Gurugram

Selfie with Daughter Foundation हरियाणा में करेगी महिलाओं पर सर्वे

Selfie with Daughter Foundation

 

Viral Sach – गुरुग्राम/नूंह। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आहवान पर जी-20 में शुरू हुए हैप्पीनेस इंडेक्स से प्रेरित होकर Selfie with Daughter Foundation ने हरियाणा में महिलाओं के हैप्पीनेस इंडेक्स पर सर्वे करने का ऐलान किया है। यह सर्वे प्रदेश के 3 जिलों हिसार,गुरुग्राम,नूंह में से शुरू होगा।

सेल्फी विद डॉटर फाउंडेशन के संस्थापक सुनील जागलान ने बताया कि आधी आबादी की मुस्कान पर आज तक कोई काम नहीं हुआ है। इस अभियान का नाम है विमेन हैप्पीनैस चार्ट।

यह बात सर्वमान्य है कि महिलाएं पुरुषों की तुलना में सामाजिक हित के काम करने और अच्छे परिणाम लेने के लिए अधिक एकजुटता रखती हैं।

दूसरों की जरूरतों के बारे में अधिक जागरूक होती हैं। यह बात यूएन के हैप्पीनेस इंडेक्स के शीर्ष देशों के अध्ययन से भी स्पष्ट होती है। दुनिया के शीर्ष दस सबसे खुशहाल देशों में से आठ में संसदीय पदों पर 40 फीसदी से अधिक महिलाएं हैं।

न्यूजीलैंड में तो महिलाओं की हिस्सेदारी 50 प्रतिशत से अधिक है। हेप्पीनेस इंडेक्स में इजराइल भी टॉप-10 में पिछली पायदान पर है, वहां भी महिलाओं का प्रतिनिधित्व 30 प्रतिशत के लगभग है। रिपोर्ट यह भी कहती है कि जिन देशों में महिलाएं कामकाजी ज्यादा हैं वहां खुशहाली भी ज्यादा है। भारत का 136 वां स्थान है और संसद में महिलाओं की भागीदारी 15 प्रतिशत से भी कम है।

जागलान ने बताया कि इस सर्वे के दौरान घरों में हेप्पीनेस चार्ट लगाया जाएगा। जिसके माध्यम से एक माह तक सर्वे करके यह पता लगाया जाएगा कि घर में महिलाओं की खुशी कितनी देर रहती है। इस विषय पर महिलाओं के लिए आजतक कोई अलग सर्वे नहीं हुआ हैं।

फाउंडेशन द्वारा सैंपलिंग के तौर पर काम किया जाएगा। यह पता लगाया जाएगा कि महिलाएं किस दिन अधिक खुश रहती हैं, किस दिन नार्मल रहती हैं और किस दिन मायूस या दुखी रहती हैं।

 

Selfie with Daughter Foundation

 

जागलान ने बताया कि दूसरे वर्जन में यह पता लगाया जाएगा कि महिलाओं की खुशी किन-किन कारणों से प्रभावित होती है। ऐसे ही एक दिन का सर्वे करके इन सभी कारणों व अवसरों के बारे में पता लगाया जाएगा। एक माह के इस सर्वे में महिलाओं के हेप्पीनेस का पैमाना सैट किया जाएगा। इस सर्वे की रिपोर्ट महिला एवं बाल विकास मंत्रालय को दी जाएगी। हरियाणा के बाद महिलाओं पर आधारित इस सर्वे को पूरे देश में किया जाएगा।

गौरतलब है कि सुनील जागलान ने बेटी बचाओ से लेकर सेल्फ़ी विद डॉटर, बेटियों के नाम नेमप्लेट, पिरियड चार्ट, लाडो पंचायत, लाडो गो ऑनलाइन, लडकीयों की शादी की उम्र 21 करने के लिए सैकड़ों अभियान शुरू किए हैं जो देश विदेशों में प्रशंसा पाने के अलावा देश भर में लोगों द्वारा बहुत पंसद किए जा रहे हैं ।

गौरतलब हालांकि दो बार राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता सुनील जागलान हरियाणा राज्य के जींद ज़िले के बीबीपुर गॉंव के वही सरपंच हैं, जिन्होंने वर्ष 2012 में बेटी बचाओ अभियान शुरू हुआ एवं उनके द्वारा शुरू किए गए सेल्फ़ी विद् डॉटर अभियान की प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 6 बार मन की बात व अमेरिका व इंग्लैंड के कार्यक्रमों में सराहना की ।

सुनील जागलान पर बनीं डॉक्यूमेंट्री फ़िल्म सनराइज़ को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा राष्ट्रीय पुरस्कार भी मिल चुका है तथा संयुक्त राष्ट्र द्वारा इस फ़िल्म को विश्व के 73 देशों में दिखाया जा रहा है ।

Translated by Google

Viral Sach – Gurugram / Nuh. Selfie with Daughter Foundation, inspired by the Happiness Index started in G-20 on the call of Prime Minister Narendra Modi, has announced a survey on the Happiness Index of women in Haryana. This survey will start from 3 districts of the state, Hisar, Gurugram, Nuh.

Founder of Selfie with Daughter Foundation, Sunil Jaglan said that till date no work has been done on the smile of half the population. The name of this campaign is Women Happiness Chart.

It is well accepted that women are more cohesive than men to work for social good and get good results.

Are more aware of the needs of others. This is also clear from the study of the top countries of the UN’s Happiness Index. Eight out of the top ten happiest countries in the world have more than 40 per cent women in parliamentary positions.

In New Zealand, the share of women is more than 50 percent. Israel is also at the last position in the top-10 in the Happiness Index, there also the representation of women is around 30 percent. The report also says that in countries where women are more active, there is also more happiness. India ranks 136 and has less than 15 percent female participation in parliament.

Jaglan told that during this survey, happiness charts will be installed in the houses. Through which a month-long survey will be conducted to find out how long the happiness of women remains in the house. No separate survey has been done for women on this subject till date.

Sampling will be done by the foundation. It will be ascertained that on which days women are more happy, on which days they are normal and on which days they are sad or unhappy.

Jaglan told that in the second version it will be found out that what factors affect the happiness of women. All these reasons and opportunities will be ascertained by conducting a survey of one such day. In this survey of one month, the measure of happiness of women will be set. The report of this survey will be given to the Ministry of Women and Child Development. After Haryana, this survey based on women will be done in the whole country.

It is worth mentioning that Sunil Jaglan has started hundreds of campaigns ranging from Beti Bachao to Selfie with Daughter, daughters name nameplate, period chart, Lado Panchayat, Lado Go Online, age of marriage of girls to 21 which are getting praise in the country and abroad. Apart from this, it is being well liked by the people across the country.

Significantly, however, two times National Award winner Sunil Jaglan is the same sarpanch of Bibipur village in Jind district of Haryana state, who started the Beti Bachao Abhiyan in the year 2012 and the Selfie with Daughter campaign started by him, Prime Minister Narendra Modi 6 times. Appreciated in talks and programs in America and England.

The documentary film Sunrise made on Sunil Jaglan has also received the National Award by President Ramnath Kovind and the film is being shown in 73 countries of the world by the United Nations.

Follow us on Facebook 

Follow us on Youtube

Read More News

Shares:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *