Politics

Om Parkash Dhankar : सनातन और संत-मत ही भारत को भारत बनाते हैं

Om Parkash Dhankar

 

Viral Sach : गुरुग्राम में संत रविदास जयंती समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में बोलते हुए हरियाणा भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष Om Parkash Dhankar ने कहा है कि संतों के विचार ही भारत का विचार है।

सनातन और संत-मत ही भारत को भारत बनाते हैं। ओमप्रकाश धनखड़ ने संतों के सम्मान में भाजपा सरकारों द्वारा उठाए गए कदमों की तारीफ भी की। श्री धनखड़ से पहले अनुसूचित मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष लाभ सिंह आर्य, केंद्रीय संसदीय बोर्ड की सदस्य डा. सुधा यादव, मंत्री डा. बनवारी लाल, परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा, विधायक सत्य प्रकाश जरावता ने भी समारोह को संबोधित किया।

अपने संबोधन में ओमप्रकाश धनखड़ ने कहा कि सनातनी भारत और सनातन संस्कृति ही विश्वकल्याण और मानवता की मूल विचारधारा है। भारत की इस महानतम विचारधारा का निर्माण सनातन और संत परंपरा से ही हुआ है। भगवान वाल्मीकि द्वारा रचित रामायण के बगैर सनातन की कल्पना भी नहीं की जा सकती और भगवान रविदास, कबीर दास जैसे संत मतों के बिना भारत की कल्पना नहीं की जा सकती है।

धनखड़ ने कहा कि भारतीय परंपरा के लिए ये गर्व का विषय है कि महानतम संत परंपरा हमारी अनुसूचित जातियों से संबंध रखती है। जिनके अनुयायी सिर्फ भारत में ही नहीं, बल्कि विश्व भर में हैं। शुक्रवार को गुरुग्राम के ताऊ देवीलाल स्टेडियम में संत सिरोमणी रविदास जयंती समारोह बड़ी भव्यता के साथ मनाया गया, जिसमें हजारों लोगों ने उपस्थित होकर संतों को याद किया।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि संत हमारे जीवन को बनाते हैं, हमारा मार्गदर्शन करते हैं। संतों के कारण ही भारत की दुनिया में अलग पहचान है। संत महात्माओं ने हजारों साल पुराने ज्ञान को पीढ़ी दर पीढ़ी पहुंचाकर समाज पर बहुत बड़ा उपकार किया है।

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि भारत में केवल दो धाराएं दिखाई देती हैं, एक सनातन और दूसरी संत मत की धारा है। इन दोनों धाराओं से भारत, भारत बनता है। सनातन धारा के अगर कोई मालिक हैं,तो महर्षि वाल्मीकि हैं। उन्होंने कहा कि रामायण के बिना सनातन नहीं हो सकता और संत रविदास और कबीर के बिना संत मत नहीं हो सकता।

भारत में ज्ञान की यह विरासत संतों और महापुरूषों की देन है। उन्होंने कहा कि महर्षि वाल्मीकि जिन्होंने रामायण की रचना की और महर्षि वेद व्यास जिन्होंने महाभारत की रचना की, वे पिछड़े वर्ग से आते हैं, इसलिए हमें इन पर गर्व होना चाहिए। भारत में संस्कृति का आधार कहीं से खड़ा होता है तो वह अनुसूचित जाति वर्ग से होता है।

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि दुनिया ने अपने ज्ञान पर दो हजार साल पहले ही ताला लगा दिया था। किसी ने 1500 साल पहले यह कह दिया यह आखिरी किताब है, इसके बाद कोई किताब नहीं होगी, लेकिन भारत में संत परम्परा है जहां ज्ञान की कोई आखिरी किताब नहीं होती। भारत ने डंके की चोट पर अपने ज्ञान को आगे बढ़ाया और दुनिया को भी अपने ज्ञान से प्रकाशित किया।

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि संत रविदास के छोटे से वाक्य “मन चंगा तो कठौती में गंगा“ ने पूरे विश्व को सुखी होने की राह दिखाई है। मन चंगा है तो दिल भी चंगा है, मन चंगा नहीं तो कुछ भी चंगा नहीं। जिसने मन साध लिया उसने सब कुछ सीख लिया। उन्होंने कहा कि संत रविदास की वाणी पर चलकर सभी का जीवन सुखी हो सकता है।

 

Om Parkash Dhankar (2)

 

धनखड़ ने कहा कि संत ज्ञान को शुद्ध करते हैं, जीवन जीने की राह दिखाते है न और हमारे जीवन से बहुत सी नकारात्मक चीजों को दूर करते हैं, इसलिए संतों का मार्गदर्शन हमें आनंद प्राप्त कराता है। श्री धनखड़ ने कहा कि संत रविदास ने कहा था-ऐसा चाहूं राज मैं, मिले सबन को अन्न को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपना मूलमंत्र बनाया, आज सभी गरीबों को अन्न मिल रहा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आयुष्मान और मुख्यमंत्री मनोहर लाल चिरायु कार्ड देकर गरीब लोगों का जीवन सुरक्षित किया है। श्री धनखड़ ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी गरीबों, पिछड़ों, अनुसूचित जाति और वंचितों की पार्टी है, हमें ऐसी पार्टी पर गर्व करना चाहिए।

ओम प्रकाश धनखड़ ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने गरीबों के उत्थान के लिए बहुत काम किए हैं। हर घर शौचालय बनाकर माताओं, बहनों का सम्मान किया है। कांग्रेस शासन के दौरान गैस के लिए लंबी लंबी लाइन लगती थी और गैस नहीं मिलने पर महिलाएं परेशान होती थी, लेकिन भाजपा की सरकार ने उज्जवला योजना के तहत गरीबों को गैस कनेक्शन देकर उनको धूआं से मुक्ति दिलाई है। महिलाओं को पहले दूर-दूर से पानी लाना पड़ता था इस परेशानी को भाजपा सरकार ने समझा और अब नल से जल हर घर पहुंच रहा है।

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि पीएम मोदीजी ने देश के प्रत्येक व्यक्ति का ध्यान रखा है। कोरोना काल के दौरान सभी नागरिकों को फ्री में वैक्सीन लगाकर उनके जीवन को सुरक्षित किया है। पीएम मोदी के नेतृत्व में आज भारत सुरक्षित और ताकतवर है। उन्होंने कहा कि बजट में मोदी सरकार ने हर वर्ग का ख्याल रखा है इसलिए ऐसी सरकार सराहना के योग्य है।

केंद्र व राज्य में भाजपा की सरकारें संत रविदास, महर्षि वाल्मीकि के विचारों चलकर सेवा भाव से लोगों के काम कर रही है। इस मौके पर इस मौके पर पलवल से विधायक दीपक मंगला, जयंती समारोह के व्यवस्था प्रमुख की जिम्मेदारी संभाल रहे भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष जीएल शर्मा और जिला अध्यक्ष गार्गी कक्कड़ आदि उपस्थित रहे।

 

Om Parkash Dhankar (3)

 

अनुसूचित मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष लाभ सिंह आर्य ने समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि देश को आजाद हुए 73 साल हो गए, इस दौरान लगभग 57 साल कांग्रेस की सरकार रही। किसी भी सरकार ने संतों की जयंतियां मनाने का काम नहीं किया, लेकिन मनोहर सरकार ने अपने आठ साल में संत, महापुरूषों को सम्मान देकर इतिहास रचा है।

हरियाणा में संत रविदास जयंती पर बड़ा आयोजन वो ही कर सकता है जो संत रविदास को चाहता है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ने कहा था मेरी सरकार गरीबों के लिए समर्पित होगी और उन्होंने करके दिखाया है। पीएम मोदी ने संत रविदास की भावनाओं का आदर किया है। सैकड़ों वर्ष पहले मीरा ने संत रविदास की शिष्या बनकर सामाजिक समरसता का उदाहरण दिया था।

पीएम मोदी की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री खुद नीचे बैठते हैं और संतों को उपर बैठाते हैं, सही मायने में वो संतो ंके विचारों पर चलकर देश की संस्कृति को आगे बढ़ाने का काम कर रहे हैं। मोदी के नेतृत्व में गरीबों का उत्थान हो रहा है और राष्ट्र दुनिया के सामने ताकतवर बनकर उभर रहा है। पीएम मोदी ने संत रविदास का भव्य मंदिर बनाने के लिए करोड़ों रुपये देकर समाज के संतों का सम्मान किया है।

संत रविदास जयंती के संयोजक व मंत्री डा. बनवारी लाल ने कहा कि संत रविदास ने अपनी वाणी से समाज के अंदर समरसता का भाव पैदा किया। उन्होंने अपने ज्ञान के प्रकाश से लोगों के जीवन में बदलाव लाने का किया। संत रविदास की बताई गई वाणियों और विचारों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री मनोहर लाल चलकर समाज के अंतिम व्यक्ति का भला कर रहे हैं।

संतों की जयंति सरकारी स्तर पर मनाने के फैसले सीएम मनोहर लाल के फैसले का उन्होंने धन्यवाद किया। डा. बनवारी लाल ने महापुरूषों को जो सम्मान भाजपा सरकार ने दिया है उतना किसी सरकार ने नहीं दिया। कांग्रेस के साशन में काफी अत्याचार दलितों पर होते थे लेकिन आज भाजपा की सरकार में दलित सुरक्षित है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी और मुख्यमंत्री के हाथों पर दलितों का अधिकार सुरक्षित है।

केंद्रीय संसदीय समिति की सदस्य एवं पूर्व सांसद डा. सुधा यादव ने संत रविदास के बारे में बोलते हुए कहा कि संत किसी जाति, सम्प्रदाय के नहीं होते बल्कि वे पूरे राष्ट्र के संत होते हैं और उन संतो के द्वारा जो रास्ता दिखाया जाता है उस पर चलकर हमारा जीवन सार्थक हो जाता है। आज का दिन संकल्प करने का दिन है। उन्होंने कहा कि हम अपने आप में से बुराई का त्याग करें और अच्छाई को अपनाएं तभी जयंति मनाने की सार्थकता होगी।

परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा ने संत रविदास जयंती समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि भक्तिकाल के संत और कवि रविदास को आध्यात्मिक समाज सुधारक माना जाता है। संत रविदास ने जन्म के आधार पर भेदभाव का विरोध किया था। उन्होंने धार्मिक एकता की बात की थी। मूलचंद शर्मा ने कहा कि हरियाणा में महापुरूषों की जयंतियों को सरकारी स्तर पर मनाकर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने उनको सम्मान देने का काम किया है। श्री शर्मा ने कहा कि संत रविदास के बताए मार्ग पर चलकर भाजपा सरकार अंत्योदय की भावना से जनसेवा के कार्य कर रही है।

संत रविदास जयंती समारोह सह संयोजक व विधायक सत्य प्रकाश जरावता ने कहा कि 2014 से पहले दलित समाज के लोग चंदा मांगकर संतों की जयंतियां मनाते थे, चीफ गेस्ट के लिए नेताओं के चक्कर काटते थे। जरावता ने कहा कि लेकिन अब मनोहर सरकार ने संतों की जयंतियों को सरकारी स्तर पर मनाकर सभी समाज को जोड़ने का काम किया है।

आजादी के बाद पहली बार गुरू रविदास की बड़े स्तर पर 36 बिरादरी के लोग जयंती मना रहे हैं। संत रविदास 800 वर्ष पूर्व जब मुगलों का राज था उनसे टक्कर लेते हुए सनातन धर्म को बचाया। संत रविदास ने उस समय भक्ति आंदोलन चलाकर समाज की भलाई के लिए काम किया। सनातन धर्म के अंदर जाति पाति का भेदभाव था तब संत रविदास ने कड़ा प्रहार किया था और उन्होंने कहा था कि सभी एक ही ईश्वर की संतान है।

Translated by Google

Viral Sach: Speaking as the chief guest at Saint Ravidas Jayanti celebrations in Gurugram, Haryana BJP state president Omprakash Dhankhar has said that the thoughts of saints are the thoughts of India.

Sanatan and Saint-Mat only make India India. Omprakash Dhankhar also praised the steps taken by the BJP governments in honor of the saints. Prior to Mr. Dhankhar, National President of Scheduled Front, Labh Singh Arya, Central Parliamentary Board member Dr. Sudha Yadav, Minister Dr. Banwari Lal, Transport Minister Moolchand Sharma, MLA Satya Prakash Jaravata also addressed the function.

In his address, Omprakash Dhankhar said that Sanatani Bharat and Sanatan culture are the basic ideology of world welfare and humanity. This greatest ideology of India has been created from the eternal and saint tradition only. Sanatan cannot be imagined without Ramayana composed by Lord Valmiki and India cannot be imagined without saints like Lord Ravidas, Kabir Das.

Dhankhar said that it is a matter of pride for the Indian tradition that the greatest saintly tradition belongs to our scheduled castes. Whose followers are not only in India but all over the world. Sant Siromani Ravidas Jayanti celebrations were celebrated with great grandeur at Tau Devi Lal Stadium in Gurugram on Friday, in which thousands of people attended and remembered the saint.

BJP state president said that saints make our life, guide us. India has a different identity in the world because of the saints. Saints have done a great favor to the society by passing thousands of years old knowledge from generation to generation.

The state president said that only two streams are visible in India, one is Sanatan and the other is the stream of Sant Mat. From these two currents India becomes India. If there is any master of Sanatan Dhara, then it is Maharishi Valmiki. He said that there cannot be Sanatan without Ramayana and there cannot be Sant Mat without Sant Ravidas and Kabir.

This heritage of knowledge in India is the gift of saints and great men. He said that Maharishi Valmiki who composed Ramayana and Maharishi Ved Vyas who composed Mahabharata came from backward class, so we should be proud of them. If the basis of culture in India stands from anywhere, then it is from the scheduled caste class.

The state president said that the world had locked its knowledge two thousand years ago. Someone said 1500 years ago that this is the last book, after that there will be no book, but in India there is a tradition of saints where there is no last book of knowledge. India carried forward its knowledge on the injury of Danke and also illuminated the world with its knowledge.

The State President said that the short sentence of Saint Ravidas “Man Changa to Kathoti Mein Ganga” has shown the way for the whole world to be happy. If the mind is healthy then the heart is also healthy, if the mind is not healthy then nothing is healthy. The one who concentrated his mind learned everything. He said that everyone’s life can be happy by following the words of Saint Ravidas.

Dhankhar said that Saints purify knowledge, show us the way to live life and remove many negative things from our lives, so the guidance of Saints gives us joy. Mr. Dhankhar said that Saint Ravidas had said – I wish that everyone should get food, Prime Minister Narendra Modi made it his main mantra, today all the poor are getting food.

Prime Minister Narendra Modi has secured the lives of poor people by giving Ayushman and Chief Minister Manohar Lal Chirayu cards. Mr. Dhankhar said that Bharatiya Janata Party is a party of the poor, backward, scheduled castes and the underprivileged, we should be proud of such a party.

Om Prakash Dhankhar said that Prime Minister Narendra Modi and Chief Minister Manohar Lal have done a lot of work for the upliftment of the poor. Mothers and sisters have been respected by making toilets in every house. During the Congress regime, there used to be long queues for gas and women used to get upset due to non-availability of gas, but under the Ujjwala scheme, the BJP government has given gas connections to the poor and freed them from fumes. Earlier women had to bring water from far and wide, the BJP government understood this problem and now tap water is reaching every house.

The State President said that PM Modiji has taken care of every person of the country. During the Corona period, the lives of all the citizens have been secured by applying the vaccine for free. Today India is safe and strong under the leadership of PM Modi. He said that the Modi government has taken care of every section in the budget, so such a government deserves praise.

The BJP governments at the Center and in the state are doing people’s work with a sense of service by following the thoughts of Sant Ravidas and Maharishi Valmiki. On this occasion, MLA from Palwal Deepak Mangla, BJP’s state vice-president GL Sharma and district president Gargi Kakkar, who is in charge of arranging the jubilee celebrations, were present.

National President of Scheduled Front, Labh Singh Arya, while addressing the function, said that it has been 73 years since the country got independence, during which the Congress government was in power for almost 57 years. No government has done the work of celebrating the birth anniversaries of saints, but the Manohar government has created history by honoring saints and great men in its eight years.

A big event on Sant Ravidas Jayanti in Haryana can only be organized by those who love Sant Ravidas. He said that PM Modi had said that my government would be dedicated to the poor and he has done it. PM Modi has respected the sentiments of Saint Ravidas. Hundreds of years ago Meera had set an example of social harmony by becoming a disciple of Saint Ravidas.

Praising PM Modi, he said that the Prime Minister himself sits down and makes saints sit above, in true sense he is working to advance the country’s culture by following the thoughts of saints. Under the leadership of Modi, the poor are uplifted and the nation is emerging as a force in front of the world. PM Modi has honored the saints of the society by giving crores of rupees to build a grand temple of Saint Ravidas.

Convener and Minister of Sant Ravidas Jayanti Dr. Banwari Lal said that Sant Ravidas created a sense of harmony in the society through his speech. He tried to bring change in the lives of people with the light of his knowledge. Prime Minister Narendra Modi and Chief Minister Manohar Lal are doing good to the last person of the society by following the words and thoughts told by Sant Ravidas.

He thanked CM Manohar Lal for the decision to celebrate the anniversaries of saints at the government level. Dr. Banwari Lal has not been given as much respect by the BJP government to the great men. Dalits were subjected to a lot of atrocities in the Congress rule, but today Dalits are safe in the BJP government. He said that the rights of Dalits are safe in the hands of PM Modi and the Chief Minister.

Member of the Central Parliamentary Committee and former MP Dr. Sudha Yadav while speaking about Saint Ravidas said that Saints do not belong to any caste or community, rather they are the saints of the entire nation and the path shown by those saints depends on them. By walking our life becomes meaningful. Today is the day to make resolutions. He said that we should give up the evil in ourselves and adopt the good, only then there will be meaning in celebrating the birth anniversary.

Addressing the Sant Ravidas Jayanti celebrations, Transport Minister Moolchand Sharma said that Ravidas, a saint and poet of Bhakti period, is considered a spiritual social reformer. Saint Ravidas opposed discrimination on the basis of birth. He talked about religious unity. Moolchand Sharma said that by celebrating the birth anniversaries of great personalities in Haryana at the government level, Chief Minister Manohar Lal has done the work of honoring them. Shri Sharma said that by following the path shown by Saint Ravidas, the BJP government is doing public service with the spirit of Antyodaya.

Sant Ravidas Jayanti celebrations co-convenor and MLA Satya Prakash Jaravata said that before 2014, the people of Dalit community used to celebrate the birth anniversaries of saints by asking for donations, used to go round leaders for the chief guest. Jaravata said that but now the Manohar government has done the work of uniting all the societies by celebrating the anniversaries of the saints at the government level.

For the first time after independence, people of 36 fraternities are celebrating the birth anniversary of Guru Ravidas on a large scale. Saint Ravidas saved Sanatan Dharma 800 years ago when it was under the rule of Mughals by fighting with them. Saint Ravidas worked for the betterment of the society by running the Bhakti movement at that time. There was caste discrimination within Sanatan Dharma, then Saint Ravidas had strongly attacked and he had said that all are the children of the same God.

 

Follow us on Facebook 

Read More News 

Shares:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *