दिल्ली में दंगा करने वालों को बेनकाब करना जरूरी: नवीन गोयल

दिल्ली में दंगा करने वालों को बेनकाब करना जरूरी: नवीन गोयल

गुरुग्राम,(प्रवीन कुमार) : भाजपा युवा नेता नवीन गोयल ने गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में हुई घटना की निंदा करते हुए कहा कि यह काम किसानों का नहीं है। किसानों के भेष में जिन लोगों ने दिल्ली में जो हंगामा किया है, वह किसी भी तरह से सभ्य नहीं कहा जा सकता।

बेशक शरारती तत्वों ने माहौल खराब करने के प्रयास किए हों, लेकिन देश की जनता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी में विश्वास करती है।

यहां जारी बयान में नवीन गोयल ने कहा कि सरकार इतने दिनों से धरने पर बैठे किसानों के साथ बातचीत करके तीन अध्यादेश पर बीच का रास्ता निकाल रही थी। सरकार की मंशा साफ थी कि किसानों को जब तक पूरी तरह से संतुष्ट ना कर दे, तब तक अध्यादेश लागू करने को आगे नहीं बढ़ाया जाएगा।

सरकार कभी नहीं चाहती है कि देश के अन्नदाता को नाराज करके किसी भी तरह का अध्यादेश लागू किया जाए। इसके लिए सरकार ने डेढ़ साल का लंबा समय भी किसानों से बातचीत में दिया।

ताकि हर कोई इस अध्यादेश को बारीकी से पढ़ ले, समझ ले। क्योंकि आंदोलन ही करते रहना, किसी बात का हल नहीं है। भाजपा युवा नेता ने कहा कि बार-बार कृषि मंत्री ने किसानों के प्रतिनिधिमंडल से बात करके उन्हें इस अध्यादेश पर अपनी बात रखी है।

यह देश की अस्मिता पर हमला है। लाल किले पर झंडा लगा देने की हिमाकत से पता चलता है कि इसके पीछे बहुत बड़ी साजिश चल रही थी। प्रदर्शनकारियों के सामने पुलिस उन्हें समझाने का प्रयास करती रही, लेकिन शरारत करने वालों ने पुलिस को ही निशाना बनाया।

यह सब दंगे करने के लिए उकसाने की कार्यवाही थी। गणतंत्र दिवस पर शांतिपूर्वक मार्च की बात कहकर राजधानी में जो बवाल किया गया है, वह किसानों का काम नहीं हो सकता। किसानों की आड़ में शरारती तत्वों ने यह काम किया है। सरकार ने कुछ लोगों की तो पहचान कर ली है। बाकी की भी पहचान की जा रही है। नवीन गोयल ने कहा कि सरकार ऐसे तत्वों से सख्ती से निपटे।

साथ ही उन्होंने कहा कि देश की जनता का जो विश्वास प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी में है, वह किसी भी कीमत पर डगमगा नहीं सकता।

Leave your comment
Comment
Name
Email