अनिश्चितकालीन धरना दिन-74, चिलचिलाती गर्मी तथा लू के थपेड़ों से भी नहीं डिगा लोगों का हौसला

मानेसर, भारतीय सेना में अहीर रेजिमेंट के गठन की मांग को लेकर गुरुग्राम के खेड़कीदौला में चल रहा धरना 74वें दिन में प्रवेश कर गया है। इस बीच रेजिमेंट गठन को लेकर संयुक्त अहीर रेजिमेंट मोर्चा व यादव समाज का जज्बा पूरी तरह बरकरार है। चिलचिलाती गर्मी तथा लू के थपेड़ों से भी लोगों का हौसला नहीं डिगा है। सोमवार को धरना स्थल पर भारी संख्या में उपस्थित सर्व समाज की सरदारी के सामने मोर्चा कोर कमेटी के सदस्यों ने अहीर रेजिमेंट के मुद्दे पर निर्णय संघर्ष का फैसला लिया। मोर्चा के सदस्यों ने कहा 4 फरवरी से निरंतर जारी बेमियादी धरने को आज 74 दिन पूरे हो गए है। इस दौरान पूर्ण लोकतांत्रिक तरीके से सरकार के समक्ष अपनी मांग को पुरजोर ढंग से रखा गया है। मोर्चा द्वारा पत्र व ज्ञापन के माध्यम से भी देश के प्रधानमंत्री, केंद्रीय रक्षा मंत्री सहित सरकार के कई वरिष्ठ नेताओं को यादव समाज की मांग से अवगत कराया गया है। लेकिन इस मुद्दे पर सरकार द्वारा कोई सकारात्मक संकेत नहीं मिला है। इसलिए मोर्चा ने निर्णय लिया है कि पूरे देश में एक विस्तृत संगठन खडा किया जाएगा। इसके तहत पहले हरियाणा तथा उसके बाद देश के अन्य राज्यों में मोर्चा का विस्तार करते हुए प्रदेश, जिला, ब्लॉक तथा गांव वार कमेटियों का गठन किया जाएगा। हरियाणा में इस अभियान की शुरुआत कर दी गई है।

भगवान बुद्ध की पावन धरा पर पहुंची रेजिमेंट गठन की अलख
यादव समाज द्वारा भारतीय सेना में अहीर रेजिमेंट के गठन की अलख भगवान बुद्ध की पावन धरा कुशीनगर भी पहुंच गई है। कुशीनगर में मोर्चा की टीम ने उत्तर प्रदेश में संगठन के विस्तार के लिए एक बैठक का आयोजन किया। बैठक में पूर्वांचल की धरती के लाल पूर्व लोकसभा सांसद बालेश्वर यादव, समाजवादी पार्टी के विधान परिषद के सदस्य राम अवध यादव ने पूरे उत्तर प्रदेश में व्यापक स्तर पर संगठन का विस्तार करने तथा अहीर रेजिमेंट के मुद्दे पर बड़ा आंदोलन शुरू करने का आश्वासन दिया। इस दौरान समाजसेवी चंद्रजीत यादव, दिनेश यादव, दलीप यादव, सचिन प्रताप यादव भी बैठक में उपस्थित रहे।

धरने के 74वें दिन खेड़कीदौला पहुंचीं गढी नत्थे खां गांव की सरदारी
मोर्चा के तत्वाधान में जारी बेमियादी धरने के 74वें दिन गढी नत्थे खां गांव की सरदारी ने खेड़कीदौला पहुंचकर भारतीय सेना में अहीर रेजिमेंट के गठन के लिए आवाज बुलंद की। इस दौरान रमेश सरपंच, सुखबीर तंवर, कैप्टन राम भरोसे के नेतृत्व में भारी संख्या में गांव के बुजुर्ग, युवा तथा मातृशक्ति ने अहीर रेजिमेंट के लिए हुंकार भरी। इस दौरान धरना स्थल पर जय यादव जय माधव तथा अहीर रेजिमेंट हक है हमारा के नारे गूंजते रहे।

रेजांगला के जांबाज कैप्टन रामचंद्र यादव भी पहुंचे खेड़कीदौला
अहीर रेजिमेंट के लिए जारी बेमियादी धरने को भारत-चीन युद्ध के दौरान रेजांगला में अपने शौर्य से मृत्यु पर भी विजय प्राप्त करने वाले वीर योद्धा कैप्टन राम चंद्र की अगुवाई में कैप्टन चंदगी राम, सूबेदार मेजर धर्म देव, राव नरेश चंद्र, सूबेदार मेजर निहाल सिंह समर्थन देने पहुंचें। उन्होंने कहा कि रेजांगला में परमवीर चक्र विजेता मेजर शैतान सिंह भाटी के नेतृत्व में देश के लिए जो अनुपम बलिदान दिया था, उस पराक्रम और शौर्य को आज सारा विश्व नमन करता है। कैप्टन रामचंद्र यादव ने कहा कि केंद्र सरकार रेजांगला के उन वीर बलिदानियों को श्रद्धांजलि देते हुए सम्मान के तौर पर जल्द से जल्द भारतीय सेना में अहीर रेजिमेंट का गठन करें। इस मौके पर संयुक्त अहीर रेजिमेंट मोर्चा की टीम ने रेजांगला शौर्य टीम का भव्य स्वागत किया।

Read Previous

तिब्बत कभी भी चीन का हिस्सा नहीं था: इंद्रेश कुमार

Read Next

RVCF ने 19 गुणा रिटर्न के साथ फिनटेक स्टार्टअप मोसम्बी से अपनी हिस्सेदारी का विनिवेष किया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Most Popular