PC Meena – 79 करोड़ रुपए की पकड़ी बिजली चोरी और 48 करोड़ रुपए वसूले

PC Meena

 

Viral Sach : दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम द्वारा बिजली चोरी पकड़ने का अभियान जारी है। इस अभियान से बिजली निगम को टेक्निकल एवं डिस्ट्रीब्यूशन लॉस (टी एंड डी) कम करने में सहायता मिली है। निगम के प्रबंध निदेशक PC Meena ने बताया कि चालू वित वर्ष 2022-23 में गत माह तक 79.13 करोड़ रुपए की बिजली चोरी पकड़ी जा चुकी है।

बिजली चोरी कर रहे उपभोक्ताओं द्वारा जुर्माने के 48.08 करोड़ रुपए जमा किए जा चुके है। उन्होंने बताया कि वर्तमान वित्त वर्ष में लगाये गए जुर्माना में से 60 प्रतिशत से अधिक राशि वसूली जा चुकी है।

इस अभियान में बिजली निगम की संयुक्त जांच टीम द्वारा 71787 उपभोक्ताओं के मीटरों को चेक किया गया है जिसमें से 20568 बिजली उपभोक्ता चोरी करते हुए पकड़े गए। इनके खिलाफ 20038 एफआईआर दर्ज करवाई गई हैं।

प्रबंध निदेशक ने बताया कि बिजली चोरी का बकाया जुर्माना जिन्होंने अभी तक जमा नहीं किया है रिकवरी के लिए उन उपभोक्ताओं पर पुलिस एवं कानूनी कार्रवाई की जा रही है।

दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम ने वितरण प्रणाली में तकनीकी सुधार कर और चोरी का पता लगाकर तकनीकी और वितरण हानियों को काफी कम किया है। निगम टी एंड डी घाटे को रोकने के लिए बहुआयामी दृष्टिकोण अपना रहा है। मौजूदा वितरण नेटवर्क का तकनीकी संवर्धन, तकनीकी नुकसान को कम करने के लिए एचटी से एलटी अनुपात बढ़ाना और एचटी लाइनों को बढ़ाकर चोरी को रोकना है। ज्यादा हानि वाले फीडरों पर गहन और लक्षित चोरी का पता लगाने का अभियान जारी है।

प्रबंध निदेशक पीसी मीणा ने कहा कि बिजली चोरी करना कानूनन अपराध है। बिजली चोरी पर जुर्माना और सजा का प्रावधान है। इसे खत्म करने में सभी का सहयोग अपेक्षित है। दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम द्वारा बिजली चोरी को रोकने के लिए एक XYZ पोर्टल भी बनाया गया है।

कोई भी व्यक्ति यदि किसी को बिजली चोरी करते हुए देखता है तो वह बिजली निगम के टोल फ्री नंबर 18001801011 पर या व्हाट्स ऐप नंबर 7027008325 अथवा ईमेल से hookacrook4dhbvn@dhbvn.org.in या theftinformer@dhbvn.org.in पर दे सकता है और बिजली चोरी रोकने में अपना योगदान दे सकता है।

कोई भी प्रातः 9:00 बजे से रात के 9:00 बजे तक किसी भी कार्य दिवस पर चोरी की सूचना दे सकता है। निगम द्वारा चोरी बताने वाले को पुरस्कार देने का भी प्रावधान है। बिजली निगम द्वारा चोरी बताने वाले का नाम आदि गुप्त रखा जाता है। बिजली निगम की संयुक्त टीम द्वारा समय-समय पर बिजली चोरी रोकने का अभियान चलता रहता है। बिजली निगम अपने उपभोक्ताओं को बेहतर बिजली आपूर्ति करने और लाइन लॉसेस को कम करने में निरंतर प्रयासरत है।

Translated by Google

Viral Sach: The campaign to catch electricity theft is going on by Dakshin Haryana Bijli Vitran Nigam. This campaign has helped the power corporation in reducing the technical and distribution loss (T&D).

Corporation’s Managing Director PC Meena said that in the current financial year 2022-23 till last month, electricity theft worth Rs 79.13 crore has been caught. 48.08 crores of fines have been deposited by the consumers who are stealing electricity.
He said that in the current financial year, more than 60 percent of the fine imposed has been recovered.

In this campaign, the meters of 71787 consumers have been checked by the joint investigation team of the Electricity Corporation, out of which 20568 electricity consumers were caught stealing. 20038 FIR has been registered against them.

The Managing Director said that police and legal action is being taken against those consumers who have not deposited the outstanding fine for electricity theft yet.

Dakshin Haryana Bijli Vitran Nigam has significantly reduced technical and distribution losses by making technical improvements to the distribution system and by detecting thefts. The Corporation is adopting a multi-pronged approach to contain the T&D losses. The technical enhancement of the existing distribution network is to increase the HT to LT ratio to reduce technical losses and prevent theft by increasing the HT lines. Intensive and targeted theft detection operation on high loss feeders is on.

Managing Director PC Meena said that stealing electricity is a legal offense. There is a provision of fine and punishment for theft of electricity. Everyone’s cooperation is expected in ending this. An XYZ portal has also been created by Dakshin Haryana Bijli Vitran Nigam to prevent power theft.

If any person sees someone stealing electricity, he can give toll free number 18001801011 of Electricity Nigam or whats app number 7027008325 or email at hookacrook4dhbvn@dhbvn.org.in or theftinformer@dhbvn.org.in and It can contribute in preventing electricity theft.

Anyone can report theft on any working day from 9:00 AM to 9:00 PM. There is also a provision to reward the person who tells theft by the corporation. The name of the theft teller etc. is kept secret by the electricity corporation. From time to time, the campaign to prevent theft of electricity is carried out by the joint team of the Electricity Corporation. Electricity Corporation is constantly striving to supply better power to its consumers and reduce line losses.

Follow us Facebook

Read More News

Read Previous

Naveen Goyal – पाश्चात्य संस्कृति के बीच हिंदू सुधार आंदोलन है आर्य समाज

Read Next

विविधता में एकता का आलौकिक स्वरूप -75वां वार्षिक Nirankari Sant Samagam

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular