संकट की घड़ी में सभी को एक जुट रहना ही सबसे बड़ी देश सेवा : नरेन्द्र 'बॉबी'

संकट की घड़ी में सभी को एक जुट रहना ही सबसे बड़ी देश सेवा : नरेन्द्र ‘बॉबी’

उत्तराखंड, (ब्यूरो) : कनखल में दा पावर ऑफ ह्यूमन राइट्स फाउंडेशन के वालंटियर्स ने ये साबित कर दिया कि जब तक हम एकजुट नही होंगे तबतक संकट बढ़ता ही जायेगा।

संस्था के स्वमसेवक आलोक शर्मा जी ने आज कनखल में 1 महिला की मृत्यु पर उसके मृत शरीर को अपने 2 सहयोगियों के साथ मिलकर अंतिम संस्कार किया। उस महिला के घर मे उसकी माता और एक बहन के अलावा कोई नही था, ऐसे में पड़ोसियों का भी कोई सहारा ना देख आलोक जी ने संस्था की मानमर्यादा को देखते हुए ये कदम उठाया।

आलोक जी ने बताया कि उस महिला की मृत्यु कोरोना से नही हुई, बल्कि बीमारी के कारण हुई थी, लेकिन लोग इतने डरे हुए थे कि उनका घर से निकलना मुश्किल हो रहा था।

आलोक जी ने अपना दुख प्रकट करते हुए कहा कि देश औऱ समाज के लिए इससे बड़ी शर्म की बात नही हो सकती। जो ऐसे मंजर को भी अनदेखा करते हैं। शर्मा जी ने पुनः सभी से निवेदन किया कि प्रत्येक मृतक परिवार की मदद जरूर करें, इससे बड़ा पूण्य नही हो सकता।

Leave your comment
Comment
Name
Email