बजट – स्वास्थ्य क्षेत्र को बड़ी सौगात -बोध राज सिकरी

गुरुग्राम, (मनप्रीत कौर) : हम डिजिटल मार्ग यानी पेपरलेस बजट के माध्यम से बजट पेश करने के लिए सरकार के कदम का स्वागत करते हैं।

वित्त मंत्री ने अपना बजट भाषण छह स्तंभों में प्रस्तुत किया और हम उनके आभारी हैं क्योंकि स्वास्थ्य क्षेत्र को प्रथम स्तंभ के रूप में लिया गया।

स्वास्थ्य क्षेत्र के प्रति भारत सरकार की ओर से गंभीरता स्वयं सिद्ध करती है क्योंकि भारत सरकार ने स्वास्थ्य बजट को 94 हजार करोड़ रूपये से बढाकर 2.23 लाख करोड़ रूपये कर दिया है। एक उद्योग के रूप में, हम केंद्रीय बजट में वित्त मंत्री द्वारा की गई इस महान पहल की सराहना करते हैं।

भारत के लिए न केवल कोविड के लिए दो घरेलू टीकों का उत्पादन करने के वैज्ञानिक प्रयास बल्कि 100 देशों को आपूर्ति करना, उल्लेखनीय उपलब्धि है। भारत सरकार द्वारा कोविड के टीकाकरण के लिए आबंटित 35000 करोड़ रुपये एक स्वागत योग्य कदम है। कोविड के दौरान स्वास्थ्य क्षेत्र के गंभीर प्रयासों के कारण, जनसंख्या के आकार को देखते हुए, अन्य देशों की तुलना में भारत में
न्यूनतम मौतें हुई हैं।

सरकार द्वारा प्रमुख कदम 64180 करोड़ रुपये आबंटित करके “प्रधानमंत्री आत्म निर्भर स्वास्थ्य योजना” की घोषणा करना है।
“मिशन आत्म निर्भर भारत” के लिए जीडीपी आबंटन का 17%, सरकार की ओर से अर्थव्यवस्था को तेज गति से बढने के लिए गंभीरता को दर्शाता है।

रोकथाम, उपचार और पोषण पर ध्यान, सरकार की प्राथमिकता है। यह एक स्वागत योग्य कदम है। “मिशन पोषण” की शुरुआत, पहली बार सरकार द्वारा शुरू की गई एक नई पहल है।

पब्लिक हेल्थ के लिए जल्द ही एक ऐप लॉन्च किया जाएगा जो मरीजों और उपभोक्ताओं को तेजी से राहत देगा।

17 नए इमरजेंसी हेल्थ सेंटर खोले जाएंगे।

संक्षेप में, यह राष्ट्र के महत्व का ख्याल रखने वाला और देश के सभी वर्गों के लोगों का ख्याल रखने वाला बजट है। पहली बार, सरकार का पहला ध्यान हेल्थ केयर और सामाजिक देखभाल के साथ साथ इन्फ्रास्ट्रक्चर पर भी है। इससे रोजगार के अवसर भी पैदा होंगे।

Read Previous

अश्कों ने बदला इतिहास, अश्क बने आवाज़

Read Next

पीएम आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना से सुधरेगी देश की सेहत : नवीन गोयल

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Most Popular