Politics

Bodhraj Sikri – हनुमान चालीसा पाठ की मुहिम ने पार किया 3 लाख 66 हजार का आंकड़ा

bodhraj sikri

 

Viral Sach : Bodhraj Sikri द्वारा चलाई जा रही हनुमान चालीसा पाठ की मुहिम नए रंग और नए रुप मे प्रस्तुत हो रही है। कल मंगलवार दिनांक 3 अक्टूबर को श्री जगदीश बंसल, जो एक जाने माने औषध उद्योग निर्माता हैं, ने यजमान के नाते शक्ति पीठ मंदिर सेक्टर 40 में भव्य आयोजन किया, जिसमें न केवल संख्या के दृष्टिकोण से नए कीर्तिमान स्थापित हुए बल्कि आधे से ज्यादा लोग पुराने गुरुग्राम से बोधराज सीकरी के वक्तव्य को सुनने के लिए उत्सुक थे।

जैसा कि प्रथा चली आ रही है पिछले सात महीने और 12 दिन से निरन्तर हर मंगलवार को किसी न किसी स्थान पर 21 बार हनुमान चालीसा का पाठ पढ़ा जा रहा है।

इसके फलस्वरूप अभी तक 3 लाख 57 हजार 823 पाठ, 25860 श्रद्धालुओं द्वारा 130 स्थानों पर किये जा चुके हैं। कल की संख्या को यदि जोड़ा जाए तो साधकों की ये संख्या 26 हजार पार कर गई है। कल के कार्यक्रम में 400 से अधिक श्रद्धालुओं, भक्तजनों ने हिस्सा लिया। बड़े प्रेमपूर्वक श्री गजेंद्र गोसाई द्वारा संगीतमय तरीके से जोश के साथ गाये गए हनुमान चालीसा पाठ का आनंद उठाया और इसमें सहयोग दिया श्री दमन दीवान ने।

21 बार पाठ होने के उपरांत बोधराज सीकरी ने सर्वप्रथम उपस्थित युवा पीढ़ी को बताया कि पितृ पक्ष चल रहा है। पितृ पक्ष को श्राद्ध पक्ष भी कहते हैं। और उन्होंने युवाओं को बताया कि यह कोई गलत परिपाटी नहीं है। प्रश्न यह उठता है कि आप इसको किस तरीके से मनाते हो l

ये 15 दिन हमारे ऋषि मुनियों ने, हमारे विप्र गणों ने, हमारे पूर्वजों को याद करने के लिए, उनके द्वारा किये गए अच्छे कर्मों की चर्चा करने के लिए बनाए हैं। क्योंकि जो युवा अपने भूतकाल को भूल जाता है उसका भविष्य कभी भी उज्ज्वल नहीं हो सकता। उन्होंने बताया कि श्राद्ध का मतलब श्रद्धा से है। जो भी आप काम करें, चाहे यज्ञ करें, चाहे अनुष्ठान करें, चाहे ब्राह्मण को बुलाकर कर्मकांड द्वारा कुछ भी करें दल, लेकिन करें अवश्य ताकि हम अपने पूर्वजों श्रद्धासुमन अर्पित कर पाएं।

 

bodhraj sikri

 

इसके बाद बोधराज सीकरी ने जो हनुमान चालीसा का पहला शब्द है “श्री गुरु” उसके ऊपर बड़ी विस्तारपूर्वक चर्चा की और वहां बैठे युवाओं को इसका अभिप्राय भी बताया।

हनुमान चालीसा पाठ के कई रहस्यों को उजागर किया और तुलसी कृत रामायण श्री रामचरितमानस उसका नाम मानस क्यों रखा, उसकी भी चर्चा की और बल दिया कि हमें हनुमान चालीसा बोलने की बजाय पढ़ना चाहिए , क्योंकि तुलसीदास ने बड़े स्पष्ट शब्दों में हनुमान चालीसा पाठ में लिखा है कि “जो यह पढ़े हनुमान चालीसा” इसमें पढ़ने का बल दिया है ताकि व्यक्ति का मन एकाग्र रहे और ग्रंथ की तरफ रहे, मन इधर उधर न भटके।

