Gurugram

कलाकारों को 5000 हज़ार सहायता भत्ता दे Haryana Government : विश्वदीपक त्रिखा

Haryana government, Vishwadeep Trikha

 

गुरुग्राम : Haryana government – कई कलाकारों ने आज वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये बैठक कर मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर कोरोना काल में कलाकारों के सामने आ रही आर्थिक तगी से जूझ रहे कलाकारों को सहायता प्रदान करने गुहार लगाई है।

मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में कहा गया कि कोविड-19 के चलते लॉकडाउन ने कलाकारों को अपने पैतृक काम-धंधे छोडक़र दिहाड़ी, मजदूरी, फल सब्जी की रेहडिय़ां लगाने को मजबूर हैं। ऐसे में तुरन्त प्रभाव से जरूरतमंद कलाकारों को प्रतिमास 5000 रूपये राहत भत्ता तब तक दिया जाना चाहिये जब तक सरकारी तौर पर सांस्कृतिक, धार्मिक व सामाजिक कार्यक्रमों के आयोजनों की स्वीकृति न मिल जाये।

कलाकारों ने मुख्यमंत्री को बताया कि 2021 भी कलाकारों के लिए चुनौतीपूर्ण रहने वाला है। उनके लिए परिवार का पालन-पोषण करना बहुत ही मुश्किल हो गया है। धार्मिक व सामाजिक संस्थानों ने भी कोविड के भय से अपने दरवाजे बंद ही रखे हुए हैं। ऐसे में कलाकारों की आर्थिक स्थिति और भी कमजोर होती जा रही है।

कला एवं संस्कृति कार्य विभाग, हरियाणा कला परिषद् व उत्तर क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र पटियाला के पास प्रदेश के कलाकारों की सूची उपलब्ध है। केवल मात्र मुख्यमंत्री के आदेशों की जरूरत है। इसलिए हरियाणा के जरूरतमंद कलाकारों को चिन्ह्ति कर उन्हें जल्द से जल्द लाभान्वित किया जाना चाहिये।

इसके अलावा प्रत्येक जिला स्तर पर पांच-पांच कलाकारों की एक कमेटी बनाकर भी वंचित कलाकारों के नाम मंगवाये जा सकते हैं। ऐसा इसलिए भी है क्योंकि पिछली बार ऐसी ही एक सूची चंडीगढ़ से डीआईपीआरओ कार्यालय में आई थी जिसमें ज्यादातर साधन-सम्पन्न कलाकारों के नाम अंकित थे। जिसके कारण जरूरतमंद कलाकारों को कोई लाभ नहीं मिला। राहत भत्ता को तुरन्त प्रभाव से लागू किया जाये।

इस ऑनलाइन बैठक में विश्वदीपक त्रिखा, मोहन कांत, हर्ष कुमार, अर्जुन वशिष्ठ, प्रकाश घई, सुरेंद्र भारद्वाज, सुनैना गेरा, ऋतुराज, गौतम, सुदर्शन पंडित, कुलदीप सिंह, मनमहन सोनी, विजय भटोटिया, विनोद दौलताबाद,अरुण मरवाहा आदि ने प्रमुख रूप से भाग लिया।

Translated by Google 

Gurugram: Haryana government – Many artists have written a letter to the Chief Minister after meeting through video conferencing today, requesting him to provide assistance to the artists who are facing financial difficulties during the Corona period.

In the letter written to the Chief Minister, it was said that due to the lockdown due to Kovid-19, the artistes are forced to leave their ancestral work and engage in daily wage work, fruit and vegetable hawkers. In such a situation, a relief allowance of Rs 5000 per month should be given to the needy artistes with immediate effect until the government approves the organization of cultural, religious and social programmes.

The artists told the Chief Minister that 2021 is also going to be challenging for the artists. It has become very difficult for them to take care of the family. Religious and social institutions have also kept their doors closed due to the fear of Covid. In such a situation, the economic condition of the artists is becoming more and more weak.

The list of artists of the state is available with the Department of Art and Culture, Haryana Kala Parishad and North Zone Cultural Center, Patiala. Only the orders of the Chief Minister are needed. That’s why the needy artists of Haryana should be identified and benefited as soon as possible.

Apart from this, names of underprivileged artists can also be called by forming a committee of five artists each at the district level. This is also because last time a similar list had come to the DIPRO office from Chandigarh in which the names of most of the resourceful artists were mentioned. Due to which the needy artists did not get any benefit. Relief allowance should be implemented with immediate effect.

Vishwadeepak Trikha, Mohan Kant, Harsh Kumar, Arjun Vashishtha, Prakash Ghai, Surendra Bhardwaj, Sunaina Gera, Rituraj, Gautam, Sudarshan Pandit, Kuldeep Singh, Manmahan Soni, Vijay Bhatotia, Vinod Daulatabad, Arun Marwaha etc. participated prominently in this online meeting. ran away from

Follow us on Facebook 

Read More News 

Shares:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *