राव इंद्रजीत की तरह हर नेता को करना चाहिए ऐसा काम : गडकरी

गुरुग्राम, (मनप्रीत कौर) : केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि केंद्रीय राज्य मंत्री राव इंद्रजीत ने नेशनल हाईवे की सड़कों को बनवाने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की है। उन्होंने राव की प्रशंसा करते हुए कहा कि नेशनल हाईवे के अधिकारियों ने उन्हें बताया कि नेशनल हाईवे द्वारा की जा रही सड़क निर्माण में केंद्रीय राज्य मंत्री की जहां पर भी जमीन आई उन्होंने बेरोकटोक नेशनल हाईवे को जमीन सड़क बनाने के लिए दे दी और नेशनल हाईवे के अधिकारियों को कहा कि वे नि: संकोच सड़क का निर्माण करें। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहां की नेताओं को ऐसा करना चाहिए ऐसे लोग ही देश में काम कर सकते हैं।राव इंद्रजीत ने इस मामले में एक मिसाल पेश की है। यह चर्चा करते हुए श्री गडकरी ने बताया कि वे महाराष्ट्र सरकार में मंत्री थे तो उनके ससुर की जमीन सड़क निर्माण के बीच में आ रही थी लेकिन उन्होंने उसकी परवाह ना करते हुए उस पर भी बुलडोजर चलवा दिया था । राव इंद्रजीत ने भी ऐसा ही काम किया है।

केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री श्री गडकरी ने बताया कि राव इंद्रजीत सिंह ने दिल्ली जयपुर नेशनल हाईवे में आ रही बाधाओं को लेकर अनेकों बार उनके सामने मांगी थी। उनकी मांग पर मानेसर एलिवेटेड फ्लाईओवर, बिलासपुर चौक फ्लाईओवर , बावल चौक फ्लाईओवर , मसानी बैराज पर 2 लाइन अतिरिक्त निर्माण सहित धारूहेड़ा बाईपास जैसी महत्वपूर्ण योजना को मंजूरी दी गई है। इन सभी योजनाओं के लिए टेंडर की प्रक्रिया अंतिम चरण में है।

12 सौ करोड़ से होगा दिल्ली जयपुर नेशनल हाईवे 48 का कायाकल्प

केंद्रीय मंत्री श्री नितिन गडकरी ने बताया कि राव इंद्रजीत सिंह दिल्ली जयपुर नेशनल हाईवे पर आ रही बाधाओं से उन्हें अवगत करवाया था। आज मैं इस मंच के माध्यम से राव इंद्रजीत को बताना चाहता हूं कि दिल्ली जयपुर , किशनगढ़ तक यातायात को सुगम बनाने के लिए 12 सौ करोड रुपए की मंजूरी दी गई है और जल्दी इस पर काम भी शुरू कर दिया जाएगा।

द्वारका एक्सप्रेसवे पर इलेक्ट्रिक यातायात शुरू करने की भी है योजना

केंद्रीय मंत्री श्री नितिन गडकरी ने बताया कि दिल्ली गुरुग्राम द्वारका एक्सप्रेसवे पर तीन लेयर फ्लाईओवर का निर्माण किया जा रहा है वही 2022 तक उसको पूरी करने की योजना है। उन्होंने बताया कि मेरे संसदीय क्षेत्र नागपुर की तरह द्वारका एक्सप्रेसवे पर भी इलेक्ट्रिक यातायात शुरू करने की योजना है जिसमें पोड टैक्सी व अन्य यातायात साधन शामिल है।

Jindal Jewel advt

Read Previous

दीदी ओ दीदी के बाद अब्बा जान

Read Next

1947 के विभाजन का दर्द – बुजुर्गों की जुबानी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Most Popular