Politics

Bodhraj Sikri – भारतीय संस्कृति, परम्परा एवं उत्सवों को विशालतम और भव्य तरीके से मनाना चाहिए

Bodhraj Sikri

 

Viral Sach : श्री श्याम जी मंदिर, न्यू कॉलोनी (गुरुग्राम) जिसके प्रधान Bodhraj Sikri ख़ुद हैं, श्री माता वैष्णों देवी दरबार, गढ़ी हरसरू(गुरुग्राम) श्रद्धेय पूनम माता द्वारा संचालित एवं फ्लायर पार्क, सुशांत लोक, सी-ब्लाक, गुरुग्राम ने सामूहिक हनुमान चालीसा का पाठ किया।

श्री श्याम जी मंदिर, न्यू कॉलोनी (गुरुग्राम) में लगभग चार सो तीस लोग इस महान यज्ञ में आहुति देने के लिए उपस्थित हुए, जिसमें लगभग 200 विप्रवर (ब्राह्मण) भी इस आध्यात्मिक कार्य हेतु विराजमान थे।

जी. एन. गोसाईं ने व्यास गद्दी से लय और ताल के मिश्रण के साथ श्री हनुमान चालीसा के पठन का शुभारम्भ किया, तदोपरांत सभी ने सामूहिक रूप से एक स्वर में इस महानतम चालीस चौपाइयों के ग्रन्थ का 21 बार पाठ किया।

समापन पर बोधराज सीकरी ने हनुमान चालीसा के अन्दर छुपे गूढ़ रहस्यों को उजागर भी किया।

उनके कथनानुसार हनुमान चालीसा में 5 स्थानों पर “जय” शब्द आता है। उसकी व्याख्या करते हुए उन्होंने कहा कि उसमें किस व्यक्तित्व की जय हो रही है, जैसे जिसका अपनी इन्द्रियों पर वश है, जो ज्ञान का भंडार है, जो अपनी इच्छाओं को सीमित रखता है इत्यादि की जय-जयकार होती है।

जहाँ चार सो के करीब विप्रवर और साधकों की श्याम मंदिर में उपस्थिति रही, वहीं पूनम माता द्वारा संचालित वैष्णो देवी दरबार गढ़ी हर सरु में 90 साधक हनुमान चालीसा का पठन करने के लिए उपस्थित रहे, जिन्होंने सात-सात बार पाठ किया और प्रात: 7:30 बजे फ्लायर पार्क, सी-ब्लाक, सुशांत लोक, गुरुग्राम में 35 महिला एवं पुरुषों ने सामूहिक रूप में 7-7 बार पाठ पढ़ा यानि कि 251 बार।

इस प्रकार 3 स्थानों पर कुल 555 से अधिक साधक एकत्रित हुए और सबने मिलकर सामूहिक रूप से 10000 से अधिक बार पाठ पढ़ा।

बोध राज सीकरी के कथनानुसार हमें अपनी भारतीय संस्कृति, परम्परा, कर्म-कांड एवं उत्सवों को विशालतम और भव्य तरीके से मनाना चाहिए ताकि हमारी युवा पीढ़ी एक तरफ संस्कारवान बने वहीं हमारी पुरातन सनातन वैदिक परम्पराओं को भी सदा स्मरण रखे।

बोध राज सीकरी के कथनानुसार उनका प्रयास रहेगा कि आने वाले दिनों में वें कुछ और मंदिरों में भी इस प्रकार का भव्य आयोजन करें ताकि सकारात्मक ऊर्जा का सन्देश युवा पीढ़ी को दिया जा सके।

इसी कड़ी में अगले मंगलवार शिव मंदिर, कृष्णा कॉलोनी में एक आयोजन होगा जिसका समन्वय धमेंद्र बजाज और उनकी पत्नी ज्योत्सना बजाज करेंगी।

इस दौरान श्याम मंदिर की ओर से रणधीर टंडन, अश्वनी वर्मा, सुभाष ग्रोवर, मदन सतीजा, वीरेंद्र आहूजा, जगदीश रखेजा, तिलक चानना, छाबड़ा जी, राजेश शर्मा, दारा बुधिराजा, लीलू बुधिराजा, सतपाल नासा, गजेंद्र गोसाई, अशोक सीकरी, सहगल और बबलू आदि उपस्थित रहे। महिला प्रकोष्ठ की ओर से पूजा खेत्रपाल और पुष्पा नासा अपनी टीम के साथ उपस्थित रहे।