इस प्रकार कई प्रकार के और अन्य उदाहरण भी दिए जिससे लोगों का मन गद्गद हो गया। अंत में गोसाई जी ने जो आखिरी हनुमान चालीसा की चौपाई का पाठ था, उसको नृत्य के माध्यम से लोगों को प्रेरित किया। पूरा का पूरा मंदिर नृत्य के माहौल में ऐसे रंगमय हो गया कि जैसे वृंदावन की होली खेली जा रही है। लोगों में उत्साह था, श्रद्धा थी, भाव था और प्रेम व समर्पण था l

बोधराज सीकरी ने घोषणा की कि आने वाली 17 तारीख़ मंगलवार पालम विहार, जे. ब्लॉक, श्री शेखर तनेजा और उनके सहयोगियों द्वारा वहां पर एक भव्य आयोजन किया जाएगा, जिसमें हनुमान चालीसा पाठ के साथ-साथ बहन डॉ. सुधा यादव के जन्मदिन का आयोजन भी किया जाएगा। बोध राज सीकरी की प्रार्थना को बहन सुधा यादव जी ने अपनी स्वीकृति दे दी है और वे उसने भाग लेंगी।

 

bodhraj sikri

 

131 वें स्थान शक्ति पीठ मंदिर में हुए पाठ को मिलाकर 366223 पाठ 26260 साधकों द्वारा हुए हैं। इसके अतिरिक्त जामपुर शिव मंदिर ईस्ट ऑफ कैलाश में कल शाम को बोधराज सीकरी की अगुवाई में 50 लोगों ने 5-5 बार हनुमान चालीसा पाठ किए।

इस प्रकार मुहिम के तहत अब तक कुल 366473 हो चुके हैं। यह पाठ कुल 26310 साधकों द्वारा किया गया है।

गणमान्य व्यक्तियों में श्री तिलक मेहता, डॉ. सुधा यादव की बिटिया सौम्या जैन, दामाद अतीक जैन, श्रीमती पूनम जुनेजा पत्नी श्री रमेश जुनेजा ( श्मैनकाइंड फार्मा), राम लाल ग्रोवर, श्री धर्मिंदर बजाज , गंगागिरी कुटिया बसई रोड की पूरी टीम, सुभाष अरोड़ा, संजय टन्डन, युधिष्ठिर अलमादी, रमेश मुंजाल, राजीव छाबड़ा, अजय भार्गव, विनय वर्मा, चांद आहूजा, जसवंत चौहान, मोहित वत्स, रमेश चुटानी, सुभाष नागपाल, सुभाष गांधी, रमेश कुमार, रमेश कामरा, पॉवेल गर्ग, संजय खुराना, रवि मनोचा, पी.एन सिंह, राजपाल आहूजा, राजेश गाबा, सुखदेव, भावेश गर्ग, सुनील आहूजा, राजेश मदान, शेखर तनेजा, सुभाष अरोड़ा, संजय पुलाना, गिरीश सरदाना उपस्थित रहे।

इसके अतिरिक्त महिला वर्ग में श्रीमती सुरेश सीकरी, ज्योत्सना बजाज, मीनू छाबड़ा, नीलिमा मिश्रा, श्रीमती ऊष्मा सचदेवा, श्रीमती मोनिका स्वामी, श्रीमती पॉवेल, श्रीमती कुकरेजा, निशा मोंगिया, श्रीमती विजय अरोड़ा, श्रीमती कुकरेजा, रीटा रानी, सीमा कपूर, कविता शर्मा, सुषमा अरोड़ा मौजूद रहीं।

Translated by Google

Viral Sach: The Hanuman Chalisa recitation campaign being run by Bodhraj Sikri is being presented in a new color and new form. Yesterday on Tuesday, 3rd October, Shri Jagdish Bansal, a well-known pharmaceutical manufacturer, organized a grand event as the host at Shakti Peetha Temple, Sector 40, in which not only new records were established in terms of numbers but more than half of the old ones were Bodhraj from Gurugram was eager to hear Sikri’s statement.

As is the tradition, Hanuman Chalisa is being recited 21 times at some place or the other on every Tuesday for the last seven months and 12 days.

