योग भारत की प्राचीन परम्परा की अमूल्य देन: अमित गोयल

योग भारत की प्राचीन परम्परा की अमूल्य देन: अमित गोयल

Viral Sach :- अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर मंगलवार को सेक्टर-29 स्थित किंगडम ऑफ ड्रीम्स में आर्ट ऑफ लीविंग की ओर से योग कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम में बादशाहपुर के विधायक राकेश दौलताबाद की मां रोशन देवी और सीएम विंडो के एमिनेंट सदस्य अमित गोयल मुख्य अतिथि के रूप में पहुंचे।

कार्यक्रम में अमित गोयल ने योग को बढ़ावा देने का आह्वान करते हुए कहा कि योग भारत की प्राचीन परंपरा की अमूल्य देन है। यह मन और शरीर की एकता का प्रतीक है। यह व्यायाम के बारे में नहीं है, बल्कि अपने आप को, दुनिया और प्रकृति के साथ एकता की भावना रखने का माध्यम है। हम सब अपनी जीवन शैली को बदलकर और चेतना पैदा करके खुद को स्वस्थ रख सकते हैं। योग एक शारीरिक, मानसिक और आध्यात्मिक अभ्यास है, जिसकी उत्पत्ति भारत में हुई थी। हमारे ऋषि-मुनियों ने योग की पद्धति को अपनाकर स्वस्थ रहने की एक निशुल्क माध्यम अपनाया था। आज के समय में हम सब दवाइयों के साथ जी रहे हैं। हमें दवाओं से बचने के लिए योग को अपनाना चाहिए। यह सब रोगों की एक दवाई कही जा सकती है। अगर स्वस्थ व्यक्ति योग करता है तो वह बीमारियों से दूर रह सकता है। बशर्ते इसे दिनचर्या में शामिल किया जाए। इस अवसर पर आर्ट ऑफ लिविंग से कॉर्डिनेटर पियूष, रोहित, अजय यादव मौजूद रहे।

Leave your comment
Comment
Name
Email