पंजाबी बिरादरी की ओर से ओमप्रकाश कथूरिया, रामलाल ग्रोवर, राज कुमार कथूरिया, धमेंद्र बजाज, रमेश कामरा, अर्जुन कालरा, रमेश कुमार, उमेश ग्रोवर, अर्जुन नासा, नरिंदर कथूरिया, विजय वर्मा, सतीश वर्मा, गुलशन, ज्योत्सना, ज्योति वर्मा, शशि बजाज, रुचि बजाज, सुरेश सीकरी, शील सीकरी, सोनिया सचदेव, विनु छाबड़ा, ज्योति अग्रवाल, मलिक मोहन गान्धी, राज पाल नासा, सुदर्शन बजाज, रमेश कुमार “कुमार” आदि उपस्थित रहे। माँ वैष्णोदेवी दरबार गढ़ी हर सरु का समन्वय डॉक्टर अलका बधबार शर्मा ने किया।

इस भक्तिमय परिवेश में जन-जन के मन ने दिव्य और अलौकिक अनुभूति प्राप्त की।

Translated by Google

Viral Sach: Shree Shyam Ji Mandir, New Colony (Gurugram) headed by Bodhraj Sikri himself, Shree Mata Vaishno Devi Darbar, Garhi Harsaru (Gurugram) run by Reverend Poonam Mata and Flyer Park, Sushant Lok, C-Block, Gurugram organized collectively Recited Hanuman Chalisa.

About four hundred and thirty people attended the great sacrifice at Shri Shyam Ji Mandir, New Colony (Gurugram), in which about 200 Vipravars (Brahmins) were also seated for this spiritual work.

Yes. N. Gosain started the recitation of Shri Hanuman Chalisa from the Vyas Gaddi with a mixture of rhythm and rhythm, after which everyone collectively recited this greatest forty four-legged book 21 times in one voice.

At the end, Bodhraj Sikri also revealed the deep secrets hidden inside Hanuman Chalisa.

According to his statement, the word “Jai” appears at 5 places in Hanuman Chalisa. Explaining it, he said that which personality is being praised in it, such as the one who has control over his senses, who is the storehouse of knowledge, who keeps his desires in check, etc.

Where around 400 Vipravars and Sadhaks were present in the Shyam Mandir, 90 Sadhaks were present in Vaishno Devi Darbar Garhi Har Saru, run by Poonam Mata, to recite Hanuman Chalisa, who recited it seven times and ended at 7 in the morning. :35 o’clock at Flyer Park, C-Block, Sushant Lok, Gurugram, 35 women and men collectively read the lesson 7-7 times i.e. 251 times.

In this way more than 555 sadhaks gathered at 3 places and together they read the lesson more than 10000 times.

According to the statement of Bodh Raj Sikri, we should celebrate our Indian culture, tradition, rituals and festivals in the biggest and grandest way so that our young generation on the one hand becomes cultured and on the other hand always remembers our ancient Sanatan Vedic traditions.

According to the statement of Bodh Raj Sikri, it will be his endeavor to organize such a grand event in some more temples in the coming days so that the message of positive energy can be given to the young generation.

In this episode, next Tuesday, an event will be held at Shiv Mandir, Krishna Colony, which will be coordinated by Dharmendra Bajaj and his wife Jyotsna Bajaj.

During this, Randhir Tandon, Ashwani Verma, Subhash Grover, Madan Satija, Virendra Ahuja, Jagdish Rakheja, Tilak Channa, Chhabra ji, Rajesh Sharma, Dara Budhiraja, Leelu Budhiraja, Satpal Nasa, Gajendra Gosai, Ashok Sikri, Sehgal from Shyam Mandir. And Bablu etc. were present. Pooja Khetrapal and Pushpa Nasa along with their team were present on behalf of Women’s Cell.

Omprakash Kathuria, Ramlal Grover, Raj Kumar Kathuria, Dharmendra Bajaj, Ramesh Kamra, Arjun Kalra, Ramesh Kumar, Umesh Grover, Arjun Nasa, Narinder Kathuria, Vijay Verma, Satish Verma, Gulshan, Jyotsna, Jyoti Verma, Shashi on behalf of the Punjabi community. Bajaj, Ruchi Bajaj, Suresh Sikri, Sheel Sikri, Sonia Sachdev, Vinu Chhabra, Jyoti Agarwal, Malik Mohan Gandhi, Raj Pal Nasa, Sudarshan Bajaj, Ramesh Kumar “Kumar” etc were present. Dr. Alka Badhbar Sharma coordinated Maa Vaishnodevi Darbar Garhi Har Saru.

In this devotional environment, people’s mind got divine and supernatural feeling.

Follow us on Facebook 

Read More News 

Shares:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *