कामकाजी महिला आवास में मनाया गया महिला दिवस

Viral Sach :- गुरुग्राम, यहां कामकाजी महिला आवास में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर एक समारोह आयोजित किया गया। इस समारोह में विभिन्न क्षेत्रों में काम करने वाली महिलाओं को सम्मानित किया गया। यह समारोह जिला उपायुक्त निशांत कुमार के मार्गदर्शन में हुआ। सचिव विकास कुमार व सह-सचिव सुभाष शर्मा ने कार्यक्रम के लिए शुभकामनाएं दी।

रेडक्रॉस सोसायटी एवं एक उड़ान संस्था के संयुक्त तत्वावधान में यह समारोह आयोजित किया गया। इसमें गुरुग्राम के डिप्टी मेयर सुनीता यादव, समाजसेविका ललिता तायल अतिथि के रूप में पहुंची। उन्होंने स्वास्थ्य, वकालत, मीडिया, व्यक्तिगत समाजसेवा, रेडक्रॉस आदि से जुड़ीं महिलाओं को सम्मानित किया। स्वास्थ्य विभाग से नर्सिंग ऑफिसर जपिन्द्र कौर, नर्सिंग ऑफिसर पूनम सहराय के अलावा डॉ. ज्यिता, शिखा गर्ग को सम्मानित किया गया। टीम गुरूजल से अंजलि, एक उड़ान की महिला टीम से कृष्णा यादव, संगीता गुप्ता, शम्मी अहलावत, कुसुमलता, नीतू भट्ट, रेडक्रॉस से आकांक्षा, श्यामा राजपूत, सुनैना, रजनी कटारिया, सरोज, सुषमा, वनीता पीटर, संजू, मीनाक्षी, पुष्पा, कमला, मीडिया से साक्षी रावत, प्रियंका, वकील अर्चना चौहान, सामाजिक कार्यकर्ता रेखा अग्रवाल, ललिता बंसल, वीना वांचू, शिल्पा जैन, समीरा सतीजा, शालू जोहर, अन्नू यादव, गगनदीप, मीनू भारद्वाज, हरियाणा स्टेट काउंसिल फॉर चाइल्ड वेलफेयर की महिला टीम से मीनाक्षा यादव, गीता बत्रा, टीम नवकल्प, एडीसी आफिस टीम व टीम कैनविन, रमा टैटं हाऊस आदि को अतिथियों द्वारा सम्मानित किया गया।

इसके बाद डिप्टी मेयर सुनीता यादव ने महिलाओं को अपने जीवन में कोई भी सफलता मिलने पर घर, परिवार को पीछे नहीं छोडऩा चाहिए। यह नहीं भूलना चाहिए कि हमारी सफलताओं में, हमें आगे बढ़ाने में पुरुषों का भी साथ होता है। यह बात अपने दिमाग से भी निकाल देनी चाहिए। नर-नारी एक दूसरे के पूरक हैं। दोनों के साथ से ही जीवन की गाड़ी गतिमान होती है। आदमी के बिना हम कुछ नहीं। सुनीता यादव ने कहा कि वह ऊंचा पद किसी काम का नहीं, जहां अपना घर-बार छोड़कर औरत उधर जाए। औरत का मान और सम्मान इसी में है कि वह ऊंचे पद पर जाकर भी अपने परिवार को संभाले रखे।
अतिथि ललिता तायल ने भी यहां महिलाओं को प्रेरणा भरी बातें कही। साथ ही कैनविन फाउंडेशन का भी उन्होंने जिक्र किया। उन्होंने कहा कि चिकित्सा के क्षेत्र में कैनविन फाउंडेशन को उनके भाई चला रहे हैं। मां द्वारा अपनी बीमारी से उन्हें यह प्रेरणा दी गई। जिस पर चलते हुए आज गुरुग्राम के हजारों लोगों को लाभ पहुंचाया जा रहा है।

हर मां अपनी बेटी को औरत होने का महत्व समझाएः कविता
कामकाजी महिला आवास की वार्डन कविता सरकार ने कहा कि महिलाएं आत्मनिर्भर बनें साथ ही अपनी बेटियों को भी सही रास्ते चुनने को प्रेरित करें। एक महिला, एक बेटी दो घरों को संवारती है। हर मां को चाहिए कि वह अपनी बेटी को ऐसे संस्कार दे, जो कि उसे औरत होने का महत्व समझाए। उन्होंने वहां उपस्थित सभी अतिथियों को कहा कि आवास को बने हुए 38 वर्षों में ये पहला सामाजिक कार्यक्रम हुआ जिसे सफल बनाने में सबका आभार व्यक्त किया।

हर महिला पर दो घरों की इज्जत का भारः कल्याणी
एक उड़ान संस्था की संस्थापक कल्याणी सचान ने कहा कि परिवार को परिवार बनाकर रखने में हम सब महिलाओं का अधिक हाथ होता है। हमें जीवन में अपनी अच्छाइयों को फैलाना चाहिए। ऐसी पर्सनलिटी बनाएं कि लोग आपका अनुसरण करें। आपसे कुछ सीखें। आज किसी भी क्षेत्र में महिलाएं कम नहीं हैं। जमीन से आसमान तक हम महिलाएं मजबूत हैं। यह मजबूती हमारी नहीं बल्कि हमारे पूरे परिवार की है।
इस अवसर पर आवास से कुसुम, मीनाक्षी, आरती, ऊषा, रितु फोगाट, कीर्ति, सरिता, सुभद्रा, ऊमा आदि शामिल हुए।

Read Previous

एनआईआरसी गुडग़ांव शाखा ने महिलाओं के सम्मान में किया सेमीनार

Read Next

निगमायुक्त से मिला पंजाबी बिरादरी महा संगठन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular