धर्म परिवर्तन कानून से कौमी एकता मजबूत होगी : मुस्लिम राष्ट्रीय मंच

Viral Sach : आरएसएस के केंद्रीय अधिकारी इन्द्रेश कुमार की रहनुमाई में मुस्लिम समाज को राष्ट्र की मुख्यधारा से जोड़ने वाले राष्ट्रवादी संगठन “मुस्लिम राष्ट्रीय मंच” ने हरियाणा विधानसभा में धर्म परिवर्तन विधेयक पास होने का स्वागत किया है। मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के राष्ट्रीय संयोजक एवं हरियाणा सरकार में मेवात डेवलपमेंट एजेंसी के पूर्व चेयरमैन खुर्शीद राजाका ने कहा कि धर्म परिवर्तन कानून किसी जाति धर्म के खिलाफ नहीं है बल्कि इस नये कानून के द्वारा हमारी कौमी एकता मजबूत होगी। क्योंकि किसी को लालच देकर, झूठ बोलकर व शादी का झांसा देकर जबरन धर्म परिवर्तन कराने पर अब दोषी व्यक्ति को चार लाख रुपये तक जुर्माना और दस साल तक की सजा काटनी होगी। उन्होंने यह भी कहा कि कुछ असामाजिक तत्व व कट्टरवादी सोच के लोग पहले कानून न होने की वजह से अपनी मनमर्ज़ी से अपने निजी स्वार्थों की पूर्ति के लिये समाज के साम्प्रदायिक सौहार्द को खराब करते थे, जोकि अब नहीं हो सकेगा। हरियाणा में कई बार लवजिहाद व जबरन धर्म परिवर्तन करवाने जैसी घटनाओं ने समाज को बांटने व लड़ाने का काम किया है।

संयोजक खुर्शीद राजाका ने मुस्लिम राष्ट्रीय मंच की तरफ से धर्म परिवर्तन कानून बनाने पर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल का और विधानसभा का आभार प्रकट किया है। उन्होंने संतोष जताते हुए कहा कि अब शरारती तत्वों में कानून का भय रहेगा और निजी स्वार्थों की पूर्ति के लिये मंतातरण नहीं हो सकेगा। यदि किसी को धर्म बदलना है और शादी वगेरा भी करनी है तो पहले प्रशासन को नोटिस देना होगा। उन्होंने कांग्रेसी विधायकों द्वारा विधेयक का विरोध करने और विधानसभा सत्र से वाकआउट करने पर तु कांग्रेस की तुष्टिकरण की राजनीति बताया।

Read Previous

शहीदे आजम भगत सिंह के सपनों के भारत का सृजन : सुखबीर तंवर

Read Next

मानेसर में आयोजित हुआ ” मेरा रंग दे बसंती चौला” कार्यक्रम

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Most Popular