As a result, so far 3 lakh 57 thousand 823 lessons have been done by 25860 devotees at 130 places. If yesterday’s numbers are added, the number of seekers has crossed 26 thousand. More than 400 devotees participated in yesterday’s program. Enjoyed the recitation of Hanuman Chalisa sung with great enthusiasm in a musical manner by Shri Gajendra Gosai and was assisted by Shri Daman Dewan.

After reciting 21 times, Bodhraj Sikri first told the young generation present that Pitru Paksha is going on. Pitru Paksha is also called Shraddha Paksha. And he told the youth that this is not a wrong practice. The question arises that how do you celebrate it?

These 15 days have been created by our sages and our Vipra Ganas to remember our ancestors and discuss the good deeds done by them. Because the future of the youth who forgets his past can never be bright. He told that Shraddha means reverence. Whatever work you do, whether you perform a Yagya, whether you perform rituals, or call a Brahmin, or do anything through rituals, you must do it so that we can pay homage to our ancestors.

After this, Bodhraj Sikri discussed in detail the first word of Hanuman Chalisa, “Shri Guru” and also explained its meaning to the youth sitting there.

Revealed many secrets of Hanuman Chalisa text and also discussed why Tulsi’s Ramayan Shri Ramcharitmanas was named Manas and stressed that we should read Hanuman Chalisa instead of speaking, because Tulsidas wrote in very clear words in Hanuman Chalisa text. It is said that “Whoever reads this Hanuman Chalisa” has emphasized on reading it so that the person’s mind remains concentrated and towards the book, the mind does not wander here and there.

In this way, many other types of examples were also given which made people happy. In the end, Gosai ji inspired the people through dance while reciting the last quatrain of Hanuman Chalisa. The entire temple became colorful in the atmosphere of dance as if Holi of Vrindavan was being played. There was enthusiasm, faith, emotion and love and dedication among the people.

Bodhraj Sikri announced that on the coming 17th Tuesday, Palam Vihar, J. Block, Shri Shekhar Taneja and his colleagues will organize a grand event there, in which along with Hanuman Chalisa recitation, the birthday of sister Dr. Sudha Yadav will also be celebrated. Sister Sudha Yadav has given her approval to Bodh Raj Sikri’s request and she will participate.

Including the recitation done in 131st place Shakti Peeth temple, 366223 recitations were done by 26260 seekers. Apart from this, yesterday evening in Jampur Shiv Mandir East of Kailash, 50 people under the leadership of Bodhraj Sikri recited Hanuman Chalisa 5 times each.

Thus, till now a total of 366473 have been registered under the campaign. This lesson has been done by a total of 26310 seekers.

Dignitaries included Mr. Tilak Mehta, Dr. Sudha Yadav’s daughter Soumya Jain, son-in-law Atiq Jain, Mrs. Poonam Juneja wife of Mr. Ramesh Juneja (Schmannkind Pharma), Ram Lal Grover, Mr. Dharminder Bajaj, entire team of Gangagiri Kutiya Basai Road, Subhash Arora. , Sanjay Tandon, Yudhishthir Almadi, Ramesh Munjal, Rajiv Chhabra, Ajay Bhargava, Vinay Verma, Chand Ahuja, Jaswant Chauhan, Mohit Vats, Ramesh Chutani, Subhash Nagpal, Subhash Gandhi, Ramesh Kumar, Ramesh Kamra, Powell Garg, Sanjay Khurana, Ravi Manocha, PN Singh, Rajpal Ahuja, Rajesh Gaba, Sukhdev, Bhavesh Garg, Sunil Ahuja, Rajesh Madan, Shekhar Taneja, Subhash Arora, Sanjay Pulana, Girish Sardana were present.

Apart from this, in the women’s category, Mrs. Suresh Sikri, Jyotsna Bajaj, Meenu Chhabra, Neelima Mishra, Mrs. Ushma Sachdeva, Mrs. Monica Swamy, Mrs. Powell, Mrs. Kukreja, Nisha Mongia, Mrs. Vijay Arora, Mrs. Kukreja, Rita Rani, Seema Kapoor, Kavita Sharma. , Sushma Arora was present.

Follow us on Facebook 

Follow us on Youtube

Read More News

Shares:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *