पुलिस आयुक्त ने पुलिस अधिकारियों के साथ कि क्राइम मीटिंग

गुरुग्राम,(प्रवीन कुमार) के.के.राव पुलिस आयुक्त, गुरुग्राम की अध्यक्षता में गुरुग्राम जिले के सभी पुलिस जोनों के DCPs, ACPs, SHOs, पुलिस चौकी व अपराध शाखा के प्रभारियों के साथ क्राईम मिटिंग का आयोजन किया गया।

इस मिटिंग के दौरान पुलिस आयुक्त द्वारा पिछली क्राईम मीटिंग में दिए गए आदेश/दिशा-निर्देशों की पालना करने की प्रगति रिपोर्ट के बारे में बातचीत करते हुए अपराधों/अपराधियों के नियन्त्रण, लम्बित अभियोगों/शिकायतों का निपटारा करने, उद्घोषित/भगौङे अपराधियों के खिलाफ नियमानुसार त्वरित कार्यवाही करने इत्यादि विषयों पर विस्तारपूर्वक चर्चा करते हुए उचित आदेश व दिशा-निर्देश दिए गए।

पिछली मिटिंग में दिए गए दिशा-निर्देशों की पालना त्वरित रुप से न करने व ड्यूटी के प्रति लापरवाह पुलिसकर्मियों के खिलाफ विभागीय कार्यवाही के आदेश देते हुए भविष्य में और अधिक कङी कार्यवाही करने के लिए आदेश दिए।

मीटिंग के दौरान अपने कर्तव्य में लापरवाही बरतने वाले SHO सस्पेंड व लाइन हाजिर किए गए तथा 5 SHOs को परिनिन्दा का दंड दिया गया।

▪️श्री के.के. राव भा.पु.से. पुलिस आयुक्त, गुरुग्राम की अध्यक्षता में आज दिनाँक 19.01.2021 को गुरुग्राम जिले के सभी पुलिस जोन (पूर्व, पश्चिम, दक्षिण, मानेसर व क्राइम) के सभी DCPs, ACPs, SHOs, पुलिस चौकी व क्राईम यूनिटों के प्रभारियों के साथ ओल्ड पुलिस आयुक्त कार्यालय, गुरुग्राम के कॉन्फ्रेंस हॉल में अपराधों का मूल्यांकन करके उनके निवारण/रोकथाम, अपराधियों की पहचान व उनकी गिरफ्तारी, लम्बित अभियोग व शिकायतों का निपटारा तथा माननीय अदालत से घोषित उद्घोषित अपरधियों के खिलाफ नियमानुसार कार्यवाही करने तथा शहर में कानून व्यवस्था, यातायात व्यवस्था सुगम एवंम शान्ति बनाए रखने के लिए मीटिंग का आयोजन किया गया।

इस मौके पर पुलिस आयुक्त ने कहा कि पीङित/शिकायतकर्ता को तुरन्त प्रभाव से पुलिस सहायता मिलनी चाहिए और पीङित की शिकायत का समाधान अविलम्भ थाना स्तर पर ही करना सुनिश्चित करें, ताकि आमजन/पीङित को कठिनाईयों का सामना ना करना पङे। यदि थाना स्तर की शिकायत उच्च अधिकारी के पास आती है तो सम्बन्धित थाना प्रभारी के खिलाफ सख्त विभागीय कार्यवाही की जाएगी।

इस मीटिंग के दौरान पुलिस आयुक्त द्वारा बतौर थाना प्रबन्धक प्रभावी ड्यूटी ना करने व लापरवाही करने पर थाना प्रबन्धक बिलासपुर को निलम्बित, थाना प्रभारी डी.एल.एफ. फेस-1 को लाईन हाजिर करने व 05 थाना प्रबन्धकों को परिनिन्दा (Censure) से दण्डित करने के आदेश दिए और पुलिस आयुक्त महोदय ने यह भी सुनिश्चित किया कि भविष्य में यदि कोई भी पुलिसकर्मी/अधिकारी ड्यूटी के प्रति लापरवाह मिलता है तो उसको तत्परता से निलम्बित करके उसके खिलाफ सख्त विभागीय कार्यवाही की जाएगी।

Read Previous

जीएल शर्मा की माताजी के निधन पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने जताया शोक

Read Next

मन्गौरी सेवा समिति द्वारा गर्म कपड़े वितरित किए गए

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Most Popular