Gurugram

मार्च 2024 तक 10 हजार होगी Jan Aushadhi Kendra की संख्या

Jan Aushadhi Kendra

 

Viral Sach – गुरुग्राम। Jan Aushadhi Kendra – गुरुग्राम के विधायक सुधीर सिंगला ने स्थानीय जैन संत फूलचंद चैरिटबेल अस्पताल में जनऔषधि दिवस कार्यक्रम में शिरकत की। यहां उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किए गए इस बेहतरीन प्रकल्प के बारे में काफी जानकारियां दी। उन्होंने कहा कि जनऔषधि केंद्र के कारण ही मंहगी से मंहगी दवाईयां भी गरीब व्यक्तियों तक पहुंची है।

विधायक सुधीर सिंगला ने कहा कि देश के नागरिकों की मूलभूत जरूरतों को पूरा करने के लिए केंद्र सरकार प्रतिबद्ध है। केंद्र सरकार प्रधानमंत्री भारतीय जनऔषधि परियोजना (पीएमबीजेपी) के तहत केवल सस्ती जेनरिक दवाएं ही नहीं, बल्कि स्वरोजगार का अवसर भी दे रही है।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने गरीबों और मध्यम वर्गीय परिवारों को ध्यान में रखते हुए सस्ती दवा मुहैया कराने के लिए साल 2015 में प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि परियोजना की शुरुआत की थी।

प्रधानमंत्री भारतीय जनऔषधि परियोजना के तहत जनता को सस्ती दरों पर जेनेरिक दवाएं उपलब्ध कराने के लिए पूरे देश में प्रधानमंत्री भारतीय जनऔषधि केंद्र खोले गए हैं। जन औषधि दवाओं की कीमतें आम तौर पर ब्रांडेड दवाओं की तुलना में 50 से 90 प्रतिशत कम होतीं हैं। जेनेरिक दवाएं उन दवाओं को कहा जाता है, जिनका कोई अपना ब्रांड नेम नहीं होता है। वह अपने सॉल्ट नेम से बाजार में जानी-पहचानी जाती है।

 

New Gurugram, sudhir singla

 

विधायक सुधीर सिंगला ने बताया कि पीएमबीजेपी के उत्पादों में 1759 दवाएं और 280 सर्जिकल उत्पाद शामिल हैं। मार्च 2025 तक 2000 दवाओं और 300 सर्जिकल उत्पादों को और शामिल करके का लक्ष्य है।

प्रधानमंत्री भारतीय जनऔषधि केंद्रों पर सभी आवश्यक दवाएं एंटी-डायबिटिक, कार्डियोवास्कुलर ड्रग्स, एंटी-कैंसर, एनाल्जेसिक और एंटीपायरेटिक्स, एंटी एलर्जी, गैस्ट्रो इंटेस्टाइनल एजेंट, विटामिन, मिनरल्स, च्यवनप्राश और फूड सप्लीमेंट आदि
मिलते हैं।

विधायक सुधीर सिंगला ने कहा कि कोविड-19 महामारी के दौरान मई 2021 में देश में 7,733 प्रधानमंत्री भारतीय जनऔषधि केंद्र थे। कोरोना काल में इन सभी केंद्रों पर आवश्यक दवाएं, फेस मास्क और सैनिटाइजर आसानी से उपलब्ध थे।

जनऔषधि केंद्रों पर सर्वोत्तम गुणवत्ता वाले एन-95 फेस मास्क केवल 25 रुपये प्रति यूनिट की दर से उपलब्ध था। केंद्रों पर फेस मास्क, हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन, पैरासिटामोल और एजिथ्रोमाइसिन जैसी भारी मांग वाली दवाओं का पर्याप्त स्टॉक निरंतर बनाए रखा।

विधायक ने बताया कि प्रधानमंत्री भारतीय जनऔषधि परियोजना के तहत देश भर में पहले से ही 9000 से अधिक जन औषधि केंद्र काम कर रहे हैं। सरकार ने मार्च 2024 तक जन औषधि केंद्रों की संख्या बढ़ाकर 10,000 करने का लक्ष्य तय किया है। सरकार ने इस लक्ष्य की प्राप्ति के लिए ही 651 जिलों में जन औषधि केंद्र खोलने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है।

कार्यक्रम के दौरान एसके जैन, समाजसेवी रविन्द्र जैन, नवीन गुप्ता, दिनेश जैन, दीपक जैन, अनिल जैन, समीर जैन, रिषभ जैन, संदीप जैन, अनिल, डा. अजय गर्ग, डॉ. रविकांत भूषण, डॉ. मनोज अग्रवाल, डॉ. सुनीता मनचंदा, डॉ. उषा खैर, डॉ. प्रियंका यादव, डॉ. भानू, डॉ. रूशिल जैन व अन्य गणमान्य मौजूद रहे।

Translated by Google 

Viral News – Gurugram – MLA Sudhir Singla participated in the Jan aushadhi Diwas program at the local Jain Sant Phoolchand Charitable Hospital. Here he gave a lot of information about this excellent project started by Prime Minister Narendra Modi. He said that due to the Jan Aushadhi Kendra, even the costliest medicines have reached the poor people.

MLA Sudhir Singla said that the central government is committed to fulfill the basic needs of the citizens of the country. Under Pradhan Mantri Bhartiya Jan Aushadhi Pariyojana (PMBJP), the central government is providing not only cheap generic medicines but also self-employment opportunities.

He said that the Central Government had started the Pradhan Mantri Bhartiya Jan Aushadhi Project in the year 2015 to provide affordable medicines keeping in mind the poor and middle class families.

Under the Pradhan Mantri Bhartiya Janaushadhi Project, Pradhan Mantri Bhartiya Janaushadhi Kendras have been opened across the country to provide generic medicines to the public at affordable rates. The prices of Jan Aushadhi medicines are generally 50 to 90 percent less than the branded medicines. Generic medicines are those medicines which do not have their own brand name. It is well known in the market by its salt name.

MLA Sudhir Singla informed that PMBJP’s products include 1759 medicines and 280 surgical products. The target is to add 2000 drugs and 300 surgical products by March 2025.

All essential medicines Anti-Diabetic, Cardiovascular Drugs, Anti-Cancer, Analgesic and Antipyretic, Anti Allergic, Gastro Intestinal Agents, Vitamins, Minerals, Chyawanprash and Food Supplements etc. at Pradhan Mantri Bhartiya Janaushadhi Kendras
see you.

MLA Sudhir Singla said that during the Covid-19 pandemic, there were 7,733 Pradhan Mantri Bhartiya Janaushadhi Kendras in the country in May 2021. Essential medicines, face masks and sanitizers were easily available at all these centers during the Corona period.

The best quality N-95 face mask was available at Janaushadhi Kendras at only Rs 25 per unit. Adequate stock of high demand medicines such as face masks, hydroxychloroquine, paracetamol and azithromycin were maintained at the centres.

The MLA said that under the Pradhan Mantri Bhartiya Janaushadhi Pariyojana, more than 9000 Janaushadhi Kendras are already functioning across the country. The government has set a target of increasing the number of Jan Aushadhi Kendras to 10,000 by March 2024. To achieve this goal, the government has approved the proposal to open Jan Aushadhi Kendras in 651 districts.

During the program SK Jain, social worker Ravindra Jain, Naveen Gupta, Dinesh Jain, Deepak Jain, Anil Jain, Sameer Jain, Rishabh Jain, Sandeep Jain, Anil, Dr. Ajay Garg, Dr. Ravikant Bhushan, Dr. Manoj Aggarwal, Dr. Sunita Manchanda, Dr. Usha Khair, Dr. Priyanka Yadav, Dr. Bhanu, Dr. Rushil Jain and other dignitaries were present.

Follow us on Facebook 

Read More News 

Shares:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *