गुरूग्राम ही नही, पूरे देश में सार्वजनिक स्थानों पर नमाज को पढने से रोकने हेतु हिन्दू समाज संगठित

गुरूग्राम ही नही, पूरे देश में सार्वजनिक स्थानों पर नमाज को पढने से रोकने हेतु हिन्दू समाज संगठित

गुरूग्राम, (प्रवीन कुमार ) :  गत कुछ समय से चल रहे  सार्वजनिक स्थानों पर नमाज को पढने से रोकने के लिए चल रहे आन्दोलन की दिशा में आज सैक्टर 12 ए मे विशाल गोवर्धन पूजा का आयोजन तथा विशाल भण्ङारे का आयोजन  किया गया ।hindu nmaaj
उल्लेखनीय है कि केवल गुरूग्राम ही नही अन्तर्राष्ट्रीय मुद्दा बन चुके सार्वजनिक स्थानों पर नमाज को पढने से रोकने हेतु दो दर्जन संगठनो का महा मंच संयुक्त हिन्दू संघर्ष समिति द्वारा चलाए जा रहे आन्दोलन के चलते आज समिति द्वारा आयोजित कार्यक्रम मे विहिप के अन्तर्राष्ट्रीय महामंञी सुरेन्द्र जैन जी,  प्रखर हिन्दू वक्ता कपिल मिश्रा, रवि रंजन , विहिप के राष्ट्रीय प्रवक्ता विनोद बंसल तथा समाज से जुङे विभिन्न संगठनों के  सैकङो देशभक्तों ने हिस्सा लिया।
आयोजन मे गत दिनो आन्दोलन के दौरान जेल गए सभी हिन्दू वीर और वीरांगनाओ का पटका और माल्यार्पण कर अभिनन्दन किया गया। आयोजन स्थल पर आयोजको द्वारा गोवर्धन पूजा हेतु विशालकाय गाय के गौबर से निर्मित प्रतिमा का भी निर्माण किया गया। उपस्थित समूह द्वारा पूजा अर्चना कर जय श्री राम के गगनभेदी उदघोष भी लगाए गए।
उपस्थित जनसमूह को सम्बोधित करते हुए विहिप के अन्तर्राष्ट्रीय महामंञी सुरेन्द्र जैन जी ने कहा कि
सार्वजनिक स्थानों पर नमाज पढ़ना एक जेहादी फसाद है, जिसके अंतर्गत आस्था व्यक्त करने का मकसद ना होकर अपनी शक्ति प्रदर्शन करना तथा बाद में सार्वजनिक स्थानों पर अपना कब्जा स्थापित करना मुस्लिम समुदाय का प्रमुख मकसद है।
उक्त कथन विश्व हिंदू परिषद के राष्ट्रीय संयुक्त महामंत्री डॉ सुरेंद्र जैन जी ने संयुक्त हिन्दू संघर्ष समिति द्वारा गुरुग्राम में आयोजित गोवर्धन पूजा के अवसर पर मुख्य वक्ता के रूप में व्यक्त की।
गौरतलब है कि 2018 से गुरुग्राम में सार्वजनिक स्थानों पर नमाज अदा करने के विषय को लेकर संयुक्त हिंदू संगठन के द्वारा आंदोलन किया जा रहा है।
3 नवंबर 2021 को हिंदू संगठनों द्वारा किए जा रहे हैं विरोध प्रदर्शन के दबाव में आकर गुरुग्राम प्रशासन ने एक संयुक्त बैठक बुलाई जिसमें मुस्लिम नेताओं तथा प्रशासन ने तथाकथित 37 स्थानों की अलॉटमेंट को खारिज कर दिया केवल प्रशासन ने ही नहीं अब तो मुस्लिम नेताओं ने भी सार्वजनिक स्थानों पर धार्मिक गतिविधियों को गैर कानूनी एवं असंवैधानिक करार दिया।
डॉ सुरेश जैन जी ने बड़ी संख्या में आए हिंदू समाज को संबोधित करते हुए कहा कि 1946 में 95% मुसलमानों ने हिंदुओं के साथ रहना स्वीकार करते हुए अलग मुस्लिम देश की मांग की थी जिसके परिणाम स्वरूप 1947 में देश का विभाजन हुआ।
डॉ जैन जी ने यह भी कहा कि विभाजन के बाद 95% मुस्लिम समुदाय के लोगों को पाकिस्तान चले जाना चाहिए था जो कि केवल 40% ही गए। आज वही बचे 45% मुस्लिम अपने खुद के लिए और देश के लिए भी समस्या बने हुए हैं उन्होंने यह भी कहा कि यदि मुस्लिम भाइयों को खुले में नमाज पढ़ना ज्यादा अच्छा लगता है तो उनके लिए पाकिस्तान की धरती हो सकती है डॉ जैन जी ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि नमाज अदा करने के कुछ समय बाद कब्जा करने की प्रक्रिया प्रारंभ हो जाती है जिसके तहत वह अपनी मजार अथवा मस्जिद खड़ी कर लेते हैं।
डॉक्टर जैन जी ने संयुक्त हिंदू संघर्ष समिति के मंच से ऐलान किया कि सार्वजनिक स्थानों पर चल रही नमाज पर गुरुग्राम में लगी पाबंदी का संदेश समूचे भारतवर्ष में जाएगा तथा गुरुग्राम में संघर्ष समिति के द्वारा असत्य पर विजय के परिणाम स्वरूप अब देश में किसी भी हिस्से में यह असंवैधानिक काम नहीं हो सकेगा।
गुरुग्राम में गोवर्धन पूजा एवं हिंदू समागम के अभूतपूर्व कार्य में कार्यक्रम में संबोधित करते हुए संयुक्त हिंदू संघर्ष समिति के प्रदेश अध्यक्ष महावीर भारद्वाज जी ने कहा कि 2018 से चल रहे संघर्ष को 3 नवंबर को समय विराम लग गया जब जिला प्रशासन द्वारा बुलाई गई संयुक्त बैठक में स्पष्ट कर दिया गया कि सार्वजनिक स्थानों पर किसी प्रकार का उपयोग असंवैधानिक कार्य के लिए नहीं किया जाएगा। गुरूग्राम जिला उपायुक्त ने यह भी साफ कर दिया कि तथाकथित 37 सालों पर अलॉट सूची निर्धारण है तथा प्रशासन द्वारा स्वीकृत नहीं है।
श्री भारद्वाज जी ने कहा कि मुस्लिम समुदाय के नेताओं ने बैठक में उपायुक्त के कथन का समर्थन किया तथा यह माना कि किसी भी सार्वजनिक स्थान का उपयोग नमाज अदा करने के लिए नहीं करेंगे।
उन्होंने यह भी बताया कि बैठक में तय हुआ था कि 1 माह के भीतर मुस्लिम समुदाय अपने स्थानों का प्रबंध कर के 37 स्थानों को पूरी तरीके से नमाज रहित कर देंगे।
प्रशासन ने मुस्लिम समुदाय के लोगों को अवैध कब्जे हटाने में मदद करने का भरोसा दिलाया संघर्ष समिति द्वारा के प्रदेश अध्यक्ष ने अपने पूर्व बात को दोहराते हुए ऐलान किया कि गुरुग्राम में ही नहीं अपितु समूचे भारत में एक भी स्थान पर सार्वजनिक नमाज अदा नहीं की जाएगी
भले ही इसके लिए कोई भी कुर्बानी देनी पड़े अध्यक्ष महावीर भारद्वाज ने अपने संगठन के इस संकल्प को दोहराया कि हिंदू हित उनके लिए प्राथमिकता है उनके संरक्षण के लिए हिंदू संगठन एकजुट होकर कार्य करता रहेगा।
आज के कार्यक्रम का मंच संचालन समिति के प्रदेश प्रवक्ता राजीव मित्तल ने और अनुराग कुलश्रेष्ठ जी ने संयुक्त रूप से किया। विषय प्रस्तावना जिला बार संघ के पूर्व अध्यक्ष और वरिष्ठ अधिवक्ता कुलभूषण भारद्वाज जी ने की और आभार समिति के प्रदेश उपाध्यक्ष ब्रहम प्रकाश कौशिक ने किया।
मंच पर समिति के मुख्य संरक्षक नत्थू सिंह सरपंच, आर्य समाज से कन्हैयालाल आर्य, पदम जी भी मंचासीन रहे।  आयोजन में पूर्व एसीपी रणवीर सिंह यादव, प्रेम शंकर जी, हरीश शर्मा जी, जगदीश ग्रोवर जी, चेतन शर्मा, अभिषेक गौङ, मोनू मानेसर, रितुराज अग्रवाल, नवीन गोयल, बाली पण्डित, गौतम सैनी, श्यामसुन्दर जांघू,  अंजू रावत नेगी  एडवोकेट,  वीणा गौरई,  सीमा शर्मा, प्रमिला, वन्दना सिंगला,  अलका अग्रवाल, कर्नल जे एस यादव, मीनू शर्मा, सुशील सौदा, प्रमोद गुप्ता,  जितेन्द्र, गगनदीप चौहान, संजीव सैनी,  शरद जिन्दल, विवेक शर्मा, राजेशराज वत्स, ब्रजेश सिंह, राम बहादुर सिंह,  मनीष शर्मा, नवीन दहिया , सुनील शर्मा समेत अन्य संगठनों के सैकङो कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Leave your comment
Comment
Name
Email