पंजाब विधानसभा में चंडीगढ़ को पंजाब स्थानांतरित करने के प्रस्ताव पर भाजपा के तेवर तल्ख

Viral Sach :- गुरुग्राम, पंजाब विधानसभा में चंडीगढ़ को पंजाब स्थानांतरित करने के प्रस्ताव पर हरियाणा भारतीय जनता पार्टी के तेवर काफी तल्ख दिखाई दे रहे हैं। प्रदेश भाजपा के मीडिया सह प्रमुख अरविंद सैनी ने इस प्रस्ताव पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए सीधे आम आदमी पार्टी को घेरा है। अरविंद सैनी ने कहा है कि चंडीगढ़ पर हरियाणा का भी उतना ही हक है, जितना पंजाब का हक है। आम आदमी पार्टी सरकार द्वारा पंजाब विधानसभा में प्रस्तुत प्रस्ताव से साफ हो गया है कि केजरीवाल और उनकी पार्टी हरियाणा का भला चाहती ही नहीं।  आम आदमी पार्टी दोहरा मापदंड अपना रही है। एक तरफ हरियाणा के लोगों को सपने दिखाकर अपने विस्तार की नाकाम कोशिश कर रही है, वहीं दूसरी तरफ पंजाब में आम आदमी पार्टी हरियाणा के खिलाफ प्रस्ताव पास कर रही है। भाजपा मीडिया सह प्रमुख ने कहा कि हरियाणा के लोगों के सामने हरियाणा के हित की झूठी बात करने वाले केजरीवाल ने एक बार भी एसवाईएल नहर पर अपना रुख साफ नहीं किया है और अब उनकी पार्टी हरियाणा से चंडीगढ़ छीनने का प्रस्ताव पास कर रही है, लेकिन केजरीवाल और भगवंत मान इसमें कामयाब नहीं होंगे। चंडीगढ़ हरियाणा और पंजाब दोनों की ही राजधानी रहेगा।

सैनी ने आरोप लगाया कि आम आदमी पार्टी के पास पंजाब के विकास के लिए कोई योजना नहीं है, इसलिए केवल ऐसे मुद्दे उठाकर जनता को गुमराह रखना चाहती है, जो कभी पूरे नहीं किए जा सकते।

अरविंद सैनी ने कहा कि पंजाब सरकार द्वारा एक दिन विशेष सत्र बुलाकर केंद्रीय सेवा लागू करने के विरोध में प्रस्‍ताव पेश करना तथा भाखड़ा ब्‍यास प्रबंधन बोर्ड में पहले वाली स्थिति बहाल की मांग करना एवं चंडीगढ़ पंजाब स्थानांतरित करने का प्रस्ताव पेश करना आम आदमी पार्टी की नीयत को साफ करता है कि वह न तो हरियाणा और ना ही हिमाचल का भला चाहती है।  भाजपा नेता ने आम आदमी पार्टी के इस दावे को भी गलत बताया कि  राज्यों के बंटवारे के समय राजधानी मूल राज्य के पास ही रहती है। अरविंद सैनी ने कहा कि आंध्र प्रदेश से बंटकर तेलंगाना बना, तो  हैदराबाद तेलंगाना को दिया गया। आज हैदराबाद तेलंगाना की राजधानी है। जबकि मूल राज्य आंध्र प्रदेश को नई राजधानी के रूप में अमरावती दिया जाना तय किया गया है।

भाजपा मीडिया सह प्रमुख ने कहा कि पंजाब सरकार गलत तथ्य के आधार पर चंडीगढ़ पर अपना दावा करने की कोशिश ना करें। चंडीगढ़ हरियाणा और पंजाब दोनों की ही राजधानी रहेगा।

Read Previous

निगमायुक्त मुकेश कुमार आहुजा ने ठोस कचरा प्रबंधन को लेकर अधिकारियों के साथ की बैठक

Read Next

राजस्थान में भारत के सबसे ऊंचे अस्पताल, आईपीडी टॉवर का उद्घाटन करेंगे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Most Popular