Politics

Bodhraj Sikri – हनुमान चालीसा पाठ का पुण्य देवता जी को अर्पण

bodhraj sikri

 

Viral Sach : Bodhraj Sikri – मंगलवार 30 मई दोपहर तीन बजे से साढ़े पाँच बजे के बीच में परम श्रद्धेय “देवता जी” महाराज, जो बालाजी मंदिर शिवाजी नगर, गुरुग्राम की संयोजिका थी और हनुमान जी की अनन्य भगत थी, की तेरहवीं और प्रार्थना सभा, आशीर्वाद गार्डन, ज्योति पार्क, न्यू कॉलोनी गुरुग्राम, में दो हज़ार से अधिक लोगों ने सम्मिलित होकर महान विभूति को भाव-भीनी श्रद्धांजलि दी। श्रद्धाजंलि उपरांत सभी ने सामूहिक श्री हनुमान चालीसा का तीन बार पाठ किया।

संत समाज भी मंच पर उपस्थित रहा जिनमें जाने-माने संत शिरोमणि डॉ.स्वामी विवेकानंद जी महाराज, परमाध्यक्ष, भगवत धाम हरिद्वार, स्वामी रविन्द्रानन्द जी महाराज भगवत धाम हरिद्वार, स्वामी रूप नारायण दास चित्रकूट, पूजनीय विनोद वैद गोसाईं गोपीनाथ मंदिर गुरुग्राम, श्रद्धेय पूनम माता जी माँ वैष्णो दरबार, गढ़ी हरसरू, डॉक्टर अलका शर्मा जानी-मानी ज्योतिषाचार्य और वास्तुकार, (पूनम माता जी की बेटी), हरिधाम मंदिर श्री मेहंदीपुर बालाजी, रूद्रपुर के संस्थापक श्री मनीष जी महाराज, आर्य प्रतिनिधि सभा हरियाणा के संरक्षक श्री कन्हैया लाल आर्य, केंद्रीय श्री सनातन धर्म सभा गुरुग्राम के प्रधान सुरेंद्र खुल्लर, देव राज आहूजा, बाल कृष्ण खत्री आदि के साथ उपस्थित रहे।

 

bodhraj sikri

 

दृश्य श्रद्धांजलि सभा कम और संत सम्मेलन का ज्यादा लग रहा था, क्योंकि सभी शिरोमणि संतों ने अपने-अपने ज्ञान से मृत्यु और जीवन के रहस्य उजागर किए और पुण्यात्मा के प्रति अपने-अपने भाव प्रस्तुत किये।

सभी संत पुरुषों ने देवता जी के परिवार के सभी सदस्यों को ढांढस बंधाया और आशीर्वाद दिया। गीता मनीषी स्वामी ज्ञाननंद जी ने ऑडियो के माध्यम से अपने आशीर्वचन दिये व देवता जी द्वारा राम लल्ला की पवित्र नगरी अयोध्या में की गई तपस्या की उन्होंने भूरी-भूरी प्रशंसा की।

 

bodhraj sikri

 

प्रार्थना सभा और श्रद्धाजंलि सभा का सकुशल मंच संचालन बोधराज सीकरी ने किया। संतों के प्रवचन और वक्तव्य उपरांत देवता जी के अनन्य शिष्य, जो बाला जी मंदिर, शिवाजी नगर, गुरुग्राम के प्रधान भी है, गजेंद्र गोसाईं ने बोधराज सीकरी की अगुवाई में तीन बार संगीतमय ढंग से हनुमान चालीसा का पाठ किया।

इस प्रकार मुहिम के तहत 192000 की संख्या पार हुई। बोधराज सीकरी ने कहा कि आज के हनुमान चालीसा पाठ का पुण्य हम देवता जी को अर्पण करते हैं।

गजेंद्र गोसाईं ने अंत के पंद्रह मिनट में बिना रुके निरंतर तीन बार हनुमान चालीसा के पाठ को संगीत का साथ लेकर गायनमय तरीक़ा अपनाकर समा बांधा क्योंकि माँ सरस्वती की गजेंद्र गोसाईं पर अपार कृपा है और देवता जी के आशीर्वाद का पूर्ण हाथ।

हनुमान चालीसा के पाठ और बोधराज सीकरी के वक्तव्य के बाद कन्हैया लाल आर्य ने जहाँ एक ओर धन्यवाद प्रस्ताव प्रस्तुत किया वहीं शांति पाठ से सभा का समापन किया।

शहर का शायद ही कोई ऐसा सामाजिक गणमान्य या आध्यात्मिक या राजनीतिक व्यक्ति हो जो अपने श्रद्धा सुमन अर्पित करने इस अवसर पर ना आया हो। सभी के चक्षु में अश्रु धारा बह रही थी।

जहाँ गुरुग्राम की सभी सामाजिक और धार्मिक संस्थाओं और गणमान्य व्यक्तियों ने अपनी हाज़िरी भरी, वहीं पंजाबी बिरादरी महा संगठन के पदाधिकारियों की विशेष उपस्थिति रही, जिन्होंने दोपहर को भंडारा प्रसाद वितरण में सहयोग दिया।

 

Bodhraj sikri

 

गणमान्य व्यक्तियों में सर्व श्री देव राज आहूजा, एच.एस.चावला, धर्मेंद्र बजाज, रमेश कामरा, रमेश कुमार, अनिल कुमार, सुरेंद्र थरेजा, हरीश कुमार, दिलीप लूथरा, ओ.पी.कालरा, किशोरी लाल डुडेजा, उदय भान ग्रोवर, अशोक गेरा, राज कुमार कथूरिया, गिरिराज ढींगड़ा, अनिल मनचंदा, केसर दास ग्रोवर, श्याम ग्रोवर, राजेश गाबा, अंकित अलघ, सुभाष अदलखा, किशोरी लाल, नरेश चावला, किशन चावला, लक्ष्मण पाहुजा, जय दयाल कुमार, वासदेव ग्रोवर, गोबिंद आहूजा, ओम नरूला, बाल कृष्ण खत्री, कँवर भान वधवा, राम लाल ग्रोवर, यदुवंश चुग, डी. एन.क्वात्रा, एम.आर.कुमार, सतपाल नासा, ब्रह्म कथूरिया, रमेश चुटानी, सुभाष डुडेजा, सुभाष नागपाल, विजय वर्मा, सतीश वर्मा, ओम प्रकाश बंधु , रणधीर टंडन, सुभाष ग्रोवर एडवोकेट, सी.बी. मनचंदा, गोबिंद आहूजा, पुष्पा नासा, ज्योत्सना बजाज, रचना बजाज, ज्योति वर्मा, रमेश मुँजाल, पी.एन. मोंगिया, राजपाल योगाचार्य ने की भागीदारी।

भाजपा और अन्य राजनीतिक पार्टी से बहुत सारे कार्यकर्ता उपस्थित रहे, जिनमें प्रमुखत: – डॉक्टर परमेश्वर अरोड़ा, मुकेश शर्मा पहलवान, कपिल दुआ, हरविंद कोहली, सहित जन क्रांति पार्टी के संयोजक अंकित अलघ उपस्थित रहे।

पंडित भीम दत्त ने गरुड़ पुराण का समापन विधिपूर्वक किया।

बोध राज सीकरी के आह्वान पर सेक्टर 12 गुरुग्राम में योगाचार्य श्रीमती मंजु शर्मा हर मंगलवार को योग क्लास उपरांत हनुमान चालीसा पाठ करवाती है और दूसरी योग शिक्षक रमा भी ओल्ड डी.एल.एफ़. सेक्टर 14 में क्लास के उपरांत हनुमान चालीसा का पाठ करवा रही है।

इसके अतिरिक्त जामपुर बिरादरी के शिव मंदिर, ईस्ट ऑफ़ कैलाश में शाम सात बजे लगभग 30 लोग सामूहिक रूप से मंदिर के प्रधान बोध राज सीकरी के आह्वान पर पाँच-पाँच बार हनुमान चालीसा का पाठ नियमित रूप से कर रहे हैं। इनकी पाठ की संख्या लगभग 200 अलग से होती है।

Translated by Google 

Viral Sach: Tuesday, May 30, between 3.00 pm to 5.30 pm, the thirteenth prayer meeting of the most respected “Devata Ji” Maharaj, who was the convenor of Balaji Temple Shivaji Nagar, Gurugram and was an ardent devotee of Hanuman ji, at Ashirwad Garden , Jyoti Park, New Colony Gurugram, more than two thousand people participated and paid rich tributes to the great Vibhuti. After paying obeisance, everyone collectively recited Shri Hanuman Chalisa three times.

Saint society was also present on the stage, in which well-known saint Shiromani Dr. Swami Vivekananda Ji Maharaj, Supreme President, Bhagwat Dham Haridwar, Swami Ravindranand Ji Maharaj Bhagwat Dham Haridwar, Swami Roop Narayan Das Chitrakoot, respected Vinod Vaid Gosain Gopinath Temple Gurugram, revered Poonam Mata Ji Maa Vaishno Darbar, Garhi Harsaru, Dr. Alka Sharma Renowned Astrologer and Architect, (Poonam Mata Ji’s Daughter), Shri Manish Ji Maharaj, Founder of Haridham Temple Shri Mehandipur Balaji, Rudrapur, Shri Kanhaiya Lal, Patron of Arya Pratinidhi Sabha Haryana Arya, head of Central Shri Sanatan Dharma Sabha Gurugram Surendra Khullar, Dev Raj Ahuja, Bal Krishna Khatri etc. were present.

The scene looked less like a tribute meeting and more like a saint’s conference, because all the supreme saints revealed the secrets of death and life with their respective knowledge and presented their feelings towards the pious soul.

All the saintly men consoled and blessed all the family members of the deity. Gita Manishi Swami Gyananand ji gave his blessings through audio and praised the penance done by the deity in the holy city of Ram Lalla, Ayodhya.

Bodhraj Sikri conducted the safe stage of prayer meeting and Shraddhajanli meeting. After discourses and statements by the saints, Gajendra Gosain, the exclusive disciple of Devta ji, who is also the Pradhan of Balaji Mandir, Shivaji Nagar, Gurugram, recited the Hanuman Chalisa three times in a musical manner under the leadership of Bodhraj Sikri.

In this way the number of 192000 was crossed under the campaign. Bodhraj Sikri said that we offer the virtue of today’s Hanuman Chalisa recitation to the deity.

In the last 15 minutes, Gajendra Gosain recited Hanuman Chalisa three times continuously without stopping, in a musical way with music, because Maa Saraswati has immense grace on Gajendra Gosain and full hand of God’s blessings.

After the recitation of Hanuman Chalisa and the statement of Bodhraj Sikri, where Kanhaiya Lal Arya presented another vote of thanks, he concluded the meeting with peace recitation.

There is hardly any social dignitary or spiritual or political person in the city who has not come on this occasion to pay his respects. Tears were flowing in everyone’s eyes.

While all the social and religious organizations and dignitaries of Gurugram marked their presence, there was a special presence of the office bearers of Punjabi Biradari Maha Sangathan, who helped in distribution of Bhandara Prasad in the afternoon.

The dignitaries included Shri Dev Raj Ahuja, H.S.Chawla, Dharmendra Bajaj, Ramesh Kamra, Ramesh Kumar, Anil Kumar, Surendra Thareja, Harish Kumar, Dilip Luthra, O.P.Kalra, Kishori Lal Dudeja, Uday Bhan Grover, Ashok Gera, Raj Kumar Kathuria, Giriraj Dhingra, Anil Manchanda, Kesar Das Grover, Shyam Grover, Rajesh Gaba, Ankit Alagh, Subhash Adlakha, Kishori Lal, Naresh Chawla, Kishan Chawla, Laxman Pahuja, Jai Dayal Kumar, Vasdev Grover, Gobind Ahuja , Om Narula, Bal Krishna Khatri, Kanwar Bhan Wadhwa, Ram Lal Grover, Yaduvansh Chugh, D.N.Kwatra, M.R.Kumar, Satpal Nasa, Brahm Kathuria, Ramesh Chutani, Subhash Dudeja, Subhash Nagpal, Vijay Verma, Satish Verma, Om Prakash Brothers, Randhir Tandon, Subhash Grover Advocate, C.B. Manchanda, Gobind Ahuja, Pushpa Nasa, Jyotsna Bajaj, Rachna Bajaj, Jyoti Verma, Ramesh Munjal, P.N. Mongia, Rajpal Yogacharya participated.

Many workers from BJP and other political parties were present, mainly – Dr. Parameshwar Arora, Mukesh Sharma Pehalwan, Kapil Dua, Harvind Kohli, along with Jan Kranti Party convenor Ankit Alagh were present.

Pandit Bhim Dutt completed the Garuda Purana methodically.

On the call of Bodh Raj Sikri, Yogacharya Smt. Manju Sharma in Sector 12 Gurugram conducts Hanuman Chalisa recitation every Tuesday after yoga class and another yoga teacher Rama also at Old D.L.F. In Sector 14, she is getting Hanuman Chalisa recited after class.

Apart from this, about 30 people are regularly reciting Hanuman Chalisa five times every five times on the call of Bodh Raj Sikri, the head of the temple, at seven o’clock in the evening in the Shiv Mandir of Jampur community, East of Kailash. The number of their lessons is about 200 separately.

Follow us on Facebook 

Follow us on Youtube

Read More News

Shares:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *