Gurugram

India-Tibet Cooperation Forum ने फूंका चाइना, पाकिस्तान का पुतला

India-Tibet Cooperation Forum

Viral Sach – गुरुग्राम : पाक अधिकृत कश्मीर और चीन अधिकृत कश्मीर की जमीन की मुक्ति की मांग को लेकर शुक्रवार को शहर में प्रदर्शन किया गया। India-Tibet Cooperation Forum की ओर से आयोजित किये गये इस विरोध प्रदर्शन के दौरान डाकखाना चौक पर चीन के राष्ट्रपति शी जिन पिंग व पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का पुतला भी फूंका गया। मंच के संरक्षक आरएसएस के प्रचारक इंद्रेश कुमार के दिशा-निर्देशन में यह कार्यक्रम एक सितम्बर 2021 से 15 अक्टूबर तक देशभर में आयोजित किये जा रहे हैं।

दोनों का संयुक्त रूप से पुतला बनाकर उस पर दोनों देशों के झंडे लगाये गये थे। वहीं प्रदर्शन के दौरान भारत-तिब्बत सहयोग मंच के साथ आए सदस्यों ने हाथों में तिरंगे लेकर भारत माता की जयकारे भी लगाए। इसके साथ ही कैलाश मानसरोवर और तिब्बत को कब्जा मुक्त करो जैसे नारे इस प्रदर्शन के दौरान लगाए गए। भारत के प्रधानमंत्री तक पाक अधिकृत कश्मीर व चीन अधिकृत कश्मीर की आजादी की मांग पहुंचाने के लिए ही मंच की ओर से यह प्रदर्शन किया गया।

संस्था के राष्ट्रीय मंत्री प्रमोद गोयल, प्रांत अध्यक्ष अमित गोयल ने कहा कि देशवासियों की भावनाओं को समझते हुए प्रधानमंत्री इस मामले में कठोर कदम उठाएं और दोनों मांगों को पूरा करें। उन्होंने कहा कि गिलगित-बाल्टिस्तान-पीओके को खाली करे। उन्होंने कहा गया है कि अवैधानिक तरीके एवं जोर-जबरदस्ती तरीके से कब्जाई गई एक-एक इंच भारत भूमि को मुक्त कराने के लिए भारत-तिब्बत सहयोग मंच काम करता रहेगा।

उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती सरकारों की अदूरदर्शिता, नाकामी, अक्षमता एवं लापरवाही के कारण अवैधानिक तरीके से तथा जोर-जबरदस्ती से पाक अधिकृत कश्मीर, अक्साई चीन एवं गिगित-बाल्टिस्तान चीन तथा पाकिस्तान कब्जे में हैं। इस भूमि को आजाद कराने के लिए भारतीय संसद में संकल्प भी लिया गया था, लेकिन आज तक कब्जाई गई भारत भूमि को मुक्त नहीं कराया गया है। इसे जल्द ही मुक्त कराना चाहिए। बल्कि देश के प्रत्येक राष्ट्रवादी एवं देशभक्तों की यही इच्छा है।

इस विरोध प्रदर्शन में चंदन मुंजाल, विनोद वर्मा, सुनील तंवर, कुलभूषण भारद्वाज, कृष्ण तंवर, परमिंदर कटारिया, मंगतराम बागड़ी, गगनदीप चौहान, अजय जैन, अनिल हिंदू, आशीष गुप्ता, निशांत अहलावत, अंकित चौहान, नानक बजाज, सतनारायण, संत कुमार, अनुपम कुमार, धर्मेंद्र फौजी व प्रवीण आहुजा भी शामिल रहे। बता दें कि भारत-तिब्बत सहयोग मंच की ओर से तिब्बत की आजादी मानसरोवर की मुक्ति भारत की सुरक्षा के लिए पहले से ही अभियान चलाया जा रहा है। इसके साथ ही पाक अधिकृत कश्मीर और चीन अधिकृत कश्मीर भी संस्था के एजेंडे में है।

 

India-Tibet Cooperation Forum

 

Translated by Google 

Viral Sach – Gurugram: India-Tibet Cooperation Forum – A demonstration was held in the city on Friday demanding the liberation of the land of Pakistan Occupied Kashmir and China Occupied Kashmir. During this protest organized by the Indo-Tibet Cooperation Forum, effigies of Chinese President Xi Jinping and Pakistan Prime Minister Imran Khan were also burnt at the Post Office Square. This program is being organized across the country from September 1, 2021 to October 15, under the guidance of RSS pracharak Indresh Kumar, the patron of the forum.

An effigy of both was made jointly and the flags of both the countries were hoisted on it. At the same time, during the demonstration, the members who came with the Indo-Tibet Cooperation Forum also chanted Bharat Mata with the tricolor in their hands. Along with this, slogans like Kailash Mansarovar and free Tibet from occupation were raised during this demonstration. This demonstration was done on behalf of the platform only to convey the demand of independence of Pakistan Occupied Kashmir and China Occupied Kashmir to the Prime Minister of India.

Sanstha’s National Minister Pramod Goyal, State President Amit Goyal said that understanding the sentiments of the countrymen, the Prime Minister should take strict steps in this matter and fulfill both the demands. He said that Gilgit-Baltistan-PoK should be vacated. He has said that the Indo-Tibetan Cooperation Forum will continue to work to free every inch of India’s land that was captured illegally and forcefully.

He said that due to the short-sightedness, failure, inefficiency and carelessness of the previous governments, Pakistan Occupied Kashmir, Aksai Chin and Gigit-Baltistan are under the occupation of China and Pakistan illegally and forcefully. A resolution was also taken in the Indian Parliament to liberate this land, but till date the captured Indian land has not been freed. It should be released soon. Rather, this is the wish of every nationalist and patriot of the country.

In this protest, Chandan Munjal, Vinod Verma, Sunil Tanwar, Kulbhushan Bhardwaj, Krishna Tanwar, Parminder Kataria, Mangatram Bagdi, Gagandeep Chauhan, Ajay Jain, Anil Hindu, Ashish Gupta, Nishant Ahlawat, Ankit Chauhan, Nanak Bajaj, Satnarayan, Sant Kumar , Anupam Kumar, Dharmendra Fauji and Praveen Ahuja were also involved. Let us tell you that a campaign is already being run by the Indo-Tibet Cooperation Forum for the freedom of Tibet, the liberation of Mansarovar and the security of India. Along with this, Pakistan Occupied Kashmir and China Occupied Kashmir are also on the agenda of the organization.

Follow us on Facebook 

Follow us on Youtube

Read More News 

Shares:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *