Politics

Naveen Goyal – बदलाव के लिए शिक्षा को अहम मानते थे बाबा साहेब

Naveen Goyal

 

Viral Sach : भारत रत्न बाबा साहेब डा. भीमराव अम्बेडकर की जयंती पर आयोजित समारोह में पर्यावरण संरक्षण विभाग भाजपा हरियाणा प्रमुख Naveen Goyal ने उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किए।

यह कार्यक्रम अम्बेडकर नगर में अंबेडकर पार्क में एससी मोर्चा के जिला उपाध्यक्ष टिंकू वर्मा व खेड़कीदौला मंडल के उपाध्यक्ष नरेश कटारिया की ओर से आयोजित किया गया। क्षेत्र के सैंकड़ों लोगों ने शिरकत की।

इस अवसर पर नवीन गोयल ने कहा कि भारत रत्न बाबा साहेब डा. भीमराव अम्बेडकर का जीवन राष्ट्र को समर्पित रहा। उन्होंने संविधान के माध्यम से देश को एक सूत्र में पिरोने के लिए संविधान की रचना की। उन्होंने संविधान में सबको बराबरी के अधिकार दिए। उन्होंने शिक्षित बनो, संगठित बनो और संघर्ष करो का नारा देकर राष्ट्र को जागृत करने का काम किया।

श्री गोयल ने कहा कि जितने भी महापुरुष हुए हैं, सभी ने सर्व समाज के कल्याण के लिए अपना योगदान दिया है। हमें सभी महापुरुषों के जीवन का अनुसरण करते हुए प्रेरणा लेनी चाहिए।

बाबा साहेब की तुलना किसी और से नहीं की जा सकती। वे हमेशा शोषितों, वंचितों, महिलाओं के हकों के लिए लड़ते रहे और जातिवाद को चुनौती देते रहे। डॉ. भीमराव अंबेडकर जी के व्यक्तित्व के विषय में हमारी भावी पीढिय़ों को भी ज्ञान होना जरूरी है।

बाबा साहेब मानते थे कि कोई भी देश तब तक विकास नहीं कर सकता, जब तक वहां की औरतें विकसित ना हो जाएं। वर्ष 1947 में अंबेडकर भारत सरकार में कानून मंत्री बने और भारत के संविधान निर्माण में एक अहम भूमिका निभाई। उन्होंने एक ऐसे भारत की कल्पना की, जहां सभी नागरिकों के साथ समान व्यवहार हो। उन्होंने अपने जीवन में बहुत परेशानियां उठाई, लेकिन कभी हार नहीं मानी।

उनके द्वारा लिखा गया भारत का संविधान आज विश्व का सबसे शक्तिशाली संविधान है। संविधान इतना शक्तिशाली है कि वह राष्ट्र को नई दिशा प्रदान कर रहा है। नौ भाषाओं पर उनकी पकड़ होने के साथ उन्होंने 64 अलग-अलग विषयों में शिक्षा ग्रहण की थी। इसलिए उनका जीवन हम सबके लिए प्रेरणादायी है।

उनके एक भी संदेश को अगर हम अपनाकर चलें तो हम अपना जीवन बेहतर बना सकते हैं। शिक्षा को बदलाव का उन्होंने सबसे बड़ा माध्यम माना। अशिक्षा को खत्म करके वे हर किसी को शिक्षित होने की प्रेरणा देते रहे।

कार्यक्रम के दौरान बाबा साहेब के जीवन से जुड़े संस्मरणों की झांकियां भी निकाली गई। इस अवसर पर भाजपा एससी मोर्चा के जिला अध्यक्ष रणजीत सिंह, एससी मोर्चा महामंत्री नरेश नीमवाल, पदम सिंह, दयावती, रिना सिंह, श्री चौहान उपस्थित रहे।

Naveen Goyal

Translated by Google

Viral Sach: Environment Protection Department BJP Haryana chief Naveen Goyal paid tribute to Bharat Ratna Babasaheb Dr. Bhimrao Ambedkar at the function organized on his birth anniversary.

This program was organized at Ambedkar Park in Ambedkar Nagar by Tinku Verma, District Vice President of SC Morcha and Naresh Kataria, Vice President of Khedkidola Mandal. Hundreds of people from the area attended.

On this occasion, Naveen Goyal said that Bharat Ratna Babasaheb Dr. Bhimrao Ambedkar’s life was devoted to the nation. He created the constitution to unite the country in one thread through the constitution. He gave equal rights to everyone in the constitution. He did the work of awakening the nation by giving the slogan of be educated, organize and struggle.

Shri Goyal said that all the great men have contributed for the welfare of the entire society. We should take inspiration by following the lives of all the great men.

Baba Saheb cannot be compared with anyone else. He always fought for the rights of the oppressed, the underprivileged, women and challenged casteism. Our future generations also need to have knowledge about the personality of Dr. Bhimrao Ambedkar.

Baba Saheb used to believe that no country can develop until the women there are not developed. In the year 1947, Ambedkar became the Law Minister in the Government of India and played an important role in the making of the Constitution of India. He envisioned an India where all citizens are treated equally. He faced many troubles in his life, but never gave up.

The Constitution of India written by him is the most powerful constitution in the world today. The constitution is so powerful that it is giving a new direction to the nation. He was educated in 64 different subjects with a command over nine languages. That’s why his life is inspirational for all of us.

If we follow even one of his messages, we can make our life better. He considered education as the biggest medium of change. By ending illiteracy, he kept inspiring everyone to be educated.

During the program tableaus of memoirs related to the life of Babasaheb were also taken out. District President of BJP SC Morcha Ranjit Singh, SC Morcha General Secretary Naresh Neemwal, Padam Singh, Dayawati, Rina Singh, Mr. Chauhan were present on this occasion.

Follow us on Facebook 

Follow us on Youtube

Read More News

Shares:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *