संपूर्ण भारतवर्ष में निरंकारी सत्संग भवनों में निःशुल्क नेत्र जांच शिविरों का आयोजन

संपूर्ण भारतवर्ष में निरंकारी सत्संग भवनों में निःशुल्क नेत्र जांच शिविरों का आयोजन

Viral Sach :- गुरुग्राम, सतगुरु माता सुदीक्षा जी महाराज के पावन आशीर्वाद से निरंकारी बाबा हरदेव सिंह जी महाराज के जन्म दिवस 23 फरवरी बुधवार को गुरुग्राम के बसई रोड और सैक्टर 31 तथा अन्य निरंकारी भवनों के आसपास के क्षेत्रों, आवागमन के मार्गों आदि में सफाई की।

इस सफाई अभियान का नेतृत्व गुरुग्राम ब्रांच के संयोजक एम सी नागपाल ने किया। इसमें संत निरंकारी सेवादल, मिशन के स्वयंसेवक तथा अन्य सक्रिय भक्त, भाई-बहन ने भाग लिया ।

उल्लेखनीय है कि सन्त निरंकारी मिशन द्वारा बाबा हरदेव सिंह जी की स्मृति में संपूर्ण भारतवर्ष में 100 के करीब निरंकारी सत्संग भवनों में निःशुल्क नेत्र जांच शिविरों का आयोजन किया। जैसा कि विदित ही है कि निरंकारी बाबा हरदेव सिंह जी के सानिध्य में सन्त निरंकारी मिशन ने आध्यात्मिकता द्वारा विश्व को प्रेम, दया, करुणा, एकत्त्व जैसे भावों से जोड़कर, दीवार रहित संसार की परिकल्पना को साकार किया। उन्होंने भक्तों को आध्यात्मिकता के साथ साथ मानवता एवं प्रकृति की सेवा करते हुए अपने कर्त्तव्यों को निभाने की प्रेरणा दी। वर्तमान में इसी श्रंखला को सत्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज निरंतर आगे बढ़ा रहे हैं। इसी मंतव्य की पूर्ति हेतु आज 23 फरवरी को यह नेत्र जांच शिविर लगाये जा रहे हैं।

इसके अतिरिक्त कोरोना काल में जब समस्त भारतवर्ष के अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी हो गई थी तब मिशन की ओर से ‘वननेस वन परियोजना’ के अंर्तगत 21 अगस्त, 2021 को संपूर्ण भारतवर्ष में लगभग 350 स्थानों पर डेढ़ लाख के करीब वृक्ष रोपित किये गये और साथ ही उनकी देखभाल करने हेतु तीन वर्षो तक गोद लेकर उनके पालन पोषण का भी संकल्प लिया गया। इसी महाअभियान को आगे बढ़ाते हुए मिशन के सेवादारों द्वारा आज के दिन 50,000 वृक्ष ओर लगाये एवं उनकी निरंतर देखभाल भी की जायेगी ताकि प्रदूषण का स्तर कम किया जा सके एवं प्राणवायु अर्थात् ऑक्सीजन का निर्माण अधिक से अधिक हो सके क्योंकि मनुष्य का जीवन जिस प्राण वायु पर आधारित है वह हमें इन वृक्षों के माध्यम द्वारा ही प्राप्त होती है।

संत निरंकारी मिशन द्वारा प्रति वर्ष स्वच्छता एवं वृक्षारोपण अभियान का आयोजन किया है जिसमें मानव कल्याण की भलाई के लिए बाबा हरदेव सिंह जी का यहीं दृष्टिकोण था कि ‘प्रदूषण अंदर हो या बाहर, दोनों ही हानिकारक है।’ किन्तु इस वर्ष कोरोना की विषम परिस्थिति के कारण मिशन की ओर से जहां जहां पर संत निरंकारी सत्संग भवन हैं केवल उन्हीं स्थानों पर एवं उनके आसपास के क्षेत्रों में स्वच्छता अभियान चलाया। इन सभी अभियानों का आयोजन कोविड-19 के दिशा-निर्देशों की पालना करते हुए ही किया।

उल्लेखनीय है कि संत निरंकारी मिशन सदैव ही मानव कल्याण के लिए अग्रणी रहा है जिनमे मुख्यतः स्वास्थ्य, शिक्षा एवं सशक्तिकरण के लिए सेवाएं की गई हैं और यह सभी सेवाएं निरंतर जारी हैं।

Leave your comment
Comment
Name
Email