National

Dera Sacha Sauda – गुरू पूर्णिमा पर साध-संगत ने 50 हजार से अधिक परिवारों को बांटा राशन

Dera Sacha Sauda

Viral Sach – सरसा : Dera Sacha Sauda की साध-संगत ने मानवता भलाई कार्यों के साथ गुरू पूर्णिमा पर्व मनाया। इस अवसर पर देश-विदेश की साध-संगत ने व्रत रखा और 50 हजार से अधिक गरीब-जरूरतमंद परिवारों को राशन दिया ।

इस अवसर पर डेरा सच्चा सौदा के सीनियर वाइस चेयरमैन डॉ. पी.आर. नैन इन्सां ने बताया कि पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां की प्रेरणा से साध-संगत मानवता भलाई कार्यों मे अग्रसर है।

इसी क्रम में आज शनिवार को देश-विदेश की साध-संगत ने गुरू पूर्णिमा के शुभ अवसर पर व्रत रखकर राम-नाम का सुमिरन किया और 50,000 से अधिक गरीब जरूरतमंद परिवारों को राशन दिया ।

पूज्य गुरु जी के पावन सान्निध्य में डेरा सच्चा सौदा की साध-संगत निरंतर 135 मानवता भलाई कार्य कर रही है, जिनमें जरूरतमंदों को भोजन उपलब्ध करवाना, गरीब परिवारों के मकान बनाकर देना, जरूरतमंद परिवारों की बेटियों की शादियों में आर्थिक सहयोग देना, वेश्यावृत्ति की दलदल में फंसी युवतियों को इससे बाहर निकालकर समाज की मुख्य धारा में लाना, भ्रूण हत्या न करने के लिए जागरूक करना, रक्तदान करना, नेत्रदान और मरणोपरांत शरीर दान आदि शामिल हैं।

Translated by Google 

Viral Sach – Sirsa: The association of Dera Sacha Sauda celebrated Guru Purnima festival with works for the welfare of humanity. On this occasion, the people of the country and abroad kept a fast and distributed ration to more than 50 thousand poor and needy families.

On this occasion, Senior Vice Chairman of Dera Sacha Sauda, Dr. P.R. Nain Insan told that with the inspiration of Revered Guru Saint Dr. Gurmeet Ram Rahim Singh Ji Insan, humanity is moving forward in good works.

In this sequence, today on Saturday, on the auspicious occasion of Guru Purnima, people from all over the country and abroad kept a fast, recited the name of Ram and distributed ration to more than 50,000 poor needy families.

Dera Sacha Sauda, under the auspicious presence of respected Guru Ji, is continuously doing 135 works for the welfare of humanity, including providing food to the needy, building houses for poor families, providing financial assistance in the marriages of daughters of needy families, combating prostitution. Bringing the girls trapped in the swamp out of it to the main stream of the society, making them aware not to commit feticide, donating blood, eye donation and posthumous body donation etc.

Follow us on Facebook 

Read More News 

 

Shares:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *