आप की 2024 में सरकार आने पर 2025 में सुलझा देंगे एसवाईएल का मुद्दा

आप की 2024 में सरकार आने पर 2025 में सुलझा देंगे एसवाईएल का मुद्दा

Viral Sach : आम आदमी पार्टी (आप) के गठन के साथ ही गुरुग्राम में सक्रिय अभय जैन अधिवक्ता की ओर से आयोजित समारोह में आप के राष्ट्रीय नेताओं ने हरियाणा फतह की हुंकार भरी। आप नेताओं ने कहा कि पंजाब में आप की सरकार बनने के साथ हरियाणा में मनाई गई खुशी बताती है कि यहां लोगों में आप के प्रति आस्था जगी है। समारोह में अभय जैन अधिवक्ता के बुलावे पर पहुंचे नेताओं ने उनके सम्मान में कशीदे भी पढ़े। साथ ही भव्य समारोह की सराहना भी की।

आप नेता अभय जैन अधिवक्ता की ओर से यहां एमजी रोड स्थित कोरस बैंकट हॉल में समर्थक समागम समारोह आयोजित किया गया। अपने संबोधन में डा. सुशील गुप्ता ने हरियाणा के प्रमुख शहरों गुरुग्राम व फरीदाबाद के नाम से शुरुआत करते हुए कहा कि सरकारों ने इन दोनों शहरों को बर्बाद कर दिया है। यहां ना तो यातायात व्यस्थित है। बरसात में ये शहर समुंद्र बन जाते हैं। ऐसे में सवाल उठते हैं कि करोड़ों रुपये विकास के नाम पर जो लगाने का दावा किया जा रहा है, वह कहां लगाए गए हैं। सांसद डा. गुप्ता ने कहा कि गुरुग्राम में तो सरकारी अस्पताल तक नहीं हैं, लेकिन सरकार के संरक्षण में अनेक प्राइवेट अस्पताल फल-फूल रहे हैं। देश में सबसे अधिक बेरोजगारी वाला राज्य हरियाणा है। यहां नौकरियों के लिए रिश्वत सीएम कार्यालय तक पहुंचती है। उन्होंने पंजाब में आप की सरकार से एसवाईएल व राजधानी के मुद्दे पर विपक्ष की भूमिका पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि बीजेपी, कांग्रेस की पूर्व में केंद्र, पंजाब और हरियाणा में सरकार रही है। तब इन्हें एसवाईएल का मुद्दा याद नहीं आया। हमारा 75 फीसदी पानी पाकिस्तान जा रहा है, भारत सरकार उसे रोक नहीं पा रही। उनकी नीयत सही नहीं है। ये जाति-धर्म में उलझाकर अपनी राजनीति करते हैं। राज्य सभा सांसद डा. सुशील गुप्ता ने ऐलान किया कि साल 2024 में आप की सरकार बनने पर एक साल के भीतर एसवाईएल का मुद्दा भी सुलझाएंगे और राजधानी चंडीगढ़ पर भी फैसला कर देंगे। गुरुग्राम, फरीदाबाद समेत हरियाणा के सभी जिलों का विकास पूरी योजना के साथ किया जाएगा। गुरुग्राम को हकीकत में ही मिलेनियम सिटी बनाएंगे। आप की जन्म भ्रष्टाचारी व्यवस्था से लडऩे को हुआ है।

आप ने शुरू की है अलग तरह की राजनीति: पंकज गुप्ता
आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव एवं गुरुग्राम व फरीदाबाद के प्रभारी पंकज गुप्ता ने कहा कि आप एक आंदोलन से बनी पार्टी है। कीचड़ साफ करने को कीचड़ में उतरना जरूरी था। इसलिए अरविंद केजरीवाल ने इस पर निर्णय लिया। जब चुनाव आए तो गरीब लोगों ने धन बल, बाहु बल को हराकर दिखा दिया कि आम आदमी की ताकत क्या होती है। यह अलग तरह की राजनीति है। अण्णा आंदोलन से ही जनता में उम्मीदें जगी थी कि कुछ बदलाव जरूर होगा। सबकी जो उम्मीदें थी वो पूरी हुई। श्री गुप्ता ने कहा कि 8 साल में सबको समझ आ गया है कि सरकार की नीयत साफ हो तो कुछ भी काम करना मुश्किल नहीं है। यह आम आदमी की ही ताकत है कि बड़ी पार्टियां छोटी पार्टी से डरकर भाग रही हैं।

पूरा देश बदलाव की सोच रहा है: अभय जैन
कार्यक्रम में बोलते हुए अभय जैन अधिवक्ता ने कहा कि आप के तीन स्तंभ हैं-देशप्रेम, ईमानदारी और इंसानियत। इन्हीं को अपना ध्येय मानते हुए पार्टी काम कर रही है। पार्टी की कार्यप्रणाली से ही आज पूरा देश बदलाव की सोच रहा है। पार्टी में शामिल होने वालों की लाइनें लगी हैं। उन्होंने कहा कि जो सरकारें 70 साल में साफ पीने का पानी तक नहीं दे पाई, उनसे और क्या उम्मीद की जा सकती है। गुरुग्राम में भ्रष्टाचार चरम पर है। यहां आम आदमी के खून-पसीने की कमाई को लूटा जा रहा है। जो पैसा विकास में लगना चाहिए, उससे खुद की जेबें भरी जा रही हैं। ऐसे में बदलाव होना निश्चित है। आम आदमी को अच्छी शिक्षा, चिकित्सा, बिजली, पानी, रोजगार की जरूरत होती है। वह ही नहीं मिलता तो फिर क्या फायदा ऐसी सरकारों का। पार्टी के साउथ जोन के लीगल सेल के अध्यक्ष एडवोकेट अशोक वर्मा, जैन समाज से श्रेयांस जैन ने मंच संचालन किया। इस अवसर पर रुस्तम चौहान, भूपेंद्र पहलवान, जेएस कादयान, धीरेंद्र डागर, महाबीर वर्मा, धीरज यादव, मनजीत जेलदार, मंजू साकला, माईकल सैनी, प्रमोद कटारिया व गौरव सेमत पार्टी के कई नेता मौजूद रहे।

समारोह में बड़ी संख्या में जैन समाज, वैश्य समाज, आरडब्ल्यूए पदाधिकारी, सामाजिक संस्थाओं, धार्मिक संस्थाओं के प्रतिनिधि, एक्टिविस्ट, अधिवक्ता, डॉक्टर, व्यापारी एवं दुकानदारों ने बड़ी संख्या में पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। सदस्यता लेने वाले अधिकतर व्यक्ति पूर्व में भाजपा से जुड़े थे, लेकिन आप की नीतियों में उन्होंने आस्था जताई है। सुशील गुप्ता को इफको चौक से गौरव टांक व देवा पहलवान के नेतृत्व में बड़ी संख्या में बाइक से अगुवाई करके कार्यक्रम स्थल तक लेकर आए।

Leave your comment
Comment
Name
Email