सीएसआर ट्रस्ट के उपाध्यक्ष Bodhraj Sikri व MLA Sudhir Singla ने किया 12 वें राष्ट्रीय नेत्र बैंक सम्मेलन का शुभारंभ

bodhraj sikri (national eye bank)

 

Viral Sach : 3 व 4 दिसंबर को आई बैंक एसोसिएशन ऑफ इंडिया, हैदराबाद और निरामया आई बैंक (आहुजा नेत्र एवं दन्त संस्थान, गुरुग्राम) द्वारा कॉर्निया एवं आई बैंकिंग पर 12वें राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन एमिटी यूनिवर्सिटी, मानेसर, गुरुग्राम में किया गया। इस सम्मेलन का शुभारंभ हरियाणा प्रांत सीएसआर ट्रस्ट के उपाध्यक्ष Bodhraj Sikri व विधायक सुधीर सिंगला ने किया।

आपको बता दें कि ईबीएआई एक तीन दशक पुराना संगठन है जोकि कोर्नियल ब्लाइंडनेस को खत्म करने के लिए काम कर रहा है और निरामया आई बैंक ने दक्षिण हरियाणा में 17 वर्षों से इस फ्लैगशिप को कायम रखा है।

प्रोद्योगिकी, प्रथाओं एवं प्रक्रियाओं के क्षेत्र में जो प्रगति हुई है, उनकी जानकारी उन लोगों तक पहुँचाने की जरूरत है जो आई केयर एंड आई बैंकिंग के कार्यों में शामिल है। ईबीएआई पिछले एक दशक से आई बैंकिंग एवं कार्निया पर राष्ट्रीय वार्षिक सम्मेलन का आयोजन कर रहा है।

इस कांफ्रेंस में देशभर के नेत्र रोग विशेषज्ञ, ऑप्टोमेट्रिस्ट, आई बैंक मैनेजर, आई बैंक काउंसेलर, आई बैंक टैक्नीशियन, प्रशासक एवं नीति निर्माता सभी सम्मिलित होते हैं।

हमारे देश में लगभग 2.1 मिलियन लोग कॉर्नियल ब्लाइंड हैं, जिनमें से 1 मिलियन बच्चे हैं, जबकि प्रति वर्ष कॉर्निया प्राप्त करने वालों की संख्या केवल 3500 ही है। यदि कुछ नहीं किया गया तो यह अंतर बढ़ता चला जायेगा और लाखों देशवासी क्यूरेबल ब्लाइंडनेस का शिकार होते रहेंगे।

 

Bodhraj sikri (National Eye bank)

 

हम आपका ध्यान हमारे देश में कॉर्निया की मांग और पूर्ति के बीच अंतर की ओर आकर्षित करना चाहते हैं।

वीरेंद्र पंकज एवं नरेंद्र आहूजा ने निरामया चैरिटेबल ट्रस्ट एवं निरामय आई बैंक के बारे में अपने विचार रखे।

इस मोके पर सुधीर सिंगला ने नेत्र दान पर बल दिया और जागरूकता अभियान की पुरज़ोर प्रार्थना की और कॉर्पोरेट से सहयोग की भी अपील की। वहाँ दूसरी और बोध राज सीकरी ने गीता जयंती के उपलक्ष्य में गीता के श्लोकों का उच्चारण कर माहौल गीतामय बना दिया।

उन्होंने कहा कि धृतराष्ट्र अंधा था और दूसरी ओर संजय के पास दिव्य दृष्टि थी। दोनों आज की कांफ्रेंस से संबंध रखते हैं। उन्होंने सरकार द्वारा किए हेल्थ केयर उद्योग पर प्रयासों का डेटा देकर बता दिया को सरकार इस विषय पर गंभीर है l

इस कॉन्फ्रेंस को 200 से भी ज्यादा डॉक्टर्स, 250-300 के लगभग डेलीगेट्स एवं 200 से भी ज्यादा फैसिलिटीज ने अटेंड किया। वहीं मनोज आहूजा, चित्रेश आहूजा इत्यादि कई लोगों ने इस कॉन्फ्रेंस में अपना पूरा सहयोग दिया एवं नॉर्थ जोन के जोनल चेयरमैन डॉ हितेंद्र आहूजा ने सभी लोगों को धन्यवाद दिया।

Translated by Google 

Viral Sach: On 3rd and 4th December, 12th National Conference on Cornea and Eye Banking was organized by Eye Bank Association of India, Hyderabad and Niramaya Eye Bank (Ahuja Eye and Dental Institute, Gurugram) at Amity University, Manesar, Gurugram. The conference was inaugurated by Vice President of Haryana Prant CSR Trust Bodhraj Sikri and MLA Sudhir Singla.

Let us tell you that EBAI is a three decade old organization working to eliminate corneal blindness and Niramaya Eye Bank has been maintaining this flagship for 17 years in South Haryana.

Advances in technology, practices and procedures need to be communicated to those involved in eye care and eye banking. EBAI has been organizing the National Annual Conference on Eye Banking and Cornea since last one decade.

Ophthalmologists, optometrists, eye bank managers, eye bank counselors, eye bank technicians, administrators and policy makers from all over the country participate in this conference.

About 2.1 million people are corneal blind in our country, out of which 1 million are children, while the number of cornea transplants per year is only 3500. If nothing is done, this gap will go on increasing and lakhs of countrymen will continue to be victims of curable blindness.

We would like to draw your kind attention to the gap between the demand and supply of corneas in our country.

Virendra Pankaj and Narendra Ahuja expressed their views about Niramaya Charitable Trust and Niramaya Eye Bank.

On this occasion, Sudhir Singla emphasized on eye donation and prayed strongly for the awareness campaign and also appealed for cooperation from the corporate. On the other hand, on the occasion of Gita Jayanti, Bodh Raj Sikri made the atmosphere lyrical by reciting the verses of Gita.

He said that Dhritarashtra was blind and Sanjaya on the other hand had divine vision. Both are related to today’s conference. He gave the data of the efforts made by the government on the health care industry and told that the government is serious on this subject.

The conference was attended by more than 200 doctors, around 250-300 delegates and more than 200 facilities. While Manoj Ahuja, Chitresh Ahuja etc. many people gave their full cooperation in this conference and Dr. Hitendra Ahuja, Zonal Chairman of North Zone thanked all the people.

Follow us on Facebook 

Read More News 

Read Previous

Sudhir Singla – आपका शहर कितना जीवंत है, नागरिक खुद सरकार को बताएं

Read Next

Gurugram में धूं धूं कर जला समस्याओं का पुतला

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular