Politics

Om Prakash Kathuria बनें डेरेवाल बिरादरी के सरपरस्त

Om Prakash Kathuria

 

Viral Sach – गुरुग्राम, Om Prakash Kathuria – भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता यशपाल बतरा ने बताया कि डेरेवाल बिरादरी की एक मीटिंग हुई। मीटिंग में श्री बतरा ने बिरादरी के सरपरस्त के रूप में ओम प्रकाश कथूरिया के नाम का प्रस्ताव रखा, जिसे सभी ने सहर्ष स्वीकार कर लिया।

श्री बतरा ने बताया कि बिरादरी की जो टीम पहले से ही समाज के हित में काम करती आ रही है वह अच्छा काम कर रही है। इससे पूर्व बिरादरी के सरपरस्त रहे पूर्व विधायक स्व. धर्मबीर गाबा, मदनलाल ग्रोवर, तेजपाल चुटानी, देवी दयाल नागपाल, बीडी पाहुजा का आभार व्यक्त किया गया।

बैठक में सतीश आहूजा, सुभाष गांधी, सुभाष डुडेजा, जय दयाल कुमार, रवि मनोचा, पीएन मोँगिया, सोहन लाल गोगिया, विशन दास चुटानी, सी बी मनचंदा, जगन्नाथ आहूजा, आर डी खुराना, जगदीश चुटानी, रमेश कामरा, चांद आहूजा धर्मेंद्र बजाज आदि काफी संख्या में लोग उपस्थित रहे।

डेरेवाल बिरादरी की बैठक में रमेश चुटानी को प्रधान, सतीश आहूजा को वरिष्ठ उपप्रधान तथा सुभाष गांधी, धर्मेन्द्र बजाज, अनिल कुमार को उपप्रधान का दायित्व दिया गया। राम लाल ग्रोवर को महासचिव व जय दयाल कुमार को सचिव और संगठन सचिव के रूप में साहिल कुमार व कोषाध्यक्ष सुभाष नागपाल को नियुक्त किया गया।

 

Om Prakash Kathuria

 

बिरादरी के पूर्व में रहे सरपस्तों के बारे में बोलते हुए श्री बतरा ने कहा कि इनके नेतृत्व में डेरेवाल बिरादरी ने काफी तरक्की की है। हमारे बड़े बुजुर्गों के योगदान को भूलाया नहीं जा सकता। वर्तमान में गुरूग्राम मे 98 प्रतिशत पंजाबी बिरादरी डेरेवाल समाज की है। उन्होंने बताया कि हमारे बुजुर्गों के त्याग ने हमें कर्मठ बनाया और आज हम जो तरक्की कर रहे हैं उसमें हमारे सरपरस्तों का बहुत बड़ा योगदान है।

बंटवारे के दौरान पाकिस्तान के डेरेवाल जिला से सभी पंजाबी हिंदुस्तान आ गए थे। बंटवारे की वह विभिषिका दिल दहलाने वाली थी। हमारे बुजुर्गों ने छोटे-छोटे काम किए और अगली पीढ़ी को कर्तव्य के ऐसे पथ पर आगे बढ़ाया जिससे हम संपन्न होते चले गए। हमारे बुजुर्ग सरपरस्त जो विरासत हमें देकर गए हैं उन्हें संभालना ही नहीं बल्कि आगे बढ़ाना हमारी अहम जिम्मेदारी है।

श्री बतरा ने मीटिंग में आए बिरादरी के प्रबुद्ध लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि मुझे गर्व है कि मैं डेरेवाल बिरादरी का बेटा हूं और बुर्जुगों के दिशा निर्देशों तथा आप सभी के आशीर्वाद से इस मुकाम पर हूं।

अपना घर, प्रॉपर्टी छोड़कर भारत आए जब हमारे पूर्वजों के पास हौंसला के अलावा कुछ नहीं था। उन्होंने कहा कि हमारे पूर्वजों के त्याग और बलिदान ने हमें हर क्षेत्र में आगे बढ़ाने का हौंसला पैदा किया है। आज हम संपन्न ही नहीं, बल्कि हर क्षेत्र में आगे बढ़ रहे हैं।

श्री बतरा ने कहा कि डेरवाल समाज ने मुझे भी मुख्य सलाहकार का दायित्व दिया हुआ है। इस नाते समाज की उन्नति के लिए मैं लगातार प्रयासरत हूं। उन्होंने यह भी बताया कि अपने समाज के लोगों में आकर और उनसे मिलकर एक सुखद अनुभूति का भी अहसास होता है।

Translated by Google

Viral Sach – Gurugram, Om Prakash Kathuria – Bharatiya Janata Party’s state spokesperson Yashpal Batra told that a meeting of the Derewal fraternity took place. In the meeting, Mr. Batra proposed the name of Om Prakash Kathuria as the patron of the fraternity, which was accepted by all.

Mr. Batra told that the team of the fraternity which has already been working in the interest of the society is doing a good job. Prior to this, the former MLA, who was the patron of the fraternity, late. Thanks were expressed to Dharambir Gaba, Madanlal Grover, Tejpal Chutani, Devi Dayal Nagpal, BD Pahuja.

Satish Ahuja, Subhash Gandhi, Subhash Dudeja, Jai Dayal Kumar, Ravi Manocha, PN Mongia, Sohan Lal Gogia, Vishan Das Chutani, CB Manchanda, Jagannath Ahuja, RD Khurana, Jagdish Chutani, Ramesh Kamra, Chand Ahuja Dharmendra Bajaj A large number of people were present.

In the meeting of Derewal fraternity, Ramesh Chutani was given the responsibility of head, Satish Ahuja as senior vice-president and Subhash Gandhi, Dharmendra Bajaj, Anil Kumar as vice-president. Ram Lal Grover was appointed as General Secretary and Jai Dayal Kumar as Secretary and Sahil Kumar as Organization Secretary and Subhash Nagpal as Treasurer.

Speaking about the erstwhile sarpastas of the fraternity, Mr. Batra said that the Derewal fraternity has progressed a lot under their leadership. The contribution of our elders cannot be forgotten. At present, 98 percent of the Punjabi community in Gurugram belongs to the Derewal community. He told that the sacrifice of our elders made us hardworking and our patrons have contributed a lot in the progress we are making today.

During partition, all Punjabis from Derewal district of Pakistan had migrated to India. The horrors of partition were heart wrenching. Our elders did small things and took the next generation forward on such a path of duty from which we prospered. It is our important responsibility not only to take care of the legacy that our elderly patrons have given us, but also to take it forward.

Addressing the enlightened people of the fraternity who attended the meeting, Mr. Batra said that I am proud that I am the son of the Derewal fraternity and with the guidance of the elders and the blessings of all of you, I have reached this stage.

Leaving our homes and properties, we came to India when our forefathers had nothing but courage. He said that the sacrifice and sacrifice of our forefathers has inspired us to move forward in every field. Today we are not only prosperous, but are moving forward in every field.

Mr. Batra said that the Derwal society has also given me the responsibility of the chief advisor. Therefore, I am constantly striving for the progress of the society. He also told that coming to the people of his society and meeting them also gives a feeling of a pleasant feeling.

Follow us on Facebook 

Follow us on Youtube

Read More News

 

Shares:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *