आखिर क्यों Sec - 10A के एक परिवार पर आई पलायन करने की नौबत

आखिर क्यों Sec – 10A के एक परिवार पर आई पलायन करने की नौबत

Viral Sach :- साइबर सिटी की खाकी एक बार फिर सवालों के घेरे में है। गुरुग्राम के सेक्टर 10 A के एक निवासी का आरोप है की उनके साथ अन्याय हो रहा है। उनका कहना है की नाबालिग लड़कियों के साथ छेड़छाड़ व अभद्र टिप्पणियों व परिजनों को जान से मारने की धमकी देने के मामले में विशाल शर्मा, तरुण राठौड़, रमेश शर्मा व आशा शर्मा निवासी म0न0 1403 सेक्टर-10-A गुरुग्राम के विरुद्ध महिला थाना वेस्ट गुरुग्राम में मु0न0 166 दिनांक 16.11.2021 धारा 12 पोक्सो एक्ट व 506, 34 IPC दर्ज हुआ था। महिला थाना द्वारा दबाव में जब तफ्तीश दोषियों के पक्ष में की जाने लगी तो परिवादी ने उच्च अधिकारियों को पत्र लिखा। जिस पर इस मामले की जांच स्टेट क्राइम ब्रांच को सौंपी गई। स्टेट क्राइम ब्रांच की तफ्तीश में दोषी पाए जाने पर बार-बार बुलाने उपरांत भी विशाल शर्मा तफ्तीश में शामिल नहीं हुआ था। माननीय अदालत के आदेश पर वह इस तफ्तीश में शामिल हुआ तथा वर्तमान में यह सशर्त जमानत पर है।

पीड़ित ने जानकारी देते हुए कहा कि इस मामले में सहअभियुक्त रमेश शर्मा, आशा शर्मा व तरुण राठौड़ की भूमिका बारे तफ्तीश चल रही है। कुछ वर्ष पूर्व भी विशाल शर्मा ने टेनिस खेलने के दौरान इन्ही लड़कियों के साथ छेड़छाड़ की थी। आरोपी पक्ष गांव खांडसा के मूल निवासी होने के कारण अलग-अलग तरीके से इस मामले को वापस लेने के लिए हम पर दबाव बना रहे हैं। इनके द्वारा दी जा रही धमकियों व हरकतों से तंग आकर हमें यहां से पलायन करने तक की नौबत आ गई है।

ऐसे में पीड़ित पक्ष द्वारा न्याय की गुहार लगाई जा रही है। अब न्यायपालिका से इन्साफ कब मिल पायेगा। क्या अब साइबर सिटी की हाईटेक पुलिस के होते भी नागरिकों को सुरक्षा की भीख मांगनी होगी।

Leave your comment
Comment
Name
Email