वैक्सीनेशन के नाम पर लोगों को गुमराह कर रहा है स्वास्थ विभाग – वशिष्ठ गोयल

गुरुग्राम, (हेमा गोयल ) : वैक्सीनेशन के नाम पर स्वास्थ्य विभाग की ओर से लोगों को झूठी और गलत सूचनाएं देकर गुमराह करने और परेशान करने का काम किया जा रहा है। यह कहना है नव चेतना मंच के संयोजक वशिष्ठ कुमार गोयल का, श्री गोयल ने कहा कि स्वास्थ विभाग तो अपनी जगह है यहां पूरा प्रशासनिक अमला सिर्फ ऑनलाइन सेवाएं दे रहा है।सभी आईएएस और एचसीएस अधिकारी अपने अपने घरों में कोविड-19 के डर से दुबके पड़े हैं।

सभी अधिकारी अपनी सेवाएं ऑनलाइन दे रहे हैं। यही कारण है कि जमीनी हकीकत क्या है किसी अधिकारी को भी नहीं पता होता है। ना ही यहां के अधिकारी सरकार के मुखिया को सही आंकड़े बताते हैं। इन्हीं कारणों से कोविड-19 को रोकने में पूरी की पूरी सरकार बदनाम हो रही है। वशिष्ठ कुमार गोयल कहा कि यहां स्वास्थ्य व्यवस्थाएं चौपट पड़ी है। महामारी को हराने के लिए यहां की जनता जल्द से जल्द कोविड इंजेक्शन लगवाना चाहती है। जिसके लिए यहां की जनता आए दिन वैक्सीनेशन सेंटरों पर इंजेक्शन लगवाने पहुंच भी रही है। लेकिन रोजाना हजारों लोग धक्के खाकर वापस अपने घर को जाने को मजबूर हो रहे हैं। कारण यह है कि उन्हें इंजेक्शन लगाया ही नहीं जा रहा है। यहां किसी को रजिस्ट्रेशन के नाम पर वापस कर दिया जाता है, तो किसी को एक स्थान से दूसरे स्थान पर इंजेक्शन लगाने के लिए रेफर कर दिया जाता है।

वशिष्ठ कुमार गोयल सवाल किया कि आम जनता यहां के प्रशासनिक अधिकारियों और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की लापरवाही का खामियाजा कब तक भुगतेगी, यहां लोगों को कब तक इंजेक्शन लगा दिया जाएगा, क्या कोई अधिकारी इस संदर्भ में बयान देगा, वशिष्ठ कुमार गोयल ने कहा कि यहां अधिकारियों के पास जो आंकड़े हैं वह विश्वसनीय नहीं है अधिकारी रोजाना मनगढ़ंत आंकड़े पेश करते हैं अगर सही आंकड़े होते तो अब तक 90 प्रतिशत से अधिक जनता को इंजेक्शन लग चुका होता।उन्होंने कहा कि जब अधिकारियों और सरकार के प्रतिनिधियों को यह मालूम है कि इस महामारी से एक ही बचाव है कि जल्द से जल्द वैक्सीनेशन किया जाए। फिर वैक्सीनेशन करने में इतनी लापरवाही क्यों बरती जा रही है। उन्होंने आम जनता से आग्रह किया कि सभी लोग धैर्य बनाकर रखें। जब तक इंजेक्शन नहीं लग जाता तब तक कोविड-19 से पूरा बचाव करें।

बहुत जरूरी हो तभी अपने घरों से बाहर निकले, वशिष्ठ कुमार गोयल सरकार के मुखिया से भी आग्रह किया कि वह सिर्फ अधिकारियों के दिए आंकड़े पर विश्वास ना करें जमीनी हकीकत क्या है। इसकी रिपोर्ट जनता के बीच जाकर ले, उन्होंने सरकार से यह भी आग्रह किया कि यहां वैक्सीनेशन के कार्य में तेजी लाने के लिए सरकार उचित कदम उठाएं जिससे लोगों को जल्द से जल्द कोविड-19 का टीका लग सके।

Read Previous

भाजपा युवा जिला अध्यक्ष सर्वप्रिय पिंटू त्यागी ने किया भगवान परशुराम परामर्श केंद्र का उद्घाटन

Read Next

संयुक्त किसान मोर्चा ने धरने पर ही मनाई बुद्ध पूर्णिमा

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Most Popular