वार्ड 10 सहित पूरे ओल्ड गुरुग्राम को सीवर ओवरफ्लो व जलभराव से मिलेगी मुक्ति : बागड़ी

वार्ड 10 सहित पूरे ओल्ड गुरुग्राम को सीवर ओवरफ्लो व जलभराव से मिलेगी मुक्ति : बागड़ी

Viral Sach :- वार्ड 10 के पूर्व पार्षद मंगत राम बागड़ी और पार्षद शीतल बागड़ी ने कहा कि अथक प्रयास के बाद धनवापुर में करीब 170 करोड़ की लागत से सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट (एसटीपी) स्थापित करने के कार्य को मंजूरी मिली है। इसके लिएं गुरुग्राम महानगर विकास प्राधिकरण (जीएमडीए) द्वारा टेंडर जारी करने की तैयारी जा रही है।

बागड़ी ने बताया कि वर्षों पूर्व धनवापुर में 100 एमएलडी और बहरामपुर में भी 120 एमएलडी क्षमता के एसटीपी का निर्माण कराया गया था। शहर की आबादी लगातार बढऩे के कारण एसटीपी की क्षमता वर्षों पूर्व से कम साबित हो रही है। इसके कारण सीवर ओवरफ्लो और बरसात के दिनों में जलभराव की समस्या चली आ रही है क्योंकि एसटीपी की क्षमता कम होने के कारण सीवर का पानी बैक मारता है और ओवरफ्लो करता है। वहीं बरसात के दिनों में बारिश का पानी सीवर लाइनों के माध्यम से नहीं निकल पाता है। इसको लेकर वर्षों पूर्व हमने नगर निगम आयुक्त के साथ अन्य अधिकारियों को कई ज्ञापन सौंपा। इसके अलावा नगर निगम की मासिक बैठकों में इस मामले को उठाया गया।

प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने के बाद इस समस्या को गंभीरता से लिया गया और अब सरकार, नगर निगम और गुरुग्राम के विधायक श्रद्धेय सुधीर सिंगला के प्रयास से धनवापुर में 100 एमएलडी क्षमता के नए सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट निर्माण की स्वीकृति मिल पाई है। मंगत राम बागड़ी ने कहा कि धनवापुर में नया एसटीपी बनने के बाद शहर के पुराने एसटीपी पर भी सीवर का लोड कम हो जाएगा और वार्ड 10 के साथ पूरे ओल्ड गुरुग्राम की सीवर ओवरफ्लो जैसी भीषण समस्या का समाधान होगा।

धनवापुर में नया एसटीपी स्थापित करने और मुख्य पंपिग स्टेशन का निर्माण करने पर 170 करोड़ रुपए खर्च होंगे। बागड़ी ने इसके लिए जीएमडीए के मुख्य अभियंता राजेश बंसल को भी धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि जब हमने पहली बार इस मांग को उठाए तो उस समय राजेश बंसल नगर निगम में एक्सईएन थे और उन्होंने निर्माण की दिशा में योगदान दिया और आज जीएमडीए के मुख्य अभियंता के रूप में भी उनका सहयोग प्राप्त हो रहा है। बागड़ी ने बताया कि जीएमडीए के अधिकारियों के मुताबिक एसटीपी निर्माण का कार्य 31 दिसंबर 2023 तक पूरा कर लिया जाएगा। अगले माह मई में टेंडर प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी। बागड़ी ने कहा कि इस एसटीपी के निर्माण से जहां सीवर ओवरफ्लो की समस्या से मुक्ति मिलेगी वहीं सीवर के शोधित पानी का इस्तेमाल शहर में हरियाली बढाने के लिए किया जा सकेगा।

बड़े पार्कों तक लाइन बिछाकर पेड़-पौधों की सिचाई में इस पानी का उपयोग किया जाएगा। बागड़ी में कहा कि इस कार्य के लिए हम सभी सहयोगी विभागों को ह्रदय से धन्यवाद देते हुए नागरिकों को आश्वस्त करते हैं कि वार्ड 10 की जनता की समस्याओं के समाधान और सुविधाओं के लिए संकल्पित होकर काम करते रहेंगे।

Leave your comment
Comment
Name
Email