Politics

Bodhraj Sikri – हमारी सभ्यता और परम्पराओं का समाज में जागृत होना प्रसन्नता का विषय

Bodhraj Sikri

 

Viral Sach : Bodhraj Sikri-  हिंदू नव वर्ष संवत 2080 और आने वाली राम नवमी के उपलक्ष्य में एक भव्य श्रीराम शोभायात्रा का आयोजन राम भक्तों द्वारा किया गया। यात्रा सरस्वती कुंज मारुति विहार से शुरू होकर सुशांत लोक बी ब्लॉक, सुशांत लोक सी ब्लॉक, राजपथ से पीच ट्री बिल्डिंग, व्यापार केंद्र होते हुए वापस चकरपुर में समाप्त हुई।

 

Bodhraj Sikri

 

राजपथ गेट पर भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता प्रसिद्ध उद्योगपति एवं जाने माने समाजसेवी बोध राज सीकरी ने सरपंच सतीश यादव, पार्षद अनिल आरती यादव, विष्णु खन्ना, दीपक वर्मा, संजय टंडन, राजीव छाबड़ा, सतीश खन्ना, सतीश चावला, अजय भार्गव, दिनेश भारती, संतोष, नीलम ओबरॉय और उदय एवं अन्य लोगों के साथ शोभा यात्रा का भव्य स्वागत फूल वर्षा से किया एव फल और जूस प्रसाद रूप में सभी को बाँटा।

सारा वातावरण राममय में हो गया और भक्तों ने रामधुन के ऊपर एक समा बांध दिया। पाँच सौ से अधिक लोगों ने इसमें शिरकत की जिसमें युवा महिला और सभी वर्ग के लोग बाइक पर, स्कूटर पर पैदल या फिर अपनी-अपनी कार में शोभायमान थे।

बोधराज सीकरी ने कहा कि हमारी सभ्यता और हमारी परंपराएं जाग्रत हो रही हैं यह प्रसन्नता का विषय है।

Translated by Google

Viral Sach: On the occasion of Hindu New Year Samvat 2080 and upcoming Ram Navami, a grand Shri Ram Shobhayatra was organized by Ram devotees. The journey started from Saraswati Kunj Maruti Vihar via Sushant Lok B Block, Sushant Lok C Block, Rajpath via Peach Tree Building, Business Center and ended back at Chakarpur.

At Rajpath Gate, senior leader of Bharatiya Janata Party, famous industrialist and well-known social worker Bodh Raj Sikri, Sarpanch Satish Yadav, Councilor Anil Aarti Yadav, Vishnu Khanna, Deepak Verma, Sanjay Tandon, Rajeev Chhabra, Satish Khanna, Satish Chawla, Ajay Bhargava, Dinesh Bharti, Santosh, Neelam Oberoi and Uday and others welcomed the Shobha Yatra grandly with flowers and distributed fruits and juices as prasad.

The whole atmosphere became in Ramamay and the devotees tied a sama over Ramdhun. More than five hundred people participated in it, in which young women and people of all classes were graceful on bikes, on foot on scooters or in their respective cars.

Bodhraj Sikri said that our civilization and our traditions are awakening, it is a matter of happiness.

Follow us on Facebook 

Follow us on Youtube

Read More News 

Shares:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *