Politics

Bodhraj Sikri – महिला शक्ति और युवा शक्ति की सामाजिक भागीदारी बढ़ाना हमारा लक्ष्य

Bodh raj Eye camp, Bodhraj Sikri

Viral Sach : Bodhraj Sikri – साप्ताहिक योग शिविर के 5वें दिन मुख्य अतिथि के रूप में स्वामी धर्मदेव जी महाराज उपस्थित हुए। उन्होंने पतंजलि योग सूत्र के आधार पर योग की परिभाषा और योग का ज्ञान लोगों को दिया। साथ ही योग को भारतीय संस्कृति का अहम हिस्सा बताया।

आज ही के दिन पंजाबी बिरादरी महासंगठन ने महिला प्रकोष्ठ का भी गठन किया। 110 महिलाओं को एकत्रित करके आज बैठक की गई जिनको प्रधान बोधराज सीकरी ने 40 मिनट के अंतराल में सम्बोधित किया और बिरादरी को उनसे क्या आशाएं हैं। उसके सन्दर्भ में विस्तारपूर्वक चर्चा की।

आज ही महिलाओं ने अपनी मेहनत का रंग दिखाया और उन्होंने आज एक मुफ्त नेत्र चेकअप कैम्प का आयोजन किया। जिसमें 70 रोगियों ने पहुंचकर अपनी नेत्र की जांच कराई। इस शिविर में चश्मे और दवाई निःशुल्क वितरित किये गए। आज युवा प्रकोष्ठ की भी बैठक हुई जिसका गठन एक सप्ताह या 10 दिन के भीतर-भीतर कर लिया जाएगा।

अक्षय शास्त्री के तत्वावधान में ज्योत्सना बजाज और ज्योति ने नेत्र जांच शिविर का आयोजन किया। इस प्रोजेक्ट के संचालन में श्रीमती मनीषा कौशिक, धर्मपत्नी श्री प्रदीप कौशिक (निदेशक, जी.ए.वी इंटरनेशनल स्कूल) का संयुक्त सहयोग रहा।

कार्यक्रम में संगठन के वरिष्ठ उपप्रधान ओमप्रकाश कथूरिया ने भी अपने विचार व्यक्त कर समाज कल्याण की दिशा में निरंतर काम करने की प्रतिबद्धता जताई।
पूरणचंद खरबंदा ने अपने पिता की स्मृति में एक शव वाहन पंजाबी बिरादरी को देने की घोषणा की थी इस शव वाहन को आज पंजाबी बिरादरी महा संगठन ने उनसे स्वीकार कर स्वामी धर्मदेव जी महाराज के माध्यम से श्मशान भूमि मदनपुरी राम बाग गुरुग्राम उनके महामंत्री श्री सुभाष खरबंदा के माध्यम से सौंपी।

पंजाबी बिरादरी के प्रधान बोधराज सीकरी ने बताया कि जहाँ मातृ शक्ति को आत्मनिर्भर और सशक्त बनाना संगठन की प्राथमिकता है वहीं साथ ही युवा पीढ़ी को आगे बढ़ने के अवसर प्रदान करना और जन कल्याण के कार्यों में उनकी भागीदारी बढ़ाने के लिए हम प्रतिबद्धता से कार्य कर रहे हैं।

संगठन का ध्येय है कि जहाँ मेन बॉडी अपने सामाजिक कार्य करे उसके साथ-साथ महिला शक्ति और युवा शक्ति भी अपना योगदान दे। इन्हीं जनसेवी कार्यों के बल पर बिरादरी निरंतर जन कल्याण की दिशा में अग्रसर हो रही है।

SINGLA JEWELLERS 1, bodhraj sikri

Translated by Google 

Viral Sach: Bodhraj Sikri – Swami Dharmadev Ji Maharaj was present as the chief guest on the 5th day of the weekly yoga camp. He gave the definition of yoga and the knowledge of yoga to the people on the basis of Patanjali Yoga Sutra. Along with this, Yoga was described as an important part of Indian culture.

On this day, the Punjabi Fraternity General Organization also formed the Women’s Cell. A meeting was held today by gathering 110 women, to whom Pradhan Bodhraj Sikri addressed in an interval of 40 minutes and what are the expectations of the fraternity from them. Discussed in detail about it.

Today itself the women showed the colors of their hard work and they organized a free eye checkup camp today. In which 70 patients reached and got their eyes checked. Spectacles and medicines were distributed free of cost in this camp. Today there was also a meeting of the youth cell, which will be formed within a week or 10 days.

Jyotsna Bajaj and Jyoti organized an eye check-up camp under the auspices of Akshay Shastri. Mrs. Manisha Kaushik, wife Mr. Pradeep Kaushik (Director, G.A.V. International School) had joint cooperation in running this project.

In the program, the senior deputy head of the organization, Omprakash Kathuria also expressed his views and expressed his commitment to work continuously in the direction of social welfare.
Puranchand Kharbanda had announced to give a hearse vehicle to the Punjabi fraternity in the memory of his father, today the Punjabi fraternity Maha Sangathan accepted this hearse from him through Swami Dharmadev Ji Maharaj to the cremation ground Madanpuri Ram Bagh Gurugram and his General Secretary Mr. Subhash Kharbanda handed over through

Bodhraj Sikri, the head of the Punjabi fraternity, said that while making mother power self-reliant and empowered is the priority of the organization, at the same time, we are working with commitment to provide opportunities to the young generation to move forward and increase their participation in public welfare works. Are.

The aim of the organization is that where the main body does its social work, women power and youth power should also contribute along with it. On the strength of these public service works, the fraternity is continuously moving in the direction of public welfare.

Follow us on Facebook 

Follow us on Youtube

Read More News

Shares:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *