दीवाली पर गाय के गोबर से बने 10 करोड़ दीये जलाएंगे: सुनीता दुग्गल

दीवाली पर गाय के गोबर से बने 10 करोड़ दीये जलाएंगे: सुनीता दुग्गल

गुुरुग्राम, (प्रवीन कुमार) : सिरसा सुरक्षित सीट से लोकसभा सांसद सुनीता दुग्गल ने कहा कि पर्यावरण को बचाने की दिशा में देश के हर नागरिक को अब जागरुक हो जाना चाहिए। प्रकृति से छेडख़ानी का दंश हम सब झेल चुके हैं। हम प्रकृति में सुधार करके हम आने वाली पीढिय़ों के लिए कुछ अच्छा करें, इस पर पहल करनी होगी। साथ ही उन्होंने कहा कि इस बार दीवाली पर गाय के गोबर से बने 10 करोड़ दीये जलाए जाएंगे। स्वदेशी मंच इसकी तैयारियों में लगा है। यह बात उन्होंने मंगलवार को यहां जीआईए हाउस में आयोजित स्वच्छ भारत व मोदी जी विषय पर सेमीनार में कही।

यह सेमीनार पर्यावरण संरक्षण विभाग भाजपा हरियाणा की ओर से आयोजित किया गया। सेमीनार में सांसद सुनीता दुग्गल मुख्य अतिथि के अलावा आरएसएस के महानगर संचालक जगदीश ग्रोवर, हरियाणा सीएसआर ट्रस्ट के उपाध्यक्ष बोधराज सीकरी, शिक्षाविद् डा. अशोक दिवाकर विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित हुए। सांसद सुनीता दुग्गल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिवस के उपलक्ष्य में देशभर में पर्यावरण संरक्षण से लेकर अनेक जनहित के कार्यों को गति दी गई। उन्होंने कहा कि पर्यावरण बहुत ही गंभीर विषय है और यह सीधे हमारी सेहत से जुड़ा है। पर्यावरण की शुद्धता हमारे सुखी जीवन का माध्यम है। उन्होंने कहा कि हम जितने स्वार्थी होते जा रहे हैं, उतने ही विनाश की ओर जा रहे हैं। यह कटु सत्य है कि जीवन से लेकर मरण तक हमें लकडिय़ों की जरूरत होती है। इसके बाद भी हम पेड़ों की संख्या बढ़ाने में अधिक दिलचस्पी नहीं लेते। उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति एक साल में कम से कम पांच पेड़ लगाए।

Annu Advt

पर्यावरण संरक्षण विभाग भाजपा हरियाणा प्रमुख नवीन गोयल के पर्यावरण के प्रति प्रयासों की सराहना करते हुए सांसद सुनीता दुग्गल ने कहा कि लोगों में जागृति बहुत आई है। इस जागृति को मिशन बनाना काम करें और देश को हरा-भरा बनाएं। हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद पर्यावरण प्रेमी हैं। हम सब तो अपने आज के लिए सोचते हैं, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 50-100 साल आगे की सोचकर आज काम कर रहे हैं। गुजरात के कच्छ में दुनिया का सबसे बड़ा सोलर प्लांट इस सोच का उदाहरण है। उन्होंने लोगों से कहा कि अब तक हमने क्या किया क्या नहीं किया, इसे सोचकर आगे करने के लिए खुद को तैयार करें। जीवन के यादगार पलों पर पेड़ लगाएं। धरती से हम बहुत कुछ लेते हैं, कुछ देना भी चाहिए। उन्होंने गाय को लेकर भी लोगों से अपील की कि गाय घास खाती है और दूध देती है। दूध के अलावा उनका गोबर और मूत्र हमारे काम आता है। जब तक गाय कष्ट में रहेग, हमें कष्ट झेलने पड़ेंगे। उन्होंने दूध, सब्जियों आदि में मिलावट का जिक्र करते हुए कहा कि ऐसे लोगों के खिलाफ शिकायतें करें। क्योंकि वे हमें जहर पिला, खिला रहे हैं।

सेमीनार में आरएसएस के महानगर संघचालक जगदीश ग्रोवर ने कहा कि पर्यावरण बचाने को देश के हर नागरिक की भूमिका होनी चाहिए। हम किसी भी काम से किसी दूसरे शहर, गांव में जाते हैं तो वहां पर भी यादगार के रूप में पेड़ लगाएं। यह जरूरी है। उन्होंने देश के हर नागरिक को इस पुण्य के कार्य में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करने का आह्वान किया।

Jindal Jewel advt

हरियाणा सीएसआर ट्रस्ट के उपाध्यक्ष बोधराज सीकरी ने कहा कि त्रेता युग में भी पर्यावरण संरक्षण मुद्दा रहा है। आज कलयुग में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी युग पुरुष के रूप में हमारे बीच हैं। उनके दिए गए संदेशों को हमें आगे बढ़ाना है। श्री सीकरी ने कहा कि नवीन गोयल के पर्यावरण सुधार में प्रयास सराहनीय हैं। उन्होंने पूरे हरियाणा में पेड़ लगाने की मुहिम को बल दिया।
शिक्षाविद् डा. अशोक दिवाकर ने कहा कि पर्यावरण स्वच्छता हमारी जीवन शैली है। अब जरूरत है शहर में एक टास्क फोर्स बनाकर गंदगी के स्थलों पर नजर रखने की। शहर को पूरी तरह से गंदगी मुक्त बनाने के लिए यह जरूरी है। अगर इंदोर शहर स्वच्छ हो सकता है तो गुरुग्राम क्यों नहीं।

पर्यावरण संरक्षण विभाग भाजपा हरियाणा प्रमुख नवीन गोयल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश शक्तिशाली बना है। उन्होंने कहा कि अबर हम अभी पर्यावरण को नहीं बचाते हैं तो अपनी पीढिय़ों के गुनहगार होंगे। इस सेमीनार में अरुण यादव, संदीप देसवाल, अत्तर सिंह संधू, हरविंद्र कोहली, सतीश तायल, सुनील, एमआर लारोइया, प्रवीण अग्रवाल, मनोज गुप्ता, गगन गोयल, आशा गोयल, टीसी जैन, टिंकू, योगिता सैनी, मनीष सौदा, बनवारी लाल, यशराल, डा. डीपी गोयल, सुरेंद्र खुल्लर, सुरेश तंवर, दिनेश राघव, धीरज कौशिक, बाली पंडित, रेखा सैनी, बिंट्टू यादव, सुनील यादव, ललित क्रांतिकारी, पारस बख्शी, ईशु वाल्मीकि समेत शहर की अनेक आरडब्ल्यू के पदाधिकारी, समाजसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधि व अन्य समाजसेवी मौजूद रहे।

Leave your comment
Comment
Name
Email