सॉटेक्स की सह-मेजबानी में फैशन मीट-एक्सपो 22 की हुई शानदार शुरूआत

Viral Sach : केन्द्रीय कपड़ा और रेल राज्य मंत्री श्रीमति दर्शना जरदोश ने आज गुरूग्राम में द फैशन मीट-एक्सपो 22 का शानदार उद्घाटन किया। द फैशन मीट-एक्सपो 22 का आयोजन एईपीसी-बीएए-एनएईसी के तहत टॉप फैशन एक्सपोर्ट काउंसिल ने सॉटैक्स (फैशन और टैक्सटाइल इंडस्ट्री के लिए बी2बी मार्केटप्लेस) की सहभागिता में किया है। एक्सपो वीरवार को गुरूग्राम में अपेरल हाउस एईपीसी सेंटर में शुरू हुई।

एक्सपो के पहले दिन केन्द्रीय मंत्री द्वारा एक भव्य उद्घाटन के साथ ही कई अन्य आयोजन भी किए गए। जिनमें टेक टॉक से लेकर टेक इनोवेशन तक शामिल हैं। उल्लेखनीय है कि एक्सपो के पहले दिन ऑस्ट्रेलिया, कनाडा और कोरिया के विदेशी प्रतिनिधियों के अलावा 500 से अधिक शीर्ष फैशन खरीदारों, निर्यातकों और निर्माताओं की एक्सपो में लगे विभिन्न स्टॉल्स पर काफी अधिक भीड़ थी।

एक्सपो के शानदार उद्घाटन के बाद वाइन एंड चीज़ नेटवर्किंग इवेंट, पैनल डिस्कशन, टेक टॉक, टेक इनोवेशन और बिजनेस ग्रोथ सेशन जैसे दिलचस्प पहलुओं से भरपूर आयोजन हुए। इसके बाद अपेरल हाउस में डिज़ाइन स्टूडियो के कॉन्सेप्ट्स जैसे विषयों पर सेशन आयोजित किए गए। इनमें “इंटीग्रेटिंग द डिज़ाइन डेवलपमेंट प्रोसेस एंड रीइमेजिनिंग इंडिया एज द इटली ऑफ ईस्ट”, “स्टिचिंग द वैल्यू चेन विद सस्टेनेबिलिटी एंड ट्रेसेबिलिटी”, “टीएनए और वर्कफ्लो के लिए नई तकनीक का उपयोग करते हुए कैसे कार्यकुशलता को बढ़ाया जाए”, “डिजिटल एफीशेंसीज स्मार्ट प्रोडक्शन ऑटोमेशन” और “क्विक एंड ईजी वेज टू बिल्ड फैशन एक्सपोर्ट्स” शामिल हैं। इस दौरान इंडस्ट्री एक्स्पर्ट्स जैसे श्री नरेंद्र गोयनका, चेयरमैन, एईपीसी, सेवराज सैयद, डायरेक्टर, टुकाटेक, यूरोप; पुनीत दुडेजा, डायरेक्टर-बिजनेस, डेवलपमेंट, डब्ल्यूजीएसएन और सोनिल जैन, को-फाउंडर और सीईओ, सॉटेक्स नेटवर्क और कई अन्य ने इन विषयों पर अपने अनुभवी विचार और गहन जानकारी को सभी के साथ साझा किया।

आयोजकों के प्रयास की सराहना करते हुए, माननीय केन्द्रीय कपड़ा और रेल राज्य मंत्री श्री दर्शना बिक्रम जरदोश ने कहा कि “एईपीसी और सॉटेक्स ने काफी बेहतर फैशन एक्सपो आयोजित की है और आयोजक आज हमारे देश के पूरे टैक्सटाइल ईकोसिस्टम को सफलतार्पूक एक ही जगह पर ले आए हैं। ये एक बड़ा और भव्य आयोजन है। हमारे माननीय प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा, कारोबार का विश्लेषण करने और निर्यात लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए विदेशों में भारतीय मिशनों के प्रमुखों, और वर्तमान के वाणिज्य क्षेत्रों के हितधारकों के साथ जुड़ने का प्रयास किया गया। आज की अपेरल इंडस्ट्री कुल भारतीय निर्यात का 4.4 प्रतिशत हिस्सा रखती है और ये लगातार बढ़ रहा है। इसके साथ ही आज मुझे टैक्सटाइल निर्यात के लिए ऑस्ट्रेलिया और कनाडा के साथ भारत सरकार की नई सहभागिता और नए समझौतों की घोषणा करते हुए खुशी हो रही है।”

द फैशन मीट-एक्सपो 22 के पहले दिन के आयोजन पर प्रतिक्रिया देते हुए, सॉटैक्स नेटवर्क के सह-संस्थापक और सीईओ सोनिल जैन ने कहा कि “सॉटैक्स में फैशन मीट-एक्सपो 22 का प्रबंधन और सह-मेजबानी करते हुए बेहद गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं। आयोजन के पहले ही दिन हमें जबरदस्त रिस्पांस मिला है। इंडस्ट्री के विशेषज्ञ जैसे इंटरनेशनल ब्रांड लायजन ऑफिसर्स, फैशन गारमेंट्स खरीदने वाले ग्रुप, सोर्सिंग कंसल्टेंट्स, फैशन मैन्युफैक्चरर्स, विभिन्न मिलें, इंडस्ट्री एक्सपर्ट, फैशन डिजाइनर्स और विदेशी डेलीगेट्स भी पूरे जोश और उत्साह के साथ इस उल्लेखनीय आयोजन में शामिल होकर सहभागिता कर रहे हैं। अब हम द फैशन मीट- एक्सपो के दूसरे दिन की प्रतीक्षा कर रहे हैं। दूसरा दिन भी स्टार्ट-अप फैशन शो, टॉक्स और डिस्कशंस जैसे दिलचस्प आयोजनों से भरा है।

हमें विश्वास है कि यह आयोजन खरीदारों, निर्माताओं, मिलों और आपूर्तिकर्ताओं और फैशन टेक कंपनियों के लिए वैल्यू और नेटवर्किंग के अवसरों को बढ़ाने के हमारे प्रयास के अनुरूप होगा।”

एक्सपो के दूसरे दिन फैब्रिक टू फैशन – डिजिटल प्रोडक्ट प्रेजेंटेशन और सिमुलेशन जैसे विषयों पर बातचीत और चर्चा होगी; सस्टेनेबल प्रोडक्शन प्रोसेसेज और कार्यान्वयन; सस्टेनेबल प्रोडक्ट लाइंस का विकास और फास्टट्रैक विकास; सस्टेनेबल फैशन में ट्रेंड कैसे बनाएं, निफ्ट फाउंडेशन ऑफ़ डिज़ाइन इनोवेशन जैसे स्टार्ट-अप फैशन शो के साथ-साथ सस्टेनेबल और ऑर्गेनिक क्लोदिंग लाइन का प्रदर्शन करने वाले 5 स्टार्ट-अपसेक्सिबिटिंग सस्टेनेबल एंड ऑर्गेनिक क्लोदिंग लाइन, 4 इंटरनेशनल सेलिब्रिटी डिजाइनर सस्टेनेबल कलेक्शन प्रदर्शित करेंगे। इसके साथ ही 2 टॉप सेलिब्रिटी डिजाइनर वरुण बहल और लिज़ हार्टमैन भी लंदन और न्यूयॉर्क से अपने गेस्ट ऑफ ऑनर के तौर पर उड़ान भरेंगे और आयोजन में शामिल होंगे। इसके साथ ही एटीडीसी डिजाइन स्कूल, एईपीसी के तहत सस्टेनेबल और सर्कुलर फैशन पर केन्द्रित युवा प्रतिभाओं की क्रिएशंस को प्रस्तुत करेंगे।

ठस 2-दिवसीय आयोजन का उद्देश्य टेक्सटाइल इको-सिस्टम और फास्ट ट्रैक डिजाइन डेवलपमेंट प्रोसेस को डिजिटाइज़ करना है ताकि पार्टनर देशों के साथ हाल ही में एफटीए का पहले से बेहतर और सटीक किया जा सके और 2030 तक भारत सरकार के 100 बिलियन डॉलर के फैशन निर्यात के लक्ष्य को प्राप्त किया जा सके।

यह सहयोग टेक्सटाइल इकोसिस्टम के खरीदारों और विक्रेताओं के बीच मिलने की सही जगह बनाने का एक प्रयास है। यह फैशन खरीदारों, निर्माताओं और आपूर्तिकर्ताओं को सहयोग करने और उत्पाद विकास में तेजी लाने में मदद करने के लिए है। इसके अलावा, यह आगामी सीज़न के ट्रेंड्स पर सहयोगात्मक रूप से काम करने और मजबूत डिलीवरी ईकोसिस्टम बनाने की सुविधा प्रदान करेगा।

यह आयोजन भारत के चुनिंदा 50 फैब्रिक, ट्रिम निर्माताओं और फैशन टेक्नोलॉजीज कंपनियों को उनकी उत्पाद विकास क्षमताओं के साथ-साथ यूएसपी के रुझानों, सामग्रियों, टेक्नोलॉजी के आधार पर फैशन खरीदारों और निर्माताओं को घरेलू और अंतरराष्ट्रीय बाजारों के लिए गुणवत्तापूर्ण, टिकाऊ यानि सस्टेनेबल और कई तरह के इनोवेटिव मैटीरियल्स की सोर्सिंग की तलाश में प्रदर्शित करेगा।

Read Previous

प्रदेश में पावर कट की समस्या का जल्द होगा समाधान- मुख्यमंत्री

Read Next

महिला शक्तिकरण का अनूठा उदाहरण हैं सुहानी बजाज: नवीन गोयल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular