अहीर रेजिमेंट अनिश्चितकालीन धरना दिन-68, आंदोलन को लेकर आज से शुरू होगा मोर्चा का महाअभियान

अहीर रेजिमेंट अनिश्चितकालीन धरना दिन-68, आंदोलन को लेकर आज से शुरू होगा मोर्चा का महाअभियान

Viral Sach :- मानेसर, भारतीय सेना में अहीर रेजिमेंट के गठन को लेकर चल रहे आंदोलन को लेकर संयुक्त अहीर रेजिमेंट मोर्चा आज से महाअभियान चलाएगा। अभियान के पहले चरण में प्रदेश में जिला प्रभारियों की नियुक्ति की जाएगी। इसके बाद नवनियुक्त प्रभारियों की देखरेख में जिला, ब्लॉक तथा गांव स्तर की टीमों का गठन किया जाएगा। इसके लिए मोर्चा की टीम द्वारा पूरी तैयारियां कर ली गई है। मंगलवार को खेडकीदौला में सम्पन्न हुई बैठक के बाद मोर्चा की कोर कमेटी के सदस्यों ने बताया कि अहीर रेजिमेंट के मुद्दे पर सरकार के रवैये लगता है कि आंदोलन लंबा चलेगा। इसलिए मोर्चा द्वारा ने संगठन को मजबूत करने की दिशा में काम करना शुरू कर दिया है। आगामी दिनों में पहले हरियाणा तथा इसके बाद पूरे देश में प्रदेश से गांव स्तर की टीमों के गठन का कर दिया जाएगा। इसके अलावा पूरे देश में निशुल्क सदस्यता अभियान भी चलाया जाएगा। इस अभियान के तहत  अहीर रेजिमेंट के मुद्दे पर मोर्चा की मांग को समर्थन देने वाले सर्व समाज के लोगों को शामिल किया जाएगा।

मोर्चा के सदस्यों ने बताया कि अहीर रेजिमेंट के मुद्दे पर यादव समाज एकमत है। देश के सभी यादव संगठनों से भी बातचीत की प्रक्रिया पूरी कर ली गई। मोर्चा द्वारा संगठन की मजबूती के बाद पूरे देश में एक साथ कई स्थानों पर धरने प्रदर्शन के साथ, रोड शो, तिरंगा यात्रा निकालने, टोल फ्री करने की रूपरेखा तैयार की गई है। देश के विभिन्न प्रदेशों से एक साथ संसद कूच के कार्यक्रम को भी अंतिम रूप दिया जा रहा है।

–70 वर्षो से लगातार उठती रही है अहीर रेजिमेंट की मांग

संयुक्त अहीर रेजिमेंट मोर्चा के सदस्यों ने कहा कि पिछले 70 वर्षो से यादव समाज द्वारा लगातार अहीर रेजिमेंट के गठन की मांग को उठाया जा रहा है। इसके बावजूद समाज को कामयाबी नहीं मिली। लेकिन इस बार इस मुद्दे पर यादव समाज पूरी तरह एकजुट तथा प्रतिबद्व है तथा जब तक सरकार रेजिमेंट के गठन को स्वीकृति नहीं देती, मोर्चा की अगुवाई में यादव समाज का ये संघर्ष यूं ही जारी रहेगा।

–सरकार को घेरने की बनाई रणनीति

अहीर रेजिमेंट के मुद्दे पर सरकार को घेरने व दबाव बनाने के लिए यादव बाहुल्य गांवों में रेजिमेंट की मांग का समर्थन करने वाले जनप्रतिनिधियों को ही गांव में प्रवेश करने की अनुमति दी जाएगी, चाहे वो किसी भी दल या पार्टी से संबंध रखता हो। इसके लिए गांव के प्रवेश द्वार पर बोर्ड लगाने का काम शुरू कर दिया गया है। मोर्चा के सदस्यों ने बताया कि हमारा आंदोलन विशुद्ध रूप से गैर राजनीतिक है। यादव समाज अहीर रेजिमेंट गठन की मांग को लेकर केवल अपने अधिकार व सम्मान के लिए आंदोलन कर रहा है।

Leave your comment
Comment
Name
Email