Politics

RWA के अधिकार वापस दिलाने के लिए विधायक ने की सिफारिश

MLA Sudhir SIngla, RWA

 

Viral Sach – गुरुग्राम : शहर के रेजीडेंट वेलफेयर एसोसिएशन (RWA) के अधिकारों को वापस दिलाने की मांग पर विधायक ने सिफारिश की है। नगर निगम आयुक्त को पत्र लिखकर उन्होंने इस विषय पर सकारात्मक पहल करने की बात कही है।

विधायक सुधीर सिंगला की ओर से लिखे गये पत्र में कहा गया है कि शहर के आरडब्ल्यूए के पदाधिकारियों ने उसने मुलाकात की थी। इस दौरान उन्होंने कहा था कि उन्हें अपने क्षेत्रों में होने वाले कार्यों की कोई जानकारी नहीं मिलती। उनके अधिकारियों को खत्म कर दिया गया है। विधायक ने कहा है कि आरडब्ल्यूए अपने क्षेत्रों के लोगों द्वारा चयनित वैधानिक संस्था है।

आरडब्ल्यूए के अधिकार नियमों के साथ विधान द्वारा प्राप्त हैं। कुछ समय पहले बदले गये नियमों के कारण आरडब्ल्यूए इलाकों में विकास कार्यों में अनियमितता भी बढ़ रही है।

जो एक ईमानदार समाज के नियमों के विरुद्ध है। सभी पहलुओं को देखते हुए जल्द से जल्द आरडब्ल्यूए की इस समस्या का समाधान किया जाए और आरडब्ल्यूए के अधिकार वापस किये जायें। उन्होंने कहा है कि जो भी आरडब्ल्यूए प्रभावशाली तरीके से काम कर रही हैं, उन्हें कम्युनिटी सेंटर व पार्कों के रखरखाव का जिम्मा दे दिया जाए।

यह थी आरडब्ल्यूए की मांग :-
विधायक को ज्ञापन देने पहुंचे सेक्टर-10ए आरडब्ल्यूए के अध्यक्ष कमांडर उदय वीर सिंह, सेक्टर-9 के अध्यक्ष प्रशांत चौहान, आरडी सिटी के अध्यक्ष प्रवीण यादव, योगिता कटारिया व भाजपा अनुसूचित मोर्चा जिला उपाध्यक्ष टिंकू कुमार वर्मा ने विधायक को मांग पत्र देकर कहा था कि शहर में पार्कों और कम्युनिटी सेंटर का आरडब्ल्यूए रखरखाव करती थी। बाद में इन्हें वार्ड कमेटी बनाकर उन्हें सौंप दिया गया। इसमें सीधे पार्षदों की भूमिका है। आरडब्ल्यूए नाम मात्र के रह गये हैं।

उनकी शक्तियों को खत्म कर दिया गया है। आरडब्ल्यूए की कहीं भी सुनवाई नहीं हो रही। सामाजिक कार्यों में प्रशासन भी आरडब्ल्यूए को आगे रखता है तो फिर उनसे पार्क व कम्युनिटी सेंटर के रखरखाव का अधिकार क्यों छीना गया। वार्ड कमेटी की ओर से किसी भी काम में आरडब्ल्यूए को नहीं पूछा जाता। वार्ड कमेटी में सदस्य आरडब्ल्यूए के खिलाफ  रहते हैं। आरडब्ल्यूए को जनता चुनकर भेजती है, इसलिए उन्हें धरातल का अधिक ज्ञान रहता है।

 

bombay Jewellers, RWA

 

Translated by Google

Viral Sach – Gurugram: The MLA has recommended on the demand of getting back the rights of the Resident Welfare Association of the city. By writing a letter to the municipal commissioner, he has asked to take positive initiative on this subject.

In the letter written by MLA Sudhir Singla, it has been said that the office bearers of the city’s RWA had met him. During this, he had said that he does not get any information about the works being done in his areas. His officers have been eliminated. The MLA has said that the RWA is a statutory body elected by the people of their areas.

The rights of RWAs are derived from the legislation along with the rules. Irregularities are also increasing in the development works in RWA areas due to the rules changed some time back.

Which is against the rules of an honest society. Looking at all aspects, this problem of RWA should be resolved as soon as possible and the rights of RWA should be returned. He has said that all the RWAs who are working effectively should be given the responsibility of maintaining community centers and parks.

This was the demand of RWA :-
Sector-10A RWA President Commander Uday Veer Singh, Sector-9 President Prashant Chauhan, RD City President Praveen Yadav, Yogita Kataria and BJP Scheduled Front District Vice President Tinku Kumar Verma came to give memorandum to the MLA. That the RWA used to maintain the parks and community centers in the city. Later they were handed over to them by making them ward committees. Councilors have a direct role in this. RWAs have been reduced to mere names.

His powers have been nullified. RWA is not being heard anywhere. The administration also keeps RWAs ahead in social works, then why was the right to maintain parks and community centers taken away from them. RWA is not asked for any work by the Ward Committee. The members in the Ward Committee remain against the RWA. RWAs are sent by electing people, so they have more knowledge of the ground.

Follow us on Facebook 

Follow us on Youtube

Read More News 

Shares:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *