Politics

Bodhraj Sikri ने किया 2 लाख हनुमान चालीसा पाठ का आँकड़ा पार

bodhraj sikri

 

Viral Sach : Bodhraj Sikri – मंगलवार 6 जून को शक्ति पीठ मंदिर, सेक्टर – 30-31, 40-41, जलवायु विहार एंड साउथ सिटी, गुरुग्राम में हनुमान चालीसा का पाठ किया गया।

गजेंद्र गोसाईं ने बोधराज सीकरी की अगुवाई में संगीतमय ढंग से हनुमान चालीसा का पाठ किया।

इस अवसर पर कुल 225 लोगों ने 21-21 बार पाठ का पठन भक्तिमय तरीके से किया।

इस प्रकार मुहिम के तहत 2 लाख की संख्या पार हुई। बोधराज सीकरी ने कहा कि हनुमान चालीसा अद्भुत और अनुकरणीय ज्ञान का भंडार है। जीवन को सार्थक और सफल करना है तो हमें हनुमान जी के आदर्श रूपी जीवन, उनकी भक्ति से शिक्षा लेनी होगी।

साथ ही इस ज्ञान के भंडार को भावी पीढ़ी को भी अवगत कराना होगा ताकि युवा संस्कारवान बन सकें और समाज सदैव सन्मार्ग की ओर अनुगमन करे।

गजेंद्र गोसाईं ने हनुमान चालीसा के पाठ को संगीत का साथ लेकर गायनमय तरीक़ा अपनाकर समा बांधा, यद्यपि उसी दिन उनकी बड़ी बहन जिनका चार दिन पूर्व निधन हुआ था उनका चौथा था l माँ सरस्वती की गजेंद्र गोसाईं पर अपार कृपा है।

बोध राज सीकरी ने हनुमान जी के साधारण जीवन के कई ज्वलंत उदाहरण दिये। जैसे राम लक्ष्मण को पहली बार मिले तो उनकी वाणी में सौम्यता थी “को तुम्ह स्यामल गौर सरीरा। क्षत्री रूप फिरहु बन बीरा“।

ऐसे ही माँ सीता को जब अपना परिचय देते हैं तो अपनी बड़ाई नहीं करते। मात्र कहते हैं “ राम दूत में मात जानकी सत्य शपथ करुणानिधान की”।

इस कार्यक्रम में आयोजक के रूप में सहयोग करने के लिए बोधराज सीकरी ने श्री पी के दत्ता (मैनेजिंग डायरेक्टर, सिस्टोपिक लेबोरेटरीज लिमिटेड), श्री दिनेश नागपाल (डायरेक्टर, अर्बन लैंड मैनेजमेंट रेवाड़ी, श्री नरेंद्र यादव (अध्यक्ष, गुरुग्राम होम डेवलपर्स एसोसिएशन) का विशेष रूप से आभार प्रकट किया। जिन्होंने श्रद्धा भाव से आयोजन किया और उसके उपरांत श्री सुंदर भोजन प्रसाद की व्यवस्था भी की।

मंदिर के तीन पंडितों ने पूरा सहयोग दिया। मंदिर के प्रधान श्री एन.सी गुप्ता की जितनी प्रशंसा की जाए उतनी कम है। यह बात बोधराज सीकरी ने कही।

गणमान्य व्यक्तियों में पँडित भीम दत्त, ओमप्रकाश कथूरिया, सी.बी मनचंदा, एस.के खुल्लर, अशोक आर्या, रामलाल ग्रोवर, धर्मेंद्र बजाज, रमेश कामरा, ओ.पी चुटानी, सुभाष गांधी, सुभाष नागपाल, रवि मनोचा, अनिल कुमार के एल डुडेजा, सुभाष गांधी, किशोरी लाल डुडेजा, वासुदेव ग्रोवर, जय दयाल कुमार, नरेश चावला, संजय तनेजा, ओमप्रकाश गाबा, सुभाष पाहवा, सी.एल शर्मा, रमेश मुंजाल, सुरेश सीकरी, ज्योत्स्ना बजाज, रचना बजाज, डॉ. अलका शर्मा एस्ट्रोलॉजर, आशा बजाज, कांता मक्कड़, सीमा मनोचा, इंदु भूटानी व अन्य जन उपस्थित रहे।

इसके अतिरिक्त चार दिन पूर्व पंजाबी बिरादरी की ओर से एक बस हरिद्वार तीर्थ यात्रा पर भेजी गई थी। उसमें 46 यात्री थे। सभी यात्रियों ने 52 बार हनुमान चालीसा का पाठ किया। इसके अतिरिक्त जामपुर शिव मंदिर ईस्ट ऑफ कैलाश में चालीस लोगों ने पाँच-पाँच बार बोधराज सीकरी के आवाहन पर पाठ किया।

पिछले सप्ताह तक 192600 पाठ हो चुके थे। यात्रियों द्वारा 2392 पाठ हुए। जामपुर शिव मंदिर में 200 पाठ हुए। दो योगाचार्य ने भी सुबह मंगलवार योग के बाद हनुमान चालीसा का पाठ करवाया। हनुमान चालीसा पाठ की कुल संख्या 200000 पार कर गई।

Translated by Google

Viral Sach : Bodhraj Sikri – On Tuesday 6th June Hanuman Chalisa was recited at Shakti Peeth Mandir, Sector – 30-31, 40-41, Jalvayu Vihar and South City, Gurugram.

Gajendra Gosain recited Hanuman Chalisa in a musical manner under the leadership of Bodhraj Sikri.

On this occasion, a total of 225 people read the text 21-21 times in a devotional manner.

In this way, the number of 2 lakhs was crossed under the campaign. Bodhraj Sikri said that Hanuman Chalisa is a wonderful and exemplary store of knowledge. If we want to make life meaningful and successful, then we have to take lessons from Hanuman ji’s ideal life and his devotion.

Along with this, this store of knowledge will also have to be made known to the future generation so that the youth can become cultured and the society always follows the right path.

Gajendra Gosain recited Hanuman Chalisa with music in a melodious manner, although on the same day his elder sister who died four days earlier had a fourth birthday. Maa Saraswati has immense blessings on Gajendra Gosain.

Bodh Raj Sikri gave many vivid examples of the simple life of Hanuman ji. As Ram met Laxman for the first time, there was gentleness in his speech “Ko Tumh Syamal Gaur Sarira. Kshatri Roop Firhu Ban Bira”.

Similarly, when they introduce themselves to Mother Sita, they don’t brag about themselves. It is only said, “Ram doot mein Mat Janaki Satya Shapath Karunanidhan ki”.

Bodhraj Sikri thanked Mr. PK Dutta (Managing Director, Systopic Laboratories Ltd.), Mr. Dinesh Nagpal (Director, Urban Land Management Rewari), Mr. Narendra Yadav (President, Gurugram Home Developers Association) for their cooperation as organizers of the event. Expressed special gratitude to those who organized the event with devotion and after that arranged for Shri Sundar Bhojan Prasad.

The three pundits of the temple gave full cooperation. The head of the temple Shri NC Gupta cannot be praised enough. Bodhraj Sikri said this.

Among the dignitaries were Pandit Bhim Dutt, Omprakash Kathuria, C.B. Manchanda, S.K. Khullar, Ashok Arya, Ramlal Grover, Dharmendra Bajaj, Ramesh Kamra, O.P. Chutani, Subhash Gandhi, Subhash Nagpal, Ravi Manocha, Anil Kumar K.L. Dudeja, Subhash Gandhi, Kishori Lal Dudeja, Vasudev Grover, Jai Dayal Kumar, Naresh Chawla, Sanjay Taneja, Omprakash Gaba, Subhash Pahwa, C.L Sharma, Ramesh Munjal, Suresh Sikri, Jyotsna Bajaj, Rachna Bajaj, Dr. Alka Sharma Astrologer , Asha Bajaj, Kanta Makkar, Seema Manocha, Indu Bhutani and others were present.

Apart from this, four days ago, a bus was sent on behalf of the Punjabi fraternity on pilgrimage to Haridwar. There were 46 passengers in it. All the passengers recited Hanuman Chalisa 52 times. Apart from this, forty people recited five times each on the call of Bodhraj Sikri in the Jampur Shiv Temple East of Kailash.

Till last week 192600 lessons were done. 2392 lessons were done by the passengers. 200 lessons took place in Jampur Shiv Mandir. Two Yogacharyas also got Hanuman Chalisa recited in the morning after Tuesday’s Yoga. The total number of Hanuman Chalisa recitation crossed 200000.

Follow us on Facebook 

Follow us on Youtube

Read More News

Shares:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *