योग के बिना स्वस्थ जीवन सम्भव नहीं : गुरु माँ

Viral Sach: योग शिविर के सातवें और अंतिम दिन श्री गोपाल योगाचार्य द्वारा प्रातः 5:00 बजे योग शिविर प्रारंभ कर दिया गया था सभी को हैरान करने वाली बात यह थी कि पूरा प्रांगण प्रातः 5:00 बजे योग शिविर साधकों से खचाखच भरा हुआ था सभी ने योग साधना का भरपूर आनंद लिया। बोधराज सीकरी ने बताया कि आज की मुख्य अतिथि परम श्रद्धेय ,अर्चनीय ,वंदनीय आनंदमूर्ति गुरु मां का हम सभी साधकों को वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से योग से संबंधित ज्ञान, उनकी करुणामई कृपा ,आशीर्वाद प्राप्त होगा । बोधराज सीकरी ने मंच से गुरु मां को नमन करते हुए पिछले 6 दिन से चले आ रहे शिविर के बारे में बताया।

बोधराज सीकरी ने मंच से जब यह बताया कि उन्होंने 25 साल पूर्व गुरु मां से गुरु दीक्षा ली व उनके कृपा पात्र शिष्यों में से उनका भी एक अभिन्न स्थान है व उन पर उनकी अपार कृपा है यह कहते हुए वह भाव विकल हो गए ,इसे कहते हैं गुरू के प्रति आस्था। उन्होंने गुरु मां से विनम्र प्रार्थना की कि वह अपना हम सभी को उद्बोधन दें । गुरु मां ने अपने उद्बोधन में बताया कि पतंजलि ने जो योग सूत्र हमें प्रदान किए हैं वह योगसूत्र निश्चित रूप से हमको, आप सब को अवश्य मेल ग्रहण करने चाहिए । उनका श्रवण भी करना चाहिए ,अच्छे से समझ कर उसका अभ्यास कर जीवन में लाना अति आवश्यक है । अगर हम एक अच्छा जीवन व्यतीत करना चाहते हैं, हम स्वस्थ शरीर जीना चाहते हैं तो योग के बिना संभव नहीं है ।योग के पूर्ण रूप को समझना है तो हमें अष्टांग योग को समझना होगा।

मेरा यह मानना है कि अच्छे योग ऋषि के सम्मुख जाकर योग सीखें क्योंकि यदि खाली हाथ पैर चलाने हैं तो यह योग नहीं यह तो जिमनास्टिक होगा ।जिस योग को करने के पतंजलि ऋषि कह रहे वह शरीर को टेढ़ा मेढ़ा करना योग नहीं है। यम और नियम का पालन करना होता है योग का मतलब है एलाइनमेंट। इसके अतिरिक्त उन्होंने योग से संबंधित काफी चर्चा की। उन्होंने कहा कि योग करने से पूर्व प्रार्थना अवश्य करनी चाहिए ।उन्होंने पंजाबी बिरादरी महा संगठन द्वारा योग शिविर के आयोजन के लिए श्री बोधराज सीकरी जी को साधुवाद दिया ।पूजनीया गूरु माँ की विडियो कांफ्रेंस के पश्चात प्रधान बोध राज सीकरी ने उनको नमन करते हुये सभी की ओर से आभार व्यक्त किया। किसी कार्यक्रम के समापन पर शिष्टाचार के नाते सर्व प्रथम जी0ए0वी0 इन्टरनेशनल स्कूल चेयरमैन व उनकी पूरी टीम का आभार व्यक्त किया। इसके पश्चात श्री गोपाल योगाचार्य का दोशाला व स्मृति चिन्ह दे कर उनका आभार व्यक्त किया। इसके योग शिविर के प्रभारी धरमेंद्र बजाज व उनकी धर्म पत्नी श्रीमती ज्योत्सना बजाज का आभार व्यक्त किया व उनके कार्य की प्रशंसा की व अनिल मंनचंदा का व उनकी पूरी टीम का आभार व्यक्त किया। रमेश कालड़ा का धन्यवाद किया व अन्त में उन्होने कहा मै मंच पर तो अपने कयी पदाधिकारी एवं कार्यकारिणी को बुलाना चाहता हूँ परन्तु माननीय मुख्यमंत्री महोदय ने एवं गुरुग्राम के उपायुक्त ने हमारी पंजाबी बिरादरी महा संगठन से आग्रह किया था कि योग दिवस के दिन पंजाबी बिरादरी को ताऊ देवी लाल स्टेडियम गुरुग्राम में जरूर आना है।

जी0ए0वी 0इंटरनेशनल स्कूल में चल रहे शिविर को आधा घंटा पहले समापन करके बस एवं कारों द्वारा समय पर स्टेडियम पहुंच कर योग शिविर मे सभी ने भाग लिया। योग कक्षा के उपरांत बोधराज सीकरी ने गुरुग्राम की पुलिस आयुक्त, उपायुक्त एवं एस0डी0एम 0से सभी का परिचय करवाया ।हमारी खुशी का उस समय ठिकाना नहीं रहा जब स्टेज पर ताऊ लाल स्टेडियम में 5000 से अधिक लोगों के बीच में, सभी जिला के प्रशासनिक हेड, व मौजूद गणमान्य लोगों के बीच मंच से पंजाबी बिरादरी महासंगठन के प्रधान  बोध राज सीकरी को मंच पर बुलाकर उनका अभिनंदन किया गया और तुलसी का पौधा उन्हें भेंट स्वरूप दिया गया प्रसंता इस बात की है कि अब तो सरकार भी पंजाबी बिरादरी महा संगठन को मान्यता देने लगी है क्योंकि 7 दिन के योग शिविर में उपायुक्त, पुलिस उपायुक्त ,जी0एम 0डी0ए0के सी0ई0ओ0 हमारे कार्यक्रम में उपस्थित रहे । यह सारा श्रेय बिरादरी के प्रधान बोधराज सीकरी व उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर चल रहे बिरादरी के वरिष्ठ उपप्रधान ओम प्रकाश कथूरिया एवं महामंत्री रामलाल ग्रोवर व यू कहूं कि पंजाबी बिरादरी महा संगठन की खुशबू की माला में सभी एक से एक बढ़कर है और ईश्वर से प्रार्थना है कि सभी को स्वस्थ रखें व सभी को समाज की सेवा में लगे रहने की सद्बुद्धि प्रदान करें व संगठन को मजबूत ।

Read Previous

1 जुलाई से 19 क़िस्म के सिंगल यूज़ प्लास्टिक वस्तुओं पर होगा पूरी तरह प्रतिबंध

Read Next

योग को दिनचर्या में लाकर स्वस्थ भारत के निर्माण में भागीदार बनें : धनखड़

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular