहर का यह नागरिक अस्पताल वर्ष 1975 में बनाया गया था, जिसे 44 साल बाद वर्ष 2019 में असुरक्षित घोषित किया गया।

अस्पताल के कई विभागों को सेक्टर-10 में शिफ्ट कर दिया गया। इस समय गुरुग्राम विधानसभा क्षेत्र में पीएचसी, सीएचसी को छोड़ दें तो बड़ा अस्पताल नहीं है।

सेक्टर-10 का अस्पताल बादशाहपुर विधानसभा में आता है। बात करें पुराने नागरिक अस्पताल की तो इसे नया बनाने के लिए 2019 के बाद कई बार घोषणाएं हुई। 29 नवम्बर 2020 को गुरुग्राम में मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने अस्पताल का विस्तार करके 500 बेड का बनाने की बात कही गई थी, जिसे बाद में घटाकर 400 बेड की बात कही गई।

हालांकि यहां अभी तक आधा अस्पताल तोडऩे के सिवाय कुछ नहीं हुआ है। आप नेताओं का कहना है कि यह सरकार का चुनावी जुमला था। करीब एक साल पूर्व अस्पताल को तोडऩे की शुरुआत की गई, लेकिन आज तक इसे तोड़ा नहीं गया है। क्योंकि यहां से सीटी स्कैन और एमआरआई विभाग को शिफ्ट नहीं किया गया है। स्वास्थ्य विभाग के पास इसकी शिफ्टिंग के लिए धन की कमी है, जबकि सरकार कह रही है खजाना भरा हुआ है।

जनता की अनदेखी कर रही सरकार

अब बात करें भारतीय जनता पार्टी के कार्यालय की तो इस निर्माण बहुत तेजी से किया गया है। इसके निर्माण में किसी तरह की कोई बाधा नहीं आई। रिकॉर्ड समय में पांच मंजिला बिल्डिंग खड़ी करके यहां कार्यालय शुरू कर दिया गया है।

विकास के अनेक दावे इस कार्यालय के उद्घाटन पर करके गए बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा, मुख्यमंत्री मनोहर लाल के एजेंडे में गुरुग्राम की जनता के लिए अस्पताल शामिल नहीं रहा। सरकार गुरुग्राम को आखिर मिलेनियम सिटी किस हैसियत से कह रही है।

किसी भी शहर का एक हिस्सा उसके विकासशील होने की कहानी नहीं कहती, बल्कि हर क्षेत्र में विकास हो, सुविधाएं हों, तभी हम विकास होने की बात कह सकते हैं। सरकार जनता की अनदेखी कर रही है। खास बात यह है कि बीजेपी का कोई नेता शहर की इन समस्याओं पर मुंह नहीं खोलता।

जबकि जानते सब हैं। ज्ञात रहे कि भारतीय जनता पार्टी ने दो दिन पूर्व अपने गुरू कमल नाम से कार्यालय के उद्घाटन समारोह पर भी भारी मात्रा में पैसा खर्च किया है। आप नेताओं का कहना है कि इस तरह से पानी की तरह पैसा बहाना भ्रष्टाचार कहा जा सकता है।

Aam Admi Party

Translated by Google 

Viral Sach – Gurugram, Aam Aadmi Party (AAP) has questioned the Bharatiya Janata Party (BJP) that the BJP, which has been promoting development works in Gurugram, should tell whether it is developing itself or the city.

The BJP has completed its five-storey luxurious office here in a very short time at a prime location on the Gurugram-Jaipur Highway-48, but the BJP government has not been able to complete even a single step on the civil hospital for the general public.

AAP workers Abhay Jain Advocate and Ashok Verma Advocate have said about the civil hospital and BJP office in Gurugram that this is playing with the public. This civil hospital of the city was built in the year 1975, which was declared unsafe in the year 2019 after 44 years.

Many departments of the hospital were shifted to Sector-10. Presently there is no big hospital except PHC, CHC in Gurugram assembly constituency.

Sector-10 hospital comes under Badshahpur assembly. Talk about the old civil hospital, there were several announcements after 2019 to make it new. On November 29, 2020, Chief Minister Manohar Lal had talked about expanding the hospital to 500 beds in Gurugram, which was later reduced to 400 beds.

However, nothing has happened here except breaking half the hospital. AAP leaders say that this was an election gimmick of the government. The demolition of the hospital was started about a year ago, but it has not been demolished till date. Because the CT scan and MRI department has not been shifted from here. The health department is short of funds for its shifting, while the government is saying that the coffers are full.

Government ignoring the public

Now talk about the office of Bharatiya Janata Party, this construction has been done very fast. There was no obstacle in its construction. The office has been started here by erecting a five-storey building in record time.

BJP President JP Nadda made many claims of development on the inauguration of this office, the hospital for the people of Gurugram was not included in the agenda of Chief Minister Manohar Lal. In what capacity is the government calling Gurugram the Millennium City?

One part of any city does not tell the story of its development, but there should be development and facilities in every area, only then we can talk about development. The government is ignoring the public. The special thing is that no BJP leader opens his mouth on these problems of the city.

While everyone knows. It should be known that the Bharatiya Janata Party has also spent a huge amount of money two days ago on the inauguration ceremony of the office named after its Guru Kamal. AAP leaders say that shedding money like water in this way can be called corruption.

Follow us on Facebook

Follow us on Youtube

Read More News

Shares:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *