सिविल अस्पताल का जल्द करें निर्माण शुरू

Viral Sach : केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह ने जिला उपायुक्त व अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि गुरुग्राम स्थित हाई राइज बिल्डिंग की सुरक्षा को सुनिश्चित किया जाए और उनकी गुणवत्ता की जांच के लिए कड़े कदम उठाए जाएं। उन्होंने सेक्टर 109 चिंटल पैराड़ीसो सोसाइटी हादसे के बारे में भी जिला उपायुक्त से विस्तृत जानकारी ली और कहा कि हादसे से पीड़ित परिवारों को न्याय दिलवाना सुनिश्चित करें। केंद्रीय मंत्री मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जिला विकास एवं निगरानी समिति की बैठक को संबोधित कर रहे थे।
सेक्टर 109 स्थित सोसाइटी में हुए हादसे को गंभीर घटना करार देते हुए केंद्रीय मंत्री ने अधिकारियों से कहा कि गुरुग्राम में सैकड़ों हाई राइज बिल्डिंग बनी हुई है। इनमें रहने वाले हजारों लोग आज सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं। राव ने अधिकारियों से कहा कि एक कमेटी बनाकर जिन आरडब्ल्यूए ने शिकायतें दी है उनकी शिकायतों को गंभीरता से लेकर जांच की जाए। जिला उपायुक्त ने केंद्रीय मंत्री को बताया कि कमेटी अपनी जांच कर रही है और जिस टावर में यह घटना घटी उनमें से अधिकतर परिवारों को दूसरे फ्लैट्स में शिफ्ट करने की प्रक्रिया जारी है और बिल्डिंग की सुरक्षा को लेकर आईआईटी दिल्ली की टीम जांच करेगी।

केंद्रीय मंत्री ने गुड़गांव के सिविल अस्पताल के निर्माण में हो रही देरी को लेकर अपनी नाराजगी जाहिर की और अधिकारियों से कहा कि निर्माण शुरू करने की एक समय सीमा निश्चित करें। उन्होंने कहा कि जीएमडीए की बैठक में और वे स्वयं अस्पताल निर्माण को लेकर दौरा कर चुके हैं लेकिन अधिकारी समय सीमा को आगे बढ़ाते जा रहे हैं। राव ने कहा कि अस्पताल के निर्माण में देरी किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं है और अगले माह वे स्वयं अस्पताल के निर्माण की स्थिति का जायजा लेने आएंगे। बैठक में उपस्थित पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों ने बताया कि एनजीटी के नियमों व कोविड के चलते पुराने अस्पताल से सुविधाओं को दूसरी जगह शिफ्ट नहीं कर पाए हैं , इसलिए निर्माण में देरी हो रही है। राव ने वजीराबाद खेल स्टेडियम निर्माण में देरी पर कहा कि मुख्यमंत्री की 4 वर्ष पुरानी इस घोषणा पर आज ईट नहीं लग पाई है यह अधिकारियों की कार्यशैली पर प्रश्नचिन्ह खड़ा करता है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री इसका शिलान्यास भी कर चुके हैं लेकिन टेंडर प्रक्रिया पूरी ना होने के कारण निर्माण में देरी हो रही है। उन्होंने निगमायुक्त से कहा कि निर्माण शुरू करने की समय सीमा सुनिश्चित कर उन्हें सूचना दी जाए। निगमायुक्त ने केंद्रीय मंत्री को बताया कि टेंडर की प्रक्रिया उच्च अधिकारियों के पास लंबित है ।

केंद्रीय मंत्री ने गुरुग्राम में बढ़ रहे हैं वायु प्रदूषण को लेकर बैठक में चिंता जाहिर की और अधिकारियों को निर्देश दिए कि कुछ व्हीकल फ्री जोन विकसित किए जाएं। उन्होंने निगम आयुक्त से कहा कि ऐसे व्हीकल फ्री जॉन विकसित कर वायु प्रदूषण रोकने के लिए अन्य उपायों के बारे में भी विचार करें। केंद्रीय मंत्री ने हाउसिंग फॉर ऑल पर प्रधानमंत्री की सोच को आगे बढ़ाने के निर्देश देते हुए अधिकारियों से कहा कि जिस अनुपात में इस योजना की रफ्तार बढ़नी चाहिए थी वह नहीं बढ़ पाई है। उन्होंने निगम आयुक्त व उपायुक्त से कहा कि वे इस बारे में विस्तृत रिपोर्ट उन्हें प्रस्तुत करें।
शहर की सफाई व्यवस्था के विषय पर केंद्रीय मंत्री ने पिछले दिनों मुख्यमंत्री के छापे व गुरुग्राम में मशीनों के द्वारा हो रही सफाई व्यवस्था के बारे में जानकारी ली। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि उन्हें आरडब्लूए संगठनों व पार्षदों की लगातार शिकायतें मिल रही है कि सड़कों की सफाई करने वाली मशीनों का भुगतान लाखों रुपए में किया जा रहा है लेकिन सफाई व्यवस्था दुरुस्त नहीं है। बैठक में मौजूद मेयर मधु आजाद ने भी इस विषय पर केंद्रीय मंत्री को बताया कि सभी पार्षदों ने भी निगमायुक्त को इस बारे में शिकायत की है और निगम को लाखों रुपए किराया देना पड़ रहा है इसकी जांच की जाए।

द्वारका एक्सप्रेसवे सहित अन्य योजनाओं पर ली जानकारी
बैठक में राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के उपस्थित अधिकारियों से द्वारका एक्सप्रेसवे व दिल्ली- जयपुर नेशनल हाईवे के बारे में रिपोर्ट तलब की गई। द्वारका एक्सप्रेसवे के बारे में जानकारी देते हुए प्रोजेक्ट डायरेक्टर ने बताया कि जल्दी द्वारका एक्सप्रेसवे का निर्माण पूरा किया जाएगा इस योजना पर करीब 65 फ़ीसदी कार्य पूरा हो चुका है। दिल्ली जयपुर नेशनल हाईवे की खस्ताहाल सर्विस लेन व मुख्य मार्ग के गड्ढों के बारे में जयपुर के प्रोजेक्ट डायरेक्टर से रिपोर्ट तलब करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि 8 मार्च को केंद्रीय मंत्री योजनाओं का शिलान्यास करने आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि वे इस मार्ग पर रह रही कमियों को जल्दी लिख कर उन्हें सूचित करें ताकि वे श्री गडकरी के सामने उनका हल क्या सकें। बैठक में मौजूद राष्ट्रीय राजमार्ग के अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली जयपुर राष्ट्रीय राजमार्ग के रिकारपेटिंग का टेंडर हो चुका है और जल्दी इस पर कार्य शुरू किया जाएगा।

गुरुग्राम में कृषि योग्य भूमि कितनी अधिकारी दे रिपोर्ट
केंद्रीय मंत्री ने गुरुग्राम के मास्टर प्लान पर चर्चा करते हुए अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि उन्हें यह रिपोर्ट उपलब्ध कराएं कि गुरुग्राम में कृषि योग्य कितनी भूमि आज के दिन शेष है। उन्होंने कहा कि गुड़गांव के अनेक मास्टर प्लान आ चुके हैं और निर्माण कार्य भी तेजी से चल रहे हैं ऐसे में आने वाले दिनों में पानी , वायु प्रदूषण को लेकर लोगों की चिंताएं बढ़ रही है । राव ने अधिकारियों से कहा कि वे मास्टर प्लान में तय किए गए सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट , ओपन स्पेस व नेचुरल ट्रेन के रास्तों का भी ख्याल रखे। गुरुग्राम को मानसून के दिनों में जलभराव की समस्या को दूर करने के लिए अभी से जुटना होगा। उन्होंने कृत्रिम झिलों व मौजूदा प्राकृतिक झीलों में मानसून के जल को एकत्र करने की योजना तैयार करने व बारिश के पानी को नजफगढ़ ट्रेन के माध्यम से बाहर न जाने देने की योजना तैयार करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। बंधवाडी कूड़ा निस्तारण प्लांट पर लिचेट की स्थिति के बारे में चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि बरसात के दिनों में कोढ़ेश्वरी सारा पानी प्लांट से बाहर आ जाता है और लोगों को बीमारियों से जूझना पड़ रहा है। उन्होंने एक बाइक से कहा कि वह प्लांट पर कार्य कर रही है जेंसी से सुनिश्चित करें कि तय मापदंडों को पूरा किया जाएगा।
इस अवसर पर निगमायुक्त मुकेश आहूजा, जिला उपायुक्त निशांत यादव, मेयर मधु आजाद, एडीसी विश्राम मीणा, जिला परिषद सीईओ, पर्यावरणविद व सामाजिक संस्थाओं से जुड़े समिति के सदस्य दर्शन कुमार , शुभ्रा पुरी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Read Previous

पुरानी पद्धति योग को दिनचर्या का हिस्सा बनाएं: सुधीर सिंगला

Read Next

पंजाबी बिरादरी संगठन ने किया विद्युत विभाग के जनता दरबार का आयोजन

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Most Popular