किसान आंदोलन किसान – मजदूर के हितों की लड़ाई है : बलराज सभरवाल

बरवाला,(ब्यूरो) : संत शिरोमणि श्री गुरु रविदास छात्रावास में अनुसूचित जाति व पिछड़ा वर्ग की, किसान आंदोलन के समर्थन में एक महापंचायत का आयोजन हुआ। जिस में भारतीय किसान युनियन के प्रदेश अध्यक्ष गुरनाम सिंह चढुनी ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की।

हलका उकलाना से दलित समाज के लोगों के साथ साथ पिछड़ा वर्ग के लोग भी भारी संख्या में मौजूद रहे महिला किसान नेता रिमन नैण खेदड विशेष रूप से मौजूद रही। इस अवसर पर बलराज सभ्रवाल पूर्व ईटीओ एवं प्रमुख समाज सेवी हल्का उकलाना भी अपनी टीम के साथ पहुँचे व किसान नेताओं का स्वागत किया।

दलित समाज के नेताओं ने संयुक्त किसान मोर्चा व भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष गुरनाम सिंह चढुनी को यह आश्वासन दिया की सभी दलित मजदूर किसानों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर किसान आंदोलन की लड़ाई लड़ेंगे और जब तक यह तीनों काले कानून वापिस नहीं हो जाते और एमएसपी पर कानून नहीं बन जाता तब तक पीछे नहीं हटेंगे।

balraj

किसान नेता काला कनोह, सतीष पातड, अजीत लितानी, नरेन्द्र घणघस, सत्यवान प्रधान, सन्त सिरोमणी रविदास छात्रवास बरवाला से सुरेश द्रविड, डा० बलहारा, सुनील सभ्रवाल, समीर इन्दौरा, सोहन लाल, प्रेम कुमार, सुभाष लाग्यान, सुरेन्द्र छान आदि विशिष्ट व्यक्ति मौजूद थे ।

बलराज सभ्रवाल ने अपने सम्बोधन में कहा कि दलित मजदूर और किसान अलग अलग नही है ये एक दूसरे के पूरक है । इसीलिए ये मजदूर किसान की लड़ाई है। और हम किसान मजदूर विरोधी तीनों काले कानुन रद्द होने तक यह आन्दोलन जारी रखेगें ।

Read Previous

नगर निगम का चला पीला पंजा, लगभग 60 मकान व 12 दुकानों को किया ध्वस्त

Read Next

ईज ऑफ डूईंग के साथ ईज ऑफ लीविंग की आवश्यकता: बोधराज सीकरी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Most Popular