Gurugram

DC ने तालाबों के सौंदर्यीकरण कार्यों को 30 जून से पहले पूरा करने के दिए निर्देश

DC

 

Viral Sach : DC निशांत कुमार यादव ने वीरवार को जिला के विभिन्न गांवों में अमृत सरोवर अभियान के तहत बन रहे तालाबों का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने सभी सबंधित अधिकारियों तथा कर्मचारियों को निर्देश देते हुए कहा कि अमृत सरोवर के तहत बन रहे तालाबों पर और अधिक मजदूर लगाकर तेजी से कार्य करें।

तालाबों पर नरेगा के तहत कार्य कराकर पौधारोपण व सौंदर्यीकरण कराया जाए। डीसी ने सबसे पहले गांव खेड़ा खुर्रमपुर व जराउ में नरेगा के तहत किए जा रहे तालाब के सौंदर्यीकरण कार्यो का निरीक्षण किया। इस दौरान खंड एवं विकास पंचायत अधिकारी नरेश कुमार ने जानकारी देते बताया कि इन दोनों तालाबों के सौंदर्यीकरण का कार्य अभी प्रगति पर है दोनों तालाबो पर ट्रैक का काम पूरा करने के लिए कुछ और फण्ड की आवश्यकता है।

डीसी यादव ने सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि तालाबों का जीर्णोद्धार व सौंदर्यीकरण प्राथमिकता के साथ पूरा किया जाए। उन्होंने कहा कि जिला में अमृत सरोवर अभियान के सफल क्रियान्वयन में फण्ड की कोई कमी नही रहने दी जाएगी। तालाबों के सौंदर्यीकरण को लेकर जो भी आवश्यकता है उसका एस्टीमेट तैयार करवाकर उनके कार्यालय भिजवाया जाए।

डीसी यादव ने अपने निरीक्षण दौरे में गांव महचाना में एक एनजीओ के माध्यम से विकसित किए जा रहे तालाब का भी निरीक्षण किया। इस दौरान ग्रामीणों ने डीसी को बताया कि गांव में विकसित किए जा रहे तालाब में यदि गांव के नजदीक से गुजरने वाली नहर से पानी की सप्लाई मिल जाए तो गांव के जल स्तर में सुधार हो सकता है।

डीसी ने सिचाई विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि ग्रामीणों की मांग के आधार पर सिंचाई विभाग, नहर से तालाब तक पाइपलाइन बिछवाने का एस्टीमेट तैयार करवाना सुनिश्चित करे। आज के अपने निरीक्षण दौरे में डीसी ने गांव बासुन्डा में हरियाणा तालाब और अपशिष्ट जल प्रबंधन प्राधिकरण द्वारा विकसित किए जा रहे तालाब का भी निरीक्षण किया।

इस दौरान उन्होंने संबंधित अधिकारियों से तालाब को विकसित करने में इस्तेमाल की जा रही तकनीक व इसके पूर्ण होने की विस्तृत जानकारी प्राप्त करने उपरांत कहा कि आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत अमृत सरोवर योजना केंद्र व प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी योजना है।

इन सरोवरों को बहुउद्देशीय स्वरूप में बनाया जाना अति आवश्यक है। मानव जीवन का आधार जल है लेकिन धीरे-धीरे जल स्तर कम होता जा रहा हैं। जल स्तर को सामान्य बनाए रखने के लिए तालाबों का जीर्णोद्धार अमृत सरोवर योजना के अंतर्गत कार्य कराया जा रहा हैं, जिससे जिले के भूगर्भ जल का संरक्षण व संवर्धन हो सके।

इस मौके पर उन्होंने संबंधित अधिकारियों तथा कर्मचारियों को निर्देश देते हुए कहा कि अमृत सरोवर योजना के अंतर्गत सभी चिह्नित तालाबों का कार्य जल्द से जल्द पूर्ण कराया जाए,ताकि प्रदेश सरकार के निर्देशानुसार य़ह कार्य 30 जून तक पूरा हो सकें।

Translated by Google 

Viral Sach : DC Nishant Kumar Yadav on Thursday inspected the ponds being constructed under Amrit Sarovar Abhiyan in various villages of the district. During the inspection, he instructed all the concerned officers and employees to work fast by employing more laborers on the ponds being constructed under Amrit Sarovar.

Plantation and beautification should be done on ponds by getting works done under NREGA.
The DC first inspected the beautification works of the pond being done under NREGA in village Kheda Khurrampur and Jarau. During this, Block and Development Panchayat Officer Naresh Kumar informed that the work of beautification of these two ponds is still in progress and some more funds are needed to complete the track work on both the ponds.

DC Yadav instructed all the concerned officers that the renovation and beautification of the ponds should be completed on priority. He said that there will be no shortage of funds for successful implementation of Amrit Sarovar Abhiyan in the district. Whatever is needed regarding the beautification of the ponds, an estimate should be prepared and sent to their office.

DC Yadav also inspected the pond being developed through an NGO in village Mahchana during his inspection tour. During this, the villagers told the DC that the water level of the village can improve if the water supply from the canal passing near the village is available in the pond being developed in the village.

The DC directed the officials of the Irrigation Department that on the basis of the demand of the villagers, the Irrigation Department should ensure that the estimate for laying the pipeline from the canal to the pond is prepared. In his inspection tour today, the DC also inspected the Haryana pond in village Basunda and the pond being developed by the Waste Water Management Authority.

During this, after getting detailed information about the technology being used in developing the pond and its completion from the concerned officials, he said that the Amrit Sarovar scheme is an ambitious scheme of the Central and State Government under the Amrit Mahotsav of Independence.

It is very necessary to make these lakes in multipurpose form. Water is the basis of human life but gradually the water level is decreasing. To keep the water level normal, work is being done to restore the ponds under Amrit Sarovar Yojana, so that the ground water of the district can be conserved and promoted.

On this occasion, while giving instructions to the concerned officers and employees, he said that under the Amrit Sarovar Yojana, the work of all the identified ponds should be completed at the earliest, so that as per the instructions of the state government, this work could be completed by June 30.

Follow us on Facebook 

Follow us on Youtube

Read More News

Shares:